विज्ञापन

65 पद स्वीकृत; 12 प्रोफेसर, 37 अतिथि विद्वानों से चल रहा कॉलेज

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 03:15 AM IST

Damoh News - शहर के पीजी कॉलेज की नई बिल्डिंग का निर्माण होने के बाद भी कॉलेज को नए भवन में पूरे तरीके से शिफ्ट नहीं किया जा रहा...

Banwar,Tikamgarh News - mp news 65 posts sanctioned 12 professors 37 colleges running from scholars
  • comment
शहर के पीजी कॉलेज की नई बिल्डिंग का निर्माण होने के बाद भी कॉलेज को नए भवन में पूरे तरीके से शिफ्ट नहीं किया जा रहा है।

आज भी पुराने जीण-शीर्ण भवन में विभाग अौर क्लासें लगाई जा रही है, लेकिन कॉलेज प्रबंधन का कहना है कि नए भवन में विभाग स्थापित करने के साथ ही बीएससी की क्लासें लग रही है। वहीं काॅलेज में 65 पद स्वीकृत होने के बाद 12 प्रोफेसर और 37 अतिथि विद्वान के द्वारा कॉलेज में सेवाएं दी जा रही है।

पूर्व छात्रों के कड़े प्रयास के बाद कॉलेज के नवीन भवन के लिए जमीन आवंटित की गई थी। शासन से मंजूरी मिलने के बाद 26 फरवरी 2011 में उत्कृष्ट भवन एवं खेल परिसर के निर्माण के लिए शिलान्यास किया गया। जिसका निर्माण एमपी हाऊसिंग बोर्ड इंफ्रास्टेक्चर डेवल्पमेंट बोर्ड द्वारा निर्माण कार्य शुरू किया गया। तीन साल तक युद्ध स्तर पर चले निर्माण के बाद वर्ष 2014 में लगभग निर्माण पूरा किया जा चुका था। जिसके बाद 2015 में कॉलेज काे नए भवन में शिफ्ट करने की कवायद शुरूकर दी थी, लेकिन नए भवन में कमियां आने से शिफ्टिंग का काम रोक दिया था। जिसे अब पूरा किया जाने लगा है। पीजी कॉलेज प्रभारी प्राचार्य एमके नायक ने बताया कि कॉलेज में स्टाफ की कमी के चलते समस्या बनती है। कम स्टाफ के बाद भी छात्रों की शिक्षा को ध्यान में रखकर अच्छे से अच्छे प्रयास किए जाते है। स्टाफ के लिए उच्च शिक्षा विभाग को कई बार अवगत कराया जा चुका है। उन्होंने बताया कि बड़ौरा घाट के पास लाॅ कॉलेज के लिए 10 एकड़ जमीन चिंहित की गई है। जहां 6 करोड़ 50 लाख रूपए की लागत से निर्माण कार्य शुरू हो गया है।

पीजी के विभाग तालाब स्थित तालकोठी भवन में लगाए जाते है। छात्रों को टैगोर हॉल से विभाग हाॅल में जाने के लिए करीब एक किमी का सफर करना पड़ता है। तालकोठी में 9 विभाग बने हुए है। जिसमें विज्ञान प्रयोगशाला, भौतिक विभाग, रसायन विभाग, वनस्पति विभाग सहित अन्य विभाग बने हुए है। छात्रों को निजी कार्यों से विभाग के चक्कर लगाने पड़ते है। पीजी कॉलेज से तालकोठी तक आने-जाने की समस्या बनी रहती है। वहीं टैगोर हाॅल और तालकोठी में अलग-अलग विभाग स्थापित होने से परेशानी बनी रहती है। एक ही स्थान पर स्थापित हो जाए छात्रों को परेशानी नहीं होगी।

X
Banwar,Tikamgarh News - mp news 65 posts sanctioned 12 professors 37 colleges running from scholars
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन