Hindi News »Madhya Pradesh »Damoh» प्लेटफार्म एक पर बैठा यात्री दौड़कर चलती मालगाड़ी के आगे कूदा, मौत

प्लेटफार्म एक पर बैठा यात्री दौड़कर चलती मालगाड़ी के आगे कूदा, मौत

रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर बुधवार को शाम 4.30 बजे कुर्सी पर बैठे एक यात्री ने अचानक चलती मालगाड़ी के नीचे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 01:30 PM IST

रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर बुधवार को शाम 4.30 बजे कुर्सी पर बैठे एक यात्री ने अचानक चलती मालगाड़ी के नीचे कूदकर आत्महत्या कर ली। यात्री छत्तीसगढ़ के जानकी जिले का रहने वाला बताया जा रहा है। उसके जेब से टिकट और मोबाइल नंबर के आधार पर इसकी पुष्टि हुई है। यात्री के पास पैसे नहीं थे। उसके पास चांपा से जम्मू कश्मीर का टिकट मिला है। जीआरपी पुलिस ने परिजनों को इसकी सूचना दे दी है। प्रत्यक्षथियों ने इस घटना वीडियो भी बताया। दरअसल हुआ यूं कि उक्त यात्री सीढ़ियों के पास कुर्सी पर चप्पल उतारकर बैठा था, इस बीच मालगाड़ी आई और खड़ी हो गई, मालगाड़ी पथरिया के लिए चलने लगी और उसके कुछ डिब्बे भी निकल गए। इस बीच अचानक यह यात्री अपनी कुर्सी से उठा और मालगाड़ी की ओर चल पड़ा, जब वह मालगाड़ी के पास पहुंचा तो सीधे पटरी के ऊपर कूद गया, उसके ऊपर से मालगाड़ी का पहिया निकल गया और शरीर दो टुकड़ों में बंट गया।

स्टेशन मास्टर एससी अग्रवाल ने तुरंत इसकी सूचना जीआरपी पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पड़ताल की तो उसके जेब में दो टिकट, एक गुटखा और एक मोबाइल नंबर लिखी पर्ची मिली। जेब में एक भी रुपया नहीं था। उसके बाए हाथ पर शत्रुधन लाल यादव लिखा हुआ था। जेब में मिली मोबाइल पर्ची पर फोन लगाने पर युवक छत्तीसगढ़ के जानकी जिले का रहने वाले बताया जा रहा है। लेकिन जीआरपी पुलिस इसकी पुष्टि नहीं कर रही है। आरक्षक विजय इवने ने बताया कि घटना शाम 4.30 बजे की है। मृतक के जेब में मिली पर्ची के आधार पर परिजनों को सूचना दे दी गई, लेकिन परिजनों की ओर से संपर्क नहीं किया जा रहा है। उसने बताया कि युवक ने मौत हुई है या उसने आत्महत्या की है, इसकी पुष्टि भी नहीं हो पा रही है। फिलहाल युवक का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। इससे पहले युवक जब मालगाड़ी के आगे कूदा तो यात्रियों ने उसे रोका, लेकिन जब तक लोग उसके पास पहुंचते काफी देर हो चुकी थी।

दमोह। रेलवे स्टेशन पर यात्री की ट्रेन से कटकर मौत हो गई। शरीर दो टुकड़ाें में बट गया।

दिव्यांग शिक्षक की सड़क हादसे में मौत

हटा| दिव्यांग शिक्षक का शव संदिग्ध हालत में मिला है। पुलिस ने मामला जांच में लिया है। उधर परिजनों द्वारा मौत हो संदिग्ध बताया गया है। जानकारी अनुसार हरदुआ उमराव में पदस्थ दाएं हाथ से दिव्यांग शिक्षक हरिया अहिरवार का शव हटा पन्ना मार्ग पर बुरी तरह क्षतविक्षिप्त अवस्था में मिला है। प्रथम दृष्टया देखने से लग रहा था कि किसी भारी वाहन की चपेट में आने से शिक्षक की मौत हुई है। बुधवार की सुबह 4 बजे गैसाबाद पुलिस को सकौर के कोटवार ने सूचना दी कि सकौर और सराफ चौपरा के पास किसी अज्ञात व्यक्ति का शव पड़ा हुआ है। गैसाबाद पुलिस ने मौके पर पहंुचकर घटना स्थल को सील कर दिन निकलने का इंतजार किया। सूर्योदय के साथ ही पुलिस ने पंचनामा कार्यवाही प्रारंभ कर शव को पंचनामा के लिए हटा भेजा। शव बुरी तरह से क्षत विक्षिप्त हो जाने के कारण उसकी पहचान नहीं हो पा रही थी। बाद में शव की पहचान रसोटा निवासी शिक्षक हरिया अहिरवार के रूप में हुई। शिक्षक को कपड़ा और कटे हुए हाथ से पहचाना गया। शव परीक्षण के दौरान पहंुचे मृतक के परिजन देवीलाल और देवकी अहिरवार ने बताया कि मृतक की मौत एक्सीटेंड नहीं है यह मौत संदिग्ध है, इसकी उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। मृतक की प|ी आरती अहिरवार ने बताया कि जब ये घर से निकले थे तो उनके पास मोबाइल, पेन, आधार कार्ड एवं नगद रूपए भी थे जो घटना स्थल पर नहीं मिले हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Damoh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×