डीडीए: मिट्‌टी के सैंपलों की जांच की प्रक्रिया पर उठे सवाल, हिंडोरिया से ढाई हजार सैंपल ले लिए

Damoh News - प्राप्त जानकारी अनुसार मिट्‌टी परीक्षण प्रयोगशाला में एक सैंपल की 12 जांचें होती हैं। इसमें पीएच, ईसी, जैविक...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:30 AM IST
Damoh News - mp news dda questions raised on the process of investigation of soil samples took two and a half thousand samples from hindoria
प्राप्त जानकारी अनुसार मिट्‌टी परीक्षण प्रयोगशाला में एक सैंपल की 12 जांचें होती हैं। इसमें पीएच, ईसी, जैविक कार्बन, उपलब्ध नाइट्राेजन, फॉस्फोरस, पोटेशियम, सल्फर, जिंक, ऑयरन, मैंगनीज, कॉपर और बोरॉन कैमिकल्स की जांच शामिल होती है। एक सैंपल की जांच 2 साल तक मान्य होती है, इसके बाद किसानों को फिर से जांच करानी होती है। बताया जाता है कि दमोह में ब्लाक स्तर पर जांच के लिए प्रयोगशाला खोली गईं हैं, जिनमें बटियागढ़, पथरिया, जबेरा, तेंदूखेड़ा, हटा, पटेरा शामिल है। इन सभी लैबों में मिट्‌टी का परीक्षण किया जा रहा है, लेकिन इस बार शासन ने नियम में कुछ संशोधन किया है, पहले ब्लाक स्तर पर किसानों के सैंपल लिए जाते थे, लेकिन इस बार ब्लाक में केवल एक गांव से ही ढाई हजार से ज्यादा सैंपल लेने का काम किया जा रहा है। इस बार दमोह ब्लाक में दमोह के अलावा तेंदूखेड़ा ब्लाक के सैंपलों की जांच हो रही है। पिछली साल तेंदूखेड़ा लैब में लोकायुक्त की कार्रवाई के चलते स्टाफ हटा दिया गया, जिसके बाद दूसरा स्टाफ पदस्थ नहीं किया गया, जिसके चलते वहां के सैंपल भी जांच के लिए दमोह आ रहे हैं। इस संबंध में डीडीए आर शर्मा का कहना है कि ब्लाक स्तर पर सैंपल जांच के लिए चुने गए थे, जिसमें दमोह ब्लाक में सैंपल की जांच के लिए हिंडोरिया शामिल किया गया था। वहां के सैंपलों की जांच चल रही होगी, अभी रिपोर्ट मुझे नहीं मिली है। लक्ष्य के अलावा सैंपल की जांच कराने के शुल्क तय किए गए हैं। इसी शुल्क के हिसाब से राशि ली जाती है।

मिट्‌टी परीक्षण प्रयोगशाला में एक सैंपल की 12 जांचें होती हैं

X
Damoh News - mp news dda questions raised on the process of investigation of soil samples took two and a half thousand samples from hindoria
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना