Hindi News »Madhya Pradesh »Damoh» समाज का विघटन रोकने मीडिया की अहम भूमिका: सिंह

समाज का विघटन रोकने मीडिया की अहम भूमिका: सिंह

विश्व संवाद केंद्र के तत्वाधान में स्थानीय गायत्री शक्तिपीठ पीठ में नारद जयंती पर कार्यक्रम आयोजित किया गया।...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:10 AM IST

समाज का विघटन रोकने मीडिया की अहम भूमिका: सिंह
विश्व संवाद केंद्र के तत्वाधान में स्थानीय गायत्री शक्तिपीठ पीठ में नारद जयंती पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें शहर के मीडियाकर्मी मौजूद रहे। सभी ने देवऋषि नारदजी के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलन किया। मुख्य अतिथि वरिष्ठ पत्रकार नारायण सिंह, पंकज हर्ष श्रीवास्तव ने अपने उद्बोधन में सामाजिक विघटन रोकने के लिए पत्रकारों को अपनी भूमिका रखने तथा सामाजिक विघटन रोकने हेतु पत्रकारों को आगे आने कहा।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता भोपाल से आए माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के विभाग अध्यक्ष डॉ. श्रीकांत सिंह ने कहा कि नारद जी सच्चे संप्रेषक थे। सही बात को उचित व्यक्ति ओर उचित देवता तक पहुचाने का कार्य उन्होंने ने ही प्रारम्भ किया। नारदजी के जीवन चरित्र का चित्रण करते हुए कई प्रसंग बताए। उन्होंने उपस्थित मीडियाकर्मियों से कहा कि वर्तमान में चल रही सामाजिक विघ्टन की समस्या को रोकना सिर्फ पत्रकारों के बस की बात है। वे ही अपनी लेखनी के दम पर सामाजिक विखंडन को रोक सकते हैं।

समाज बंटा हुआ है उसे सिर्फ आपकी लेखनी ही संगठित कर सकती है। पत्रकारिता व्यवसाय बन कर न रह जाए पत्रकारों की कलम की ताकत देश की एकता अखंडता को बनाए रखना भी है। उन्होंने सामाजिक फूट डालने वाले लेख ओर समाचारों से बचने की अपेक्षा की।

कार्यक्रम में विश्व संवाद केंद्र के मुकेश चौरसिया ने मंच संचालन किया किया।मंचासीन अतिथियों का पुष्प हार से स्वागत संवाद केंद्र के रिंकेश साहू, सौरभ जैन, विक्रम साहू, नीरज विश्वकर्मा ने किया। विश्व संवाद केंद्र के एडवोकेट दीपक तिवारी विभाग प्रचार प्रमुख ने शहर के पत्रकारों का तिलक लगाकर एवं नारदजी का चित्र भेंट कर सम्मान किया।

आयोजन

गायत्री शक्तिपीठ में विश्व संवाद केंद्र दमोह द्वारा नारद जयंती मनाई गई

भास्कर संवाददाता | दमोह

विश्व संवाद केंद्र के तत्वाधान में स्थानीय गायत्री शक्तिपीठ पीठ में नारद जयंती पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें शहर के मीडियाकर्मी मौजूद रहे। सभी ने देवऋषि नारदजी के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलन किया। मुख्य अतिथि वरिष्ठ पत्रकार नारायण सिंह, पंकज हर्ष श्रीवास्तव ने अपने उद्बोधन में सामाजिक विघटन रोकने के लिए पत्रकारों को अपनी भूमिका रखने तथा सामाजिक विघटन रोकने हेतु पत्रकारों को आगे आने कहा।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता भोपाल से आए माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के विभाग अध्यक्ष डॉ. श्रीकांत सिंह ने कहा कि नारद जी सच्चे संप्रेषक थे। सही बात को उचित व्यक्ति ओर उचित देवता तक पहुचाने का कार्य उन्होंने ने ही प्रारम्भ किया। नारदजी के जीवन चरित्र का चित्रण करते हुए कई प्रसंग बताए। उन्होंने उपस्थित मीडियाकर्मियों से कहा कि वर्तमान में चल रही सामाजिक विघ्टन की समस्या को रोकना सिर्फ पत्रकारों के बस की बात है। वे ही अपनी लेखनी के दम पर सामाजिक विखंडन को रोक सकते हैं।

समाज बंटा हुआ है उसे सिर्फ आपकी लेखनी ही संगठित कर सकती है। पत्रकारिता व्यवसाय बन कर न रह जाए पत्रकारों की कलम की ताकत देश की एकता अखंडता को बनाए रखना भी है। उन्होंने सामाजिक फूट डालने वाले लेख ओर समाचारों से बचने की अपेक्षा की।

कार्यक्रम में विश्व संवाद केंद्र के मुकेश चौरसिया ने मंच संचालन किया किया।मंचासीन अतिथियों का पुष्प हार से स्वागत संवाद केंद्र के रिंकेश साहू, सौरभ जैन, विक्रम साहू, नीरज विश्वकर्मा ने किया। विश्व संवाद केंद्र के एडवोकेट दीपक तिवारी विभाग प्रचार प्रमुख ने शहर के पत्रकारों का तिलक लगाकर एवं नारदजी का चित्र भेंट कर सम्मान किया।

भास्कर संवाददाता | दमोह

विश्व संवाद केंद्र के तत्वाधान में स्थानीय गायत्री शक्तिपीठ पीठ में नारद जयंती पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें शहर के मीडियाकर्मी मौजूद रहे। सभी ने देवऋषि नारदजी के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलन किया। मुख्य अतिथि वरिष्ठ पत्रकार नारायण सिंह, पंकज हर्ष श्रीवास्तव ने अपने उद्बोधन में सामाजिक विघटन रोकने के लिए पत्रकारों को अपनी भूमिका रखने तथा सामाजिक विघटन रोकने हेतु पत्रकारों को आगे आने कहा।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता भोपाल से आए माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के विभाग अध्यक्ष डॉ. श्रीकांत सिंह ने कहा कि नारद जी सच्चे संप्रेषक थे। सही बात को उचित व्यक्ति ओर उचित देवता तक पहुचाने का कार्य उन्होंने ने ही प्रारम्भ किया। नारदजी के जीवन चरित्र का चित्रण करते हुए कई प्रसंग बताए। उन्होंने उपस्थित मीडियाकर्मियों से कहा कि वर्तमान में चल रही सामाजिक विघ्टन की समस्या को रोकना सिर्फ पत्रकारों के बस की बात है। वे ही अपनी लेखनी के दम पर सामाजिक विखंडन को रोक सकते हैं।

समाज बंटा हुआ है उसे सिर्फ आपकी लेखनी ही संगठित कर सकती है। पत्रकारिता व्यवसाय बन कर न रह जाए पत्रकारों की कलम की ताकत देश की एकता अखंडता को बनाए रखना भी है। उन्होंने सामाजिक फूट डालने वाले लेख ओर समाचारों से बचने की अपेक्षा की।

कार्यक्रम में विश्व संवाद केंद्र के मुकेश चौरसिया ने मंच संचालन किया किया।मंचासीन अतिथियों का पुष्प हार से स्वागत संवाद केंद्र के रिंकेश साहू, सौरभ जैन, विक्रम साहू, नीरज विश्वकर्मा ने किया। विश्व संवाद केंद्र के एडवोकेट दीपक तिवारी विभाग प्रचार प्रमुख ने शहर के पत्रकारों का तिलक लगाकर एवं नारदजी का चित्र भेंट कर सम्मान किया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Damoh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×