• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Dabra
  • भीड़ जुटाने के लिए झूठ बोलकर बुलाया संबल योजना के हितग्राहियों को, प्रमाण पत्र बांटे नहीं, मची अफरा तफरी
--Advertisement--

भीड़ जुटाने के लिए झूठ बोलकर बुलाया संबल योजना के हितग्राहियों को, प्रमाण पत्र बांटे नहीं, मची अफरा-तफरी

Dabra News - फूलबाग पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित हितग्राही। स्टॉल भी लगाए थे, फिर भी नहीं बांटे लोगों को प्रमाण पत्र ...

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2018, 04:10 AM IST
भीड़ जुटाने के लिए झूठ बोलकर बुलाया संबल योजना के हितग्राहियों को, प्रमाण पत्र बांटे नहीं, मची अफरा-तफरी
फूलबाग पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित हितग्राही।

स्टॉल भी लगाए थे, फिर भी नहीं बांटे लोगों को प्रमाण पत्र

मैदान पर डबरा, भितरवार, घाटीगांव, मुरार क्षेत्र के दूर-दराज के हितग्राहियों को प्रमाण पत्र वितरित करने अलग-अलग स्टॉल भी लगाए गए थे। वे सिर्फ दिखावे के थे। असल में अफसरों का मकसद भीड़ जुटाकर उन्हें नेताओं के भाषण सुनवाने थे। दो बड़ी स्क्रीन लगाकर सीएम का जावरा से लाइव प्रसारण भी दिखवाया गया। केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, मंत्री माया सिंह, महापौर विवेक शेजवलकर, विधायक भारत सिंह कुशवाह के भाषण सुनवाए। जैसे ही भाषण समाप्त हुए तो मंच पर गिने-चुने 25 लोगों को बुलाकर प्रमाण पत्र वितरित किए गए। इसके बाद मैदान पर मौजूद हितग्राहियों की भीड़ ने जब खुद के प्रमाण पत्रों की मांग की तो कंपनी के अफसरों ने बोल दिया कि उसके लिए वे अपने-अपने जोन कार्यालयों पर संपर्क करें। इससे लोगों काफी नाराज हुए और काफी देर तक मंच पर नेताओं व अफसरों को घेरकर खड़े हो गए।

क्यों जरूरी हैं जीरो बिलिंग के प्रमाण पत्र

जिन लोगों ने संबल योजना में बिजली बिल माफी के लिए आवेदन दे दिए हैं, उनकी बकाया राशि माफ हो चुकी है, उसका सबूत है जीरो बिलिंग प्रमाण पत्र ।

केन्द्रीय मंत्री बोले- 9 हजार से अधिक लोगों के 23 करोड़ किए माफ

केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा, जिले में संबल योजना के तहत 9 हजार 315 हितग्राहियों के 23 करोड़ के बकाया बिजली बिल माफ कर दिए हैं। सिर्फ चीनोर-भितरवार में ही 60 करोड़ के विकास कार्य करा रहे हैं। पिछले 4 साल में 28 नए विद्युत उपकेन्द्र प्रदेश में स्थापित कराए हैं, जिनमें से 5 ग्वालियर में हैं। इस महीने के अंत तक सभी मजरे-टोले तक सौभाग्य योजना से जोड़ दिए जाएंगे। संबल योजना को प्रदेश सरकार की बेहतरीन पहल बताते हुए केंद्रीय मंत्री ने लोगों से सरकार को सहयोग व आशीर्वाद देने की अपील भी की। ग्वालियर में बारिश नहीं होने को लेकर लोगों से कहा कि वे भगवान शंकर का अभिषेक करें, जिससे वे प्रसन्न होंगे तो बारिश करा देंगे। केंद्रीय मंत्री ने कार्यक्रम स्थल पर चीनौर में 23.44 करोड़ से बनाए गए 132/33 केवी के विद्युत उपकेंद्र का लोकार्पण व भितरवार में 37.22 करोड़ से 132/33 केवी उपकेंद्र का शिलान्यास किया।


सीएम कर रहे हैं, बकाया माफ करने का दावा

8 हजार रुपए की बकायादार महिला उपभोक्ता के खिलाफ निकाल दिया जमानती वारंट

ग्वालियर | सीएम दावा कर रहे हैं कि संबल योजना के पात्र हितग्राहियों के बकाया बिजली बिल माफ करने के साथ ही उन पर दर्ज बिजली चोरी के मुकदमे भी वापस ले लेंगे। लेकिन ग्राउंड पर दावों की हकीकत कुछ और ही है। कांचमिल निवासी साधना यादव प|ी जितेन्द्र यादव के खिलाफ कंपनी ने वर्ष 2015 में विद्युत अधिनियम की धारा 135 के तहत प्रकरण दर्ज कराया था। साधना व उनके पति ने असंगठित श्रमिक के तौर पर पंजीयन कराया है। वे बकाया राशि माफ करने के लिए आवेदन करने ही वाले थे कि बुधवार को उनके घर पर पुलिस कोर्ट का जमानती वारंट तामील कराने पहुंच गई।

उन्होंने बताया कि वे हमेशा बिजली बिल जमा करते हैं। 2015 में मकान बनवाते वक्त वे समय रहते मीटर कनेक्शन नहीं ले पाए थे। छत की ढलाई कराते वक्त कुछ देर के लिए उन्होंने बिजली लाइन से सप्लाई ले ली थी। इसी दौरान कंपनी के अफसरों ने छापा मारा और उनके खिलाफ धारा 135 का प्रकरण पंजीबद्ध करवा दिया। उन पर बकाया भी मात्र 8 हजार रुपए का है। जब वे तानसेन नगर जोन पर जानकारी लेने पहुंचे तो वहां मौजूद स्टाफ ने भी उन्हें कोर्ट जाकर जमानत लेने की सलाह दे दी। कंपनी के अफसरों का कहना है कि गलती से वारंट पहुंच गया होगा। प्रकरण वापस ले लेंगे।

हम कोर्ट जाकर बिजली चोरी के प्रकरण वापस लेंगे


X
भीड़ जुटाने के लिए झूठ बोलकर बुलाया संबल योजना के हितग्राहियों को, प्रमाण पत्र बांटे नहीं, मची अफरा-तफरी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..