--Advertisement--

केस डायरी सार्वजनिक करने पर टीआई लाइन अटैच

देहात थाना प्रभारी विजय मिश्रा को एसपी विवेक अग्रवाल ने लाइन अटैच कर दिया है। श्री मिश्रा पर आरोप था कि उन्हांेने...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 04:30 AM IST
देहात थाना प्रभारी विजय मिश्रा को एसपी विवेक अग्रवाल ने लाइन अटैच कर दिया है। श्री मिश्रा पर आरोप था कि उन्हांेने एक मामले में आरोपियों के बचाने के लिए उनके बयान और केस डायरी को कोर्ट में पेश करने से पहले ही सार्वजनिक कर दिया था। इस मामले में एसपी श्री अग्रवाल ने जांच के लिए तत्कालीन सीएसपी आर राजन को जिम्मेदारी दी थी। जांच प्रतिवेदन मिलने के बाद एसपी ने लाइन अटैच करने का आदेश जारी कर दिया।

पीड़ित एडवोकेट श्री विश्वकर्मा ने बताया कि जिस मामले में जांच चल रही है, अभी कोर्ट में केस पेश नहीं किया गया और केस डायरी की फोेटाेकॉपी मिलने की बात सामने आई थी। दस्तावेज सहित इसकी शिकायत एसपी श्री अग्रवाल को की गई थी। जिसकी जांच के बाद दमोह देहात थाना प्रभारी विजय मिश्रा को तत्काल प्रभाव से लाइन अटैच कर दिया गया है। इस संबंध में एसपी विवेक अग्रवाल का कहना है कि टीआई के खिलाफ विभागीय जांच चल रही है। जिसका जांच प्रतिवेदन पेश किया गया था, जिसके आधार पर यह कार्रवाई की गई है।

क्या था मामला

30 जून 2017 को जबलपुर नाका निवासी एडवोकेट श्याम सुंदर विश्वकर्मा पर नामजद 6 लोग जयपाल यादव, कृष्णा यादव, भूरी बाई, नीरज यादव, अमित यादव, टिकल विरमानी ने जान लेवा हमला कर दिया था। इस मामले में धारा 307 के तहत आरोपियों पर मामला दर्ज किया गया था। एफआईआर की विवेचना देहात टीआई विजय मिश्रा को सौंपी गई थी। इस मामले में एडवोकेट विश्वकर्मा ने आरोप लगाया था कि उनके जो बयान हुए थे, वे लेन देन करके बदल दिए गए हैं, इसके अलावा उनके बयान और केस डायरी सार्वजनिक कर दी गई है।