Hindi News »Madhya Pradesh »Damoh» 15 टैंकर खरीदने एक साल पहले जारी किए थे टेंडर, अब हुआ वर्क आर्डर, गड़बड़ी की आशंका

15 टैंकर खरीदने एक साल पहले जारी किए थे टेंडर, अब हुआ वर्क आर्डर, गड़बड़ी की आशंका

शहर में पानी की किल्लत खड़ी होने वाली है, कई वार्डों में सालों से टैंकरों से पानी सप्लाई करके लाखों रुपए का भुगतान...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 02:30 AM IST

15 टैंकर खरीदने एक साल पहले जारी किए थे टेंडर, अब हुआ वर्क आर्डर, गड़बड़ी की आशंका
शहर में पानी की किल्लत खड़ी होने वाली है, कई वार्डों में सालों से टैंकरों से पानी सप्लाई करके लाखों रुपए का भुगतान किया जाता है, जबकि नगर पालिका एक एजेंसी काे 15 टैंकर बनाकर सप्लाई करने का आर्डर एक साल पहले दे चुकी है, लेकिन न ताे एजेंसी ने टैंकर सप्लाई किए और न ही नपा ने टैंकर न सप्लाई करने वाली एजेंसी पर कोई एक्शन लिए। जबकि एजेंसी का कहना है कि उसे 15 दिन पहले ही वर्क अार्डर मिला है।

बीते वर्ष मार्च-अप्रेल में नगर पालिका ने लोगों को गर्मी के मौसम में पानी मुहैया कराने के लिए 15 नए टेंकर खरीदी का टेंडर जारी किया गया था। जिसका ठेका भी उस समय हो गया था। करीब 25 लाख रूपए की लागत इन टेंकरों की खरीदी की जानी थी, लेकिन एक साल बीतने के बाद भी इन टेंकरों का कोई अता-पता नहीं है। जिस ठेकेदार को इसका ठेका दिया गया था, इसकी जानकारी भी नगर पालिका अधिकारियों को नहीं हैं।

हर साल निजी टेंकरों पर लाखों रूपए खर्च: गर्मी के मौसम में शहर में नियमित जलापूर्ति के लिए नगर पालिका द्वारा किराए के टेंकर लेकर हर साल लाखों रूपए का भुगतान करती है। वहीं दूसरी ओर निजी टेंकर मालिक भी फिल्टर से ही पानी भरकर शहर में 400 से 500 रूपए में बेंचते हैं। जिससे हर टेंकर मालिक एक सीजन में इतनी कमाई कर लेता है कि वह एक नया ट्रेक्टर व टेंकर खरीद लेता है। वर्तमान में फिल्टर से रोजाना 20 से 25 निजी टेंकर भरे जा रहे हैं। लेकिन यदि नगर पालिका स्वयं के टेंकरों के माध्यम से जल सप्लाई करे तो अनावश्क खर्च से बच जाएगी।

शीघ्र मिल जाएंगे टैंकर: कपिल खरे, सीएमओ का कहना है कि सुशील सोनी, सब इंजीनियर नपा का कहना है कि टैंकर खरीदी के लिए बीते साल टेंडर जारी हुए थे। जिसका ठेका मनीष तिवारी को मिला था। ठेकेदार ने शीघ्र ही टैंकर देने की बात कही है। कल ही रिमांइडर जारी करता हूं: यह बात सही है कि बीते साल 15 नए टेंकर खरीदे जाने का टेंडर जारी हुआ था। ठेकेदार ने अभी तक सप्लाई क्यों नहीं किए, इसके लिए कल ही रिमाइंडर जारी करता हूं।

दमोह। फिल्टर प्लांट पर खड़े नगर पालिका के सालों पुराने टेंकर कंडम हो गए हैं।

20 साल पुराने चार टैंकर, उनमें से

दाे में पानी भरते ही बह जाता है

वर्तमान में नगर पालिका के पास 20 साल पुराने केवल 4 टैंकर हैं। जो काफी कंडम हालत में पहुंच गए हैं। इनमें से दो टैंकर तो ऐसे हैं जो रास्ते में पानी ले जाते समय आए दिन सड़क पर खड़े हो जाते हैंं। यही कारण है कि नगर पालिका को हर साल किराए के टैंकर लगाना पड़ते हैं। जिससे पानी सप्लाई के नाम पर हर साल लाखों रूपए खर्च किए जाते हैं। जिन वार्डों में पाइप लाइन नहीं हैं वहां पर नगर पालिका को टैंकर से ही पानी सप्लाई करना पड़ता है। कांग्रेस राशु चाैहान ने बताया कि नगर पालिका ने बीते साल 15 नए पानी के टेंकर खरीदने की स्वीकृति पीआईसी से स्वीकृत कराने के बाद इसके टेंडर जारी किए थे। बताया गया है कि टेंडर जारी होने के बाद इसका ठेका एक भाजपा नेता को मिला था, लेकिन एक साल बीतने के बाद भी संंबंधित ठेकेदार द्वारा नगर पालिका को टेंकर सप्लाई नहीं किए गए। ऐसे में इस साल फिर एक दर्जन से अधिक वार्डों के लोगों को पानी के लिए परेशान होना पड़ेगा।

अध्यक्ष व सीएमओ

जवाब दें

बीते साल पीआइसी की बैठक में 15 नए टेंकर खरीदी का प्रस्ताव पारित किया गया था। नियमानुसार टेंडर जारी होने के 6 माह के अंदर सामग्री देना पड़ती है, लेकिन यहां पर लेकिन एक साल बीतने के बाद भी अब तक टेंकर खरीदी न होना निश्चित ही इसकी राशि में हेरफेर की बात सामने आ रही है। या इसकी राशि किसी अन्य कार्यों मंें खर्च कर दी गई। पानी जैसी बुनियादी सुविधा से जुड़ा मसला होने के बाद भी अध्यक्ष व सीएमओ द्वारा इसमें गंभीर मामले को लेकर अब तक चुप हैं। उन्हें इसका जबाव देना चाहिए। - राजकिशोर चौहान, नेता प्रतिपक्ष नपा

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Damoh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 15 टैंकर खरीदने एक साल पहले जारी किए थे टेंडर, अब हुआ वर्क आर्डर, गड़बड़ी की आशंका
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Damoh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×