पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जब धर्म की हानि हुई तब भगवन प्रकट होते हैं: शास्त्री

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

ग्राम सैलवाड़ा में साहू समाज के द्वारा कराई जा रही श्रीमद् भागवत महापुराण सप्ताह के छठवें दिन आचार्य अभिमन्यु कृष्ण के द्वारा कथा में बताया गया कि जब-जब धर्म की हानि होती है, जब जब सनातन धर्म पर अत्याचार होता है अधर्म बढ़ता है गो माता, संतो, ब्राम्हणों, भक्तों को संकट पहुंचाया जाता है तब भगवान प्रगट होते हैं। धर्म की रक्षा के लिए कृष्ण रूप में राम रूप में शिव रूप मे भगवान प्रकट हुए हैं भगवान ने इंद्र का मान किया, गोपियों के मनोरथ पूर्ण किया, महारास रचाया, कंस का मान मर्दन किया। गोपी उद्धव संवाद एवं रुक्मणि कृष्ण कथा काे विस्तार से बताया गया। धूम धाम से विवाह मंगल महोत्सव मनाया गया। जिसमें श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी।

तेंदूखेड़ा। श्रीमद् भागवत कथा में भगवान के रूपों कि कथा सुनते श्रद्धालु।
खबरें और भी हैं...