--Advertisement--

सड़क किनारे खून से लथपथ मिला पंप अटेंडर का शव, जेब में था गांजा

क्राइम |ग्वालियर पॉटरीज के सामने की घटना, मौत का कारण अज्ञात क्राइम रिपोर्टर | ग्वालियर कंपू थाना क्षेत्र के...

Dainik Bhaskar

May 06, 2018, 05:45 AM IST
सड़क किनारे खून से लथपथ मिला पंप अटेंडर का शव, जेब में था गांजा
क्राइम |ग्वालियर पॉटरीज के सामने की घटना, मौत का कारण अज्ञात

क्राइम रिपोर्टर | ग्वालियर

कंपू थाना क्षेत्र के अंतर्गत सड़क किनारे नगर निगम के पंप अटेंडर का शव खून से लथपथ मिला। उसके सिर, नाक और मुंह से खून बह रहा था। उसकी जेब में गांजा और स्मैक की पुड़िया मिली है। मौत के कारण का पता नहीं लग सका है। पुलिस आशंका जता रही है कि उसकी मौत पास में बनी पॉटरीज की सीढ़ियों से गिरकर हुई है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

शनिवार रात करीब 8 बजे आम खो बस स्टैंड की ओर जाने वाली रोड पर ग्वालियर पॉटरीज के सामने खून से लथपथ एक युवक का शव पड़ा हुआ था। शव को देखकर वहां भीड़ लग गई। इसके बाद पुलिस को सूचना मिली। कंपू थाना पुलिस और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। उसके कपड़ों की तलाशी ली। उसमें स्मैक और गांजा की पुड़िया, माचिस मिली। उसकी शिनाख्त उमेश तिवारी पुत्र कृष्णकांत तिवारी निवासी गुढ़ा-गुढ़ी का नाका पाठक कॉलोनी के रूप में हुई। पुलिस ने उसके परिजनों से संपर्क किया तो रात में उसके फूफा थाने पहुंचे, परिवार से कोई नहीं आया था। पूछताछ में पता चला कि वह नगर निगम में पंप अटेंडर था। उसकी ड्यूटी ऊंट पुल क्षेत्र में थी। यह भी पता लगा कि वह नशा करने का आदी था। आसपास के लोगों ने बताया कि जिस जगह उसका शव मिला है, वहां पॉटरीज की सीढ़ियां है। वहां रात में नशेड़ी नशा करते हैं। इससे पुलिस को आशंका है कि हो सकता है फिसलकर गिरने से उसकी मौत हुई हो। फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाकर मर्ग कायम कर लिया है।

मालवा में शराब पीकर चल रहे थे कोच अटेंडेंट, पकड़े

जम्मू से इंदौर की ओर जा रही मालवा एक्सप्रेस में शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात शराब के नशे में दो एसी कोच अटेंडेंट को आरपीएफ ने शिकायत पर पकड़ लिया। आगरा से ग्वालियर आ रही ट्रेन के यात्रियों ने टीटीई से शिकायत की थी, जिस पर कंट्रोल को सूचना दी गई थी। ट्रेन के ग्वालियर पहुंचने पर एसआई अमित मीणा ने कोच अटेंडेंट लाल सिंह व धीरज को ट्रेन से उतारकर मेडिकल कराने के बाद प्रकरण दर्ज कर लिया। स्टेशन पर आरपीएफ व डीसीआई दिग्विजय सिंह की संयुक्त चेकिंग में तीन वेंडर को भी बिना मंजूरी खाना सप्लाई करते हुए पकड़ा गया।

ओटीपी पूछकर बैंक खाते से निकाले 47 हजार

हॉर्टिकल्चर विभाग के कर्मचारी सतेन्द्र सिंह तोमर निवासी कर्मचारी आवास विकास कॉलोनी से फोन पर ठग ने बैंक कर्मचारी बनकर एटीएम कार्ड नंबर और ओटीपी पूछ लिया। इसके बाद उनके खाते से 47 हजार रुपए निकाल लिए। मोबाइल पर एसएमएस आने के बाद उन्हें पैसे निकलने का पता लगा। इसके बाद उन्होंने बैंक में संपर्क किया। कार्ड ब्लॉक करवाने के बाद शनिवार को क्राइम ब्रांच में शिकायत की।

छुटि्टयों में 15 हजार छात्र तैयार करेंगे 45 हजार पौधे

सिटी रिपोर्टर | ग्वालियर

गर्मियों की छुटि्टयों में 15 हजार छात्र 45 हजार पौधों को तैयार करेंगे। इसके लिए वन विभाग ने एक कार्ययोजना बनाई है। जानकारी देते हुए वन विस्तार अधिकारी यशवर्धन टेलर ने बताया कि वन विभाग की मुख्य संरक्षक कंचन देवी के मार्गदर्शन में वन विभाग द्वारा स्कूलों में पर्यावरण बाल मित्र योजना चलाई गई। इसके बाद वन विभाग द्वारा स्कूलों में जाकर पर्यावरण बाल मित्र योजना के तहत इसमें 78 स्कूलों के करीब 15 हजार बच्चों को जोड़ा गया। इन सभी छात्रों को पौधों के बारे में बेसिक जानकारी दी गई। इसमें उन्हें बताया गया कि कैसे उसमें पानी देना है। और कैसे उसकी गुड़ाई करनी है। इसके बाद छुटि्टयों में स्टूडेंट्स पौधों को अपने घर में ही देखभाल करेंगे। इससे उनका पौधों के प्रति लगाव भी बढ़ेगा। और वो उसकी सही ढंग से देखभाल कर पाएंगें। इसके बाद जुलाई माह में नए सेशन के दौरान छात्र अपने लगाएं हुए पौधों के बारे में बताएंगे कि उन्हें कहां लगाया जाए। उसके लिए वो अपने घर के पास, स्कूल कैंपस, गार्डन के अलावा कहीं भी जगह बता सकते है जहां उन्हें यह पौधे लगाने है।

तीन लाख रुपए उधार लिए, वापस मांगे तो धमकाया

कोतवाली थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक व्यापारी से युवक ने तीन लाख रुपए उधार लिए। जब उसने रुपए वापस मांगे तो धमका दिया। व्यापारी की शिकायत पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। बालाबाई का बाजार के रहने वाले राकेश सिंघल ने वहीं रहने वाले निशांत सिंघल को 3 लाख रुपए उधार दिए थे। तय समय में जब रुपए वापस नहीं दिए तो रुपए मांगने उसके घर पहुंचे। इस पर उसने धमकाया और रुपए वापस करने से इंकार कर दिया।

समस्या दूर करने के लिए बनाई फेसबुक आईडी

इस दौरान स्टूडेंट्स को पौधों के संबंध में कोई समस्या आती है तो उसके लिए फॉरेस्ट विभाग द्वारा एक फेसबुक आईडी फॉरेस्ट डिपार्टमेंट आरएन एंड ई ग्वालियर(पर्यावरण बाल मित्र) बनाई गई है। इसमें स्टूडेंट्स अपनी समस्या बता सकता है। वन विभाग के अधिकारी उस समस्या को फेसबुक पर ही दूर करने का प्रयास करेंगे। इसके अलावा एक वाट्सएप ग्रुप भी बनाया गया है। इसमें भी अपनी समस्या शेयर कर सकते हैं।

वेटिंग रूम के टॉयलेट में लगी नेपकिन जलाने की मशीन

सिटी रिपोर्टर | ग्वालियर

रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म एक पर स्थित वेटिंग रूम के टॉयलेट में रेलवे ने नेपकिन जलाने की मशीन भी लगा दी है। वेटिंग रूम में लगभग एक माह पूर्व नेपकिन पेड की मशीन लगाई थी।

इस मशीन से अब तक कुल 20 नेपकिन प्रति 5 रुपए की दर से ली गई हैं। नेपकिन मशीन लगने के बाद गंदे नेपकिन के विनिष्टीकरण की समस्या आ रही थी। इसे दूर करने के लिए विगत दिवस नेपकिन को जलाकर नष्ट करने की मशीन भी टॉयलेट में लगा दी गई।

दहेज प्रताड़ना: निचली कोर्ट का आदेश निरस्त कर हाईकोर्ट ने आरोपी को समर्पण करने को कहा

हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान में लिया था मामला

लीगल रिपोर्टर | ग्वालियर

मप्र उच्च न्यायालय ने दहेज प्रताड़ना के आरोपी को अग्रिम जमानत देने संबंधी द्वितीय अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश, डबरा के आदेश को निरस्त करते हुए आकाश बरेडिया को समर्पण करने का निर्देश दिया। न्यायमूर्ति जीएस अहलूवालिया ने अपने आदेश में कहा कि सत्र न्यायालय ने गलती से आरोपी को अग्रिम जमानत का लाभ दे दिया। हाईकोर्ट ने इस मामले को स्वतः संज्ञान में लिया था।

पीड़िता सपना की 22 नवंबर 2017 को दीपक के साथ शादी हुई थी। जिसके बाद से ही उसका पति दीपक , देवर आकाश, ससुर बलवंत, भाभी रेखा और प्रीति एक लाख रुपए और कार की मांग करने लगे। मांग पूरी नहीं करने पर पीड़िता को मायके छोड़ दिया। कुछ दिन बाद पति ने देवर के साथ मिलकर लाठी से उसकी पिटाई की। जिसमें उसे गंभीर चोटें आई। पीड़िता ने उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई। इस पर आरोपियों द्वारा अपर सत्र न्यायालय, डबरा में अग्रिम जमानत का आवेदन पेश किया गया। पति दीपक के अग्रिम जमानत का आवेदन खारिज कर दिया गया जबकि देवर आकाश का आवेदन स्वीकार कर लिया गया। इस आदेश के खिलाफ दीपक ने हाईकोर्ट में आवेदन दे समानता के आधार पर जमानत की गुहार की। हाईकोर्ट ने आकाश पर लगे आरोपों को पुन: देखा जिसमें प्रथम दृष्टया ये पाया कि अपर सत्र न्यायालय ने गलती से आकाश को अग्रिम जमानत का लाभ दे दिया। इस पर दीपक के अभिभाषक ने जमानत आवेदन वापस ले लिया लेकिन प्रकरण की प्रकृति को देखते हुए हाईकोर्ट ने आकाश के विरुद्ध प्रकरण दर्ज कराया। आरोपी को जांच अधिकारी के समक्ष का समर्पण करने का आदेश दिया। हाईकोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि भारतीय संस्कृति में भाभी मां के समान होती है और दहेज की मांग पूरी न करने पर देवर का भाभी की मारपीट करना साधारण मामला नहीं है।

एमएलबी: लाइब्रेरी में 1.50 लाख किताबें, एक दिन में 500 की गिनती

ग्वालियर | 33 माह से बंद पड़ी एमएलबी कॉलेज की लाइब्रेरी से छात्रों को नए सत्र में भी किताबें आवंटित नहीं हो पाएंगी। इसका कारण लाइब्रेरी का चार्ज पूर्व लाइब्रेरियन से लेने के लिए किताबों की धीमी गति से गिनती कराना है। विवाद के चलते कॉलेज के पूर्व लाइब्रेरियन प्रियदर्शी दुबे ने चार्ज नहीं दिया था। अब उच्च शिक्षा आयुक्त के निर्देश पर वे चार्ज देने के लिए यहां आए हैं। लेकिन किताबों की गिनती धीमी गति से हो रही है। 4 दिन में लगभग 2 हजार किताबें की गिनती होना बताया जा रहा है। जबकि कॉलेज में 1.50 लाख किताबें हैं। यदि इसी स्पीड से किताबों की गिनती हुई तो इसमें पूरा साल लग जाएगा। इससे छात्रों काे जुलाई व अगस्त से पढ़ने के लिए किताबें आवंटित नहीं हो पाएंगी। सबसे अधिक परेशानी रिसर्च स्कॉलर को है।

प्रिंसिपल डॉ. केएस राठौर ने बताया कि किताबों की गिनती कराने में 5 लोगों का स्टाफ दिया गया है। प्रिंसिपल का कहना था कि लाइब्रेरियन राजीव चतुर्वेदी से कहा है कि यदि स्टाफ और चाहिए तो ले लें लेकिन किताबों की गिनती स्पीड के साथ कराएं। वह लाइब्रेरियन श्री चतुर्वेदी को नोटिस दे रहे हैं। इसके बाद यदि सुधार नहीं हुआ तो उच्च शिक्षा आयुक्त को अवगत कराएंगे।

छोटी रेल में चार नए कोच लगे 20 कोच यहीं तैयार होंगे

रेलवे रिपोर्टर | ग्वालियर

ग्वालियर-श्योपुर नैरोगेज ट्रैक को ब्रॉडगेज में बदलने के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया के चलते ही छोटी रेल के रैक में चार नए कोच लगा दिए गए। रेलवे अफसरों के अनुसार, छोटी रेल के संचालन में कोच की कमी लंबे समय से बनी थी, इससे यात्रियों को परेशानी हो रही थी। ब्रॉडगेज लाइन का काम शुरू होने में अभी समय लग सकता है इसलिए यात्री सुविधा के लिए नए कोच की जरूरत थी। रेलवे ने विगत वर्ष छोटी रेल के रैक के लिए छह नए कोच का आर्डर दिया था, जिनमें चार आ गए, शेष दो भी जल्द आ जाएंगे। छोटी रेल के ट्रैक पर ग्वालियर से संचालित होने वाली तीन ट्रेनों के लिए 20 कोच ग्वालियर में ही तैयार किए जा रहे हैं। दुर्घटना राहत ट्रेन के लिए एक नया कोच रेलवे के तानसेन रोड स्थित शेड में तैयार कर लिया गया है।

यात्री सुविधा के लिए मंगाए कोच


छोटी रेल के लिए आए नए कोच। फोटो: भास्कर

कोच की कमी दूर होने से छत पर यात्रा नहीं करना पड़ेगी





ग्वालियर, रविवार 06 मई , 2018 |

हनुमान बांध से निकाली जलकुंभी

ग्वालियर | जल संरक्षण एवं संवर्धन के लिए नगर निगम द्वारा चलाए जा रहे अभियान के तहत हनुमान बांध की सफाई कराई जा रही है। अभी तक 50 ट्रॉली जलकुंभी निकाली जा चुकी है। यहां पर लोहे का गेट लगा होने के कारण गंदा पानी भरा हुआ है। उसमें ही जलकुंभी उग आई है। पिछले नौ दिनों से निगम जलकुंभी निकालने में लगा हुआ है। यहां से एक सड़क शनिदेव मंदिर के लिए निकाली जानी है। इसके लिए मदाखलत दस्ते ने शनिवार को पूरन प्रजापति और निर्मला कुशवाह के निर्माण को हटाया। कार्रवाई के दौरान मुख्य समन्वयक अधिकारी प्रेम पचौरी सहित अमला मौजूद था।

08

X
सड़क किनारे खून से लथपथ मिला पंप अटेंडर का शव, जेब में था गांजा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..