दमोह

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Damoh News
  • स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के उत्तराधिकारी मरणोपरांत करेंगे देहदान
--Advertisement--

स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के उत्तराधिकारी मरणोपरांत करेंगे देहदान

शहर के आमचौपरा निवासी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी उत्तराधिकारी 77 वर्षीय पूरनलाल अग्रवाल ने मरणोपरांत देहदान का...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:30 PM IST
शहर के आमचौपरा निवासी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी उत्तराधिकारी 77 वर्षीय पूरनलाल अग्रवाल ने मरणोपरांत देहदान का संकल्प लिया है। परिजनों ने भी उनकी इस इच्छा का सम्मान किया। पूरनलाल पिता चंद्रभान अग्रवाल ने शरीर रचना विभाग नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडीकल कॉलेज जबलपुर में पत्र लिखकर अपनी इच्छा से अवगत कराया था।

जिसके बाद मेडीकल कॉलेज से उन्हें 10 फरवरी 2011 को कार्ड दिया गया जिसमें लिखा है कि एेच्छिक शरीर दान पूरनलाल अग्रवाल द्वारा किया गया शरीर दान मरणोपरांत सराहनीय है। परिवारजनों से अपेक्षा है कि वे इनकी इच्छा का सम्मान करेंगे। उनका रजिस्ट्रेशन क्रमांक 49 है। इसकी जानकारी परिजनों को लगने पर सभी ने उनकी इस इच्छा का सम्मान करने की सहमति जताई है। हालांकि श्री अग्रवाल चार दिन से ऑक्सीजन के सहारे जीवित हैं। परिजनों के अनुसार उन्हें हार्ट में तकलीफ होने पर इलाज के लिए सोमवार को जबलपुर लेकर गए थे। जहां उन्हें आराम नहीं लगा और डॉक्टर ने ऑक्सीजन लगाकर घर पर ही सेवा करने की बात कही थी जिसके बाद परिजन उन्हें घर वापस लेकर आए थे और सेवा कर रहे हैं।

छोटे भाई से चर्चा के बाद लिया था निर्णय: पूरनलाल अग्रवाल के छोटे भाई बालमुकुंद अग्रवाल ने बताया कि उनके बड़े भाई ने परिवार में चर्चा के बाद मरणोपरांत देहदान की इच्छा व्यक्त की थी जिसकी सहमति के बाद मेडीकल कॉलेज को अवगत कराया गया था। श्री अग्रवाल की बहु सुधा ने बताया कि हमारा परिवार उनकी देह को दान करने तैयार है लेकिन देह का कुछ अंश मिल जाए ताकि उनके मरणोपरांत अंतिम संस्कार को भी पूरा कर सकें।

चार दिन से ऑक्सीजन के सहारे जीवित हैं देहदान का संकल्प लेने वाले पूरनलाल अग्रवाल, परिजनों ने इच्छा का किया सम्मान

दमोह। पूरनलाल अग्रवाल की सांसे चल रही है आक्सीजन लगा है। पूरनलाल अग्रवाल के परिजन।

प|ी के छलक आए आंसू

पूरनलाल अग्रवाल अपने जीवन की अंतिम सांसे गिन रहे हैं। उनकी प|ी मुन्नाबाई को जब यह बात पता चली कि उनके पति ने मरणोपरांत देहदान करने की इच्छा जताई है तो उन्होंने उनकी इच्छा का सम्मान करते हुए देहदान करने की बात कही लेकिन उन्होंने बताया कि इस बात से उन्हें चार दिन पहले ही अवगत कराया। इस दौरान उनकी आंखों से आंसू छलक आए। उनके परिवार में तीन संतान हैं जिसमें ऋषि अग्रवाल 48, रजनीश 40 एवं राजेश 35 हैं। पूरा परिवार संगठित है और श्री अग्रवाल की सेवा में जुटा है। इस संबंध में सीएमएचओ डाॅ. आरके बजाज का कहना है कि यदि पूरनलाल अग्रवाल ने देहदान की इच्छा जताई है तो उनकी इच्छा को पूरा कराया जाएगा और मेडीकल कॉलेज से संपर्क किया जाएगा जो भी प्रक्रिया होगी उसे पूरा कराया जाएगा।

X
Click to listen..