Hindi News »Madhya Pradesh »Damoh» विभाग ने 32 लाख 49 हजार रुपए के 182 बड़े बकायादारों के बिजली बिल कनेक्शन काटे

विभाग ने 32 लाख 49 हजार रुपए के 182 बड़े बकायादारों के बिजली बिल कनेक्शन काटे

एक सप्ताह में 10 हजार से अधिक बकाया राशि वाले बकायादारों के कनेक्शन काटे जाएंगे भास्कर संवाददाता | दमोह बिजली...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 02, 2018, 02:35 AM IST

एक सप्ताह में 10 हजार से अधिक बकाया राशि वाले बकायादारों के कनेक्शन काटे जाएंगे

भास्कर संवाददाता | दमोह

बिजली विभाग के द्वारा माह मार्च के प्रारंभ होते ही बिजली बिल के बड़े बकायादारों के कनेक्शन काटने की कार्यवाही शुरू कर दी गई है।

गुरूवार को बिजली कनेक्शन काटने टीम शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में घूमती रही। विभाग द्वारा प्राथमिकता पर माह के प्रथम सप्ताह में 10 हजार से अधिक बकाया राशि वाले बकायादारों के कनेक्शन काटने का लक्ष्य रखा गया है। जिसके अंतर्गत गुरूवार को शहर के 182 बड़े बकायादारों के राशि लगभग 32 लाख 49 हजार के कनेक्शन काटे गए। विभाग के द्वारा 8 अलग अलग टीम बनाकर शहर के अलग अलग क्षेत्रों में बकायादारों के कनेक्शन काटने की कार्रवाई की गई। जिसके टीम प्रभारी सुजीत श्रीवास्तव सहायक अभियंता शहर, हृदेश चतुर्वेदी सहायक अभियंता, अवनीश कुमार पांडेय सहायक अभियंता आरके अरोर कनिष्ठ अभियंता, महेंद्र सिंह राय कनिष्ठ अभियंता, पूजा, प्रदीप सिंह परिहार शामिल रहे।

बिल नहीं तो बिजली नहीं: ईई दक्षिण संभाग शिववंशी ने बताया कि बिल भुगतान नहीं तो बिजली नहीं के सिद्धंात पर यह अभियान अब प्रतिदिन चलेगा। उन्होंने बताया कि इस अभियान के अंतर्गत कनेक्शन विच्छेदन के बाद बकाया बिल का भुगतान न होने पर एवं कनेक्शन की पुनः जांच में यदि बिजली चालू पाई जाती है तो संबंधित के विरूद्ध विद्युत अधिनियम 2003 के अंतर्गत प्रकरण बनाकर विशेष न्यायालय में दर्ज किए जाएंगे। उन्होंने अपील की है कि बिल के संबंध में यदि कोई आपत्ति है तो वे किल्लाई नाका पहुंचकर अपनी शिकायत का निराकरण करा सकते हैं। साथ ही बिजली बिल बकायादारों से निवेदन किया गया है कि वे विद्युत बिलों का भुगतान निर्धारित समय सीमा में करें ताकि विद्युत विच्छेदन जैसी अप्रिय कार्यवाही से बचा जा सके।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Damoh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×