• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Damoh News
  • सौभाग्य योजना: 57 ग्रामों में लाइन विस्तार का कार्य पूरा
--Advertisement--

सौभाग्य योजना: 57 ग्रामों में लाइन विस्तार का कार्य पूरा

जिले में स्वीकृत प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना सौभाग्य कार्ययोजना प्रारंभ की गई है। जिसके अंतर्गत दमोह जिले...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:30 AM IST
जिले में स्वीकृत प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना सौभाग्य कार्ययोजना प्रारंभ की गई है। जिसके अंतर्गत दमोह जिले की 460 ग्राम पंचायतों के 1176ग्रामों में मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड द्वारा बिजली कनेक्शन प्रदान किए जाएंगे।

अधीक्षण अभियंता एसके गुप्ता ने बताया ब्लाक दमोह को प्राथमिकता पर लिया गया है। जिसमें कुल 89 ग्राम पंचायतों के 235 ग्राम शामिल हैं। ग्राम पंचायत बांदकपुर, चंदौरा, ढिगसर, खजरी, करैयाराख, महंतपुरा, बांसनी, जमुनिया हजारी, मढ़ाहार, मारूताल, पायरा, अभाना, अर्थखेड़ा, बम्होरी, गुंजी, मुड़ारी, जुझार, सलैया, बांसातारखेड़ा, बरमासा, सिहोरा, बिजौरी, ग्वारी, हिरदेपुर, इमलाई, जोरतलाखुर्द, सिंगपुर, आंवरी, बिलाई, खामखेड़ा, रियाना के 57 ग्रामों मे लाइन विस्तार का कार्य पूर्ण कर प्रत्येक घर में विद्युत कनेक्शन प्रदाय किए जा चुके हैं। उन्होंने इन ग्राम पंचायतों के सरपंच, सचिव से अनुरोध किया है कि यदि कोई भी घर जिसमें परिवार निवासरत हों और विद्युत कनेक्शन न लगा हो, कृपया उनकी जानकारी निकटतम वितरण केंद्र कार्यालय में आवश्यक रूप से दी जाए। गौरतलब है कि इसके पहले ग्रामवासी या तो बिना बिजली के जीवन यापन कर रहे थे या फिर चोरी की बिजली जला रहे थे। जिससे विभाग को नुकसान हो रहा था। वहीं ग्रामीणों को भी विभाग द्वारा नोटिस देकर केस दर्ज कर परेशान किया जा रहा था। लेकिन अब योजना के तहत ग्रामवासियों और अधिकारियों की परेशानी कम होगी।

सुविधा

सौभाग्य योजना के तहत दमोह ब्लाक ग्रामों में हुआ कार्य, सालों से अंधेरा झेल रहे लोगों के घर होंगे रोशन

आशा कार्यकर्ता गिफ्ट करेंगी ‘नई पहल किट’

भास्कर संवाददाता|दमोह

अब नव विवाहित जोड़ों को स्वास्थ्य विभाग भी अपनी ओर से उपहार देगा। उपहार में एक किट होगी। इसमें पूरी जिम्मेदारी से परिवार के विकास की थीम पर सामग्री होगी। केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कार्यक्रम के तहत यह पहल की है। इसके तहत जनसंख्या नियंत्रण से नवविवाहितों को जोड़ने के लिए प्रेरणा दी जाएगी।

योजना के तहत स्वास्थ्य विभाग आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से नवविवाहित जोड़ों को परिवार नियोजन की सामग्री से युक्त एक किट देगा। इस किट में स्त्री, पुरुष के लिए प्रसाधन की सामग्री के साथ-साथ परिवार नियोजन की सामग्री भी रखी जाएगी। जिला कार्यक्रम अधिकारी राजेंद्र खरे ने बताया कि जिले में पहली बार लागू की जा रही इस योजना पर केंद्र सरकार ने प्रति किट 220 रुपए की सामग्री पर और 100 रुपए प्रति किट संबंधित आशा कार्यकर्ता को मानदेय देने का निर्णय लिया है। तेजी से बढ़ती जनसंख्या पर नियंत्रण लगाने के लिए भारत सरकार राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत योजनाएं चला रही है। इन योजनाओं पर करोड़ों रुपए हर साल खर्च करने के बाद भी बढ़ती हुई जनसंख्या पर नियंत्रण नहीं हो पा रहा है।

दिया जाएगा मानदेय

सीमित परिवार रखने की कड़ी में यह योजना लागू की गई है। नई पहल किट में परिवार नियोजन संबंधी सामग्री के अलावा नवविवाहितों के लिए गिफ्ट रखे गए हैं। आशा कार्यकर्ता के जरिए यह किट नवविवाहित जोड़ों को दी जाएगी। नवविवाहित दंपतियों को परिवार नियोजन साधनों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने पर आशा कार्यकर्ता को एक किट पर 100 रुपए मानदेय दिया जाएगा।