• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Damoh News
  • भारतीय मुद्रा का अपमान, 600रुपए के बिल में नहीं ली चिल्लर
--Advertisement--

भारतीय मुद्रा का अपमान, 600रुपए के बिल में नहीं ली चिल्लर

पथरिया। सरकारी कार्यालयों में नही लिए जा रहे सिक्के। बैंक वाले नहीं लेते चिल्लर

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 07:35 AM IST
पथरिया। सरकारी कार्यालयों में नही लिए जा रहे सिक्के।

बैंक वाले नहीं लेते चिल्लर


मूल निवासी होने के कारण

चलाते हैं मनमानी

उपभोक्ताओं के अनुसार विजय श्रीवास्तव पथरिया नगर के मूल निवासी हैं जो कि विगत कई वर्षो से यहां पदस्थ हैं ग्रमीण विभाग में ऐसे कई लाइनमैन भी हैं जो दस सालों से पथरिया में ही पदस्थ होने के कारण मनमर्जी कर रहे हैं। इन्हें राजनैतिक संरक्षण होने के कारण वरिष्ठ अधिकारी भी कार्रवाई करने से बचते हैं। जबकि सिक्का खुल्ले पैसे लेने से इंकार करने वालो को जहां एक ओर शासन प्रशासन जेल भेजने की बात कर रहा है वहीं दूसरी और शासन प्रशासन के अधिकारी कर्मचारी कि सिक्के लेने से इंकार कर रहे हैं। शासन के निर्देशानुसार कोई भी व्यक्ति एक दो पांच या दस रूपए के सिक्का लेने के इंकार करता है तो इसे भारतीय मुद्रा का अपमान माना जाएगा तो उसके खिलाफ धारा 124 के तहत मामला दर्ज कर दंडात्मक कार्यवाही कि जाएगी इसके अलावा आदेश का उल्लंघन करने पर धारा 188 कि कार्रवाई का भी प्रावधान है।