• Hindi News
  • Mp
  • Damoh
  • Jabera News mp news even after getting the allotment guest teachers did not get honorarium for seven months

आवंटन मिलने के बाद भी सात माह से अतिथि शिक्षकों को नहीं मिला मानदेय

Damoh News - तेंदूखेड़ा संकुल के अंतर्गत आने वाले लगभग 400 अतिथि शिक्षकों एवं 700 अध्यापक संवर्ग का वेतन बाबू एवं बीईओ की लापरवाही...

Feb 15, 2020, 07:56 AM IST

तेंदूखेड़ा संकुल के अंतर्गत आने वाले लगभग 400 अतिथि शिक्षकों एवं 700 अध्यापक संवर्ग का वेतन बाबू एवं बीईओ की लापरवाही के कारण नहीं मिल पाया है। अतिथि शिक्षकों को पिछले 7 माह से वेतन नहीं मिला है, ऐसा नही है कि शासन की तरफ से वेतन का आवंटन नहीं है। अतिथि शिक्षकों का आरोप है कि बाबू सुरेंद्र जैन की लापरवाही और मनमानी किए जाने के कारण अतिथि शिक्षक बिना वेतन के अपनी सेवाएं देने को मजबूर हैं।

वेतन न मिलने की शिकायत अतिथि शिक्षकों ने जबेरा पूर्व विधायक प्रताप सिंह लोधी से की है। जिस पर पूर्व विधायक ने तत्काल ही बनवार में आयोजित कार्यक्रम आपकी सरकार आपके द्वार में डीईओ पीपी सिंह को सारे मामले से अवगत कराकर अतिथि शिक्षकों का वेतन जल्दी से भुगतान करने के लिए कहा है।

बीईओ ऑफिस से जानकारी लेने पर ज्ञात हुआ कि 12 जनवरी को ट्रेजरी में अतिथि शिक्षकों एवं अध्यापक संवर्ग का पैसा आ चुका था। लेकिन बाबू सुरेंद्र जैन ट्रेजरी के बाबू पर आश्रित होने एवं तकनीक का पूरा ज्ञान न होने से वेतन अटकाए रखा, वहीं बीईओ वीपी ठाकुर ने भी विशेष रूचि एवं जागरूकता नहीं दिखाई, जिससे अतिथि शिक्षकों का वेतन नहीं हो पाया। बाबू द्वारा समय से ट्रेजरी में बिल नहीं पहुंचाए गए थे। बिल जब पहुंचाया तब तक फंडिंंग खत्म हो चुकी थी बीईओ भी 10 जनवरी के भोपाल गए हैं जो अभी तक वापिस नहीं आए हैं जिससे फिर अतिथि शिक्षकों को आगामी समय तक वेतन के लिए इंतजार करना पड़ेगा। इसके पूर्व भी बाबू की लापरवाही के चलते अतिथि शिक्षकों का वेतन नहीं हो पाया था, जिसके विरोध में अतिथि शिक्षकों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर वेतन दिलाने की मांग की थी।

ब्लाॅक अध्यक्ष अतिथि शिक्षक संघ के सर्वेश गर्ग, गनेश ठाकुर, प्रदीप साहू, आशाराम यादव, अनुजा उपाध्याय, नीलू बिदुआ, पुखराज, अनिल साहू, दीपेश कटारे, मिनी जैन, भूपेंद्र सिंह, राहुल साहू आदि ने बताया कि पिछले 7 माह से हम लोग वेतन का इंतजार कर रहे हैं। बाबू हम लोगों के साथ ही समय पर वेतन न देकर अन्याय कर रहा है। हम सभी लोग दूसरे लोगों से उधार पैसा लेकर अपना घर चला रहे हैं।

इस संबंध में डीईटो पीपी सिंह का कहना है कि बाबू के द्वारा समय पर बिल जमा नहीं किया गया, जिस कारण से अतिथि शिक्षकों का वेतन नहीं हो पाया है। जल्दी ही भुगतान कराने का प्रयास करते हैं।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना