• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Damoh News
  • कलेक्टोरेट के सामने चौराहा और दोनों सड़कों के किनारे जारी रहा धरना प्रदर्शन, नारेबाजी
--Advertisement--

कलेक्टोरेट के सामने चौराहा और दोनों सड़कों के किनारे जारी रहा धरना प्रदर्शन, नारेबाजी

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहाियकाएं, सहकारी समिति कर्मचारी ने दिया धरना भास्कर संवाददाता | दमोह अपनी अपनी मांगों...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:25 AM IST
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहाियकाएं, सहकारी समिति कर्मचारी ने दिया धरना

भास्कर संवाददाता | दमोह

अपनी अपनी मांगों को लेकर विभिन्न संगठनों द्वारा धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। बुधवार को कलेक्टोरेट के सामने दोनों सड़कों के किनारों पर एवं महाराणा प्रताप चौक पर पंडाल में धरना प्रदर्शन जारी रहा। इस बीच चौराहा पर सड़कों के बीच पंडाल लगाए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताएं सहायिकाएं धरने पर बैठी रहीं। वहीं कलेक्टोरेट के पास आशा कार्यकताएं और सहकारी समिति कर्मचारी एवं दूसरी सड़क किनारे पेंशनर्स धरना दे रहे थे। अपनी अपनी मांगों को लेकर पंडाल में नारेबाजी का दौरा जारी रहा। इस तरह का प्रदर्शन और नारेबाजी से राहगीर व वाहन चालक भी एक पल के लिए सड़क पर रूककर प्रदर्शन कारियों के बैनरों की ओर देखते हुए आगे बढ़े।

धरना में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की उमड़ी भीड़

आशा कार्यकर्ताओं का धरना जारी

पांच सूत्रीय मांगों को लेकर लगातार सातवें दिन सभी आशा कार्यकर्ता धरना स्थल पर उपस्थित रहीं। धरने पर आशा कार्यकर्ताएं नारेबाजी करती रहीं। आशा कार्यकर्ताओं का कहना है कि यदि शासन द्वारा उनकी मांग शीघ्र पूरी नहीं की जाती है तो होली का पर्व भी धरना स्थल पर मनाएंगे और धरना प्रदर्शन जारी रहेगा।

शासकीय कर्मचारी घोषित किए जाने सहित वेतन वृद्धि को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं सहायिकाओं का अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन बुधवार को भी जारी रहा। धरना प्रदर्शन के दौरान बड़ी संख्या में कार्यकर्ताएं सहायिकाएं धरना स्थल पर पहुंची जिससे पंडाल में जगह कम पड़ गई। पंडाल के बाहर तक कार्यकर्ताएं सहायिकाएं बैठी रहीं और मांगो को लेकर नारेबाजी करती रहीं।

सहकारी समिति कर्मचारी करेंगे भूख हड़ताल

बुधवार को कलेक्टोरेट के पास धरना प्रदर्शन कर रहे सहकारी कर्मचारी समिति संघ के सदस्यों ने अपनी मांगों को लेकर नारे लगाए। कर्मचारियों के साथ कंप्यूटर ऑपरेटर भी धरने में शामिल हैं। इस दौरान पदाधिकारियों ने कहा कि शासन उनकी छोटी छोटी मांगों को नहीं मान रहा है। यदि मांगें नही मानी गई तो आगामी दिनों में भूख हड़ताल और मुंडन भी कराएंगे ।