• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Damoh News
  • चंद्र ग्रहण: सुबह 8.17 बजे से सूतक लगने से जल्दी बंद हुए मंदिराें के कपाट
--Advertisement--

चंद्र ग्रहण: सुबह 8.17 बजे से सूतक लगने से जल्दी बंद हुए मंदिराें के कपाट

दिनभर मंदिरों में चलता रहा भजन संकीर्तन, 5.17 बजे से रात 8.40 बजे तक रहा चंद्रग्रहण का असर दमोह| बुधवार को चंद्रग्रहण...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:25 PM IST
दिनभर मंदिरों में चलता रहा भजन संकीर्तन, 5.17 बजे से रात 8.40 बजे तक रहा चंद्रग्रहण का असर

दमोह| बुधवार को चंद्रग्रहण के चलते मंदिरों के कपाट सुबह सूतक काल लगने से जल्दी बंद कर दिए गए। रात में चंद्र ग्रहण उबलने के बाद मंदिरों के पट खुले इसके बाद आरती पूजन हुआ। दिनभर सूतक काल में मंदिरों में भजन संकीर्तन चलता रहा। श्री देव बूंदाबहु मंदिर के पं. मुकेश पाठक ने बताया कि चंद्रग्रहण बुधवार शाम 5.17 से शुरू हुआ जो रात 8.40 बजे तक रहा। उन्होंने बताया कि चंद्रग्रहण के कारण सुबह 8.17 बजे से सूतक काल शुरू हो गया जिसके कारण सुबह से आरती पूजन के बाद मंदिरों के पट बंद कर दिए गए। जो ग्रहण उबलने के बाद रात में ही खुले। इस बीच मंदिर में भजन संकीर्तन श्रद्धालुओं के द्वारा किया गया। बूंदाबहु मंदिर सहित, श्री गौर राधारमण मंदिर, श्रीराधाबहु मंदिर, हनुमानगढ़ी मंदिर सहित सभी मंदिरों में रात में आरती पूजन किया गया। दिन में भजन कीर्तन चलते रहे। पंडितों के अनुसार ग्रहण काल में भगवान की प्रतिमा का स्पर्श वर्जित होता है। पूजन अर्चन भी नहीं किया जाता है। वहीं सूतक काल में भोजन स्नान आदि भी वर्जित माना गया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..