• Hindi News
  • Mp
  • Damoh
  • Hata News mp news examinations close students run away after raising the boundary walls of school

परीक्षाएं नजदीक, कक्षाएं न लगने से स्कूल की बाउंड्रीवॉल फांदकर भाग जाते हैं विद्यार्थी

Damoh News - एक तरफ जहां परीक्षाओं का समय आ गया है, वहीं दूसरी तरफ नगर के बड़े स्कूलों में अभी भी लगातार कालखंड न लगने से...

Feb 11, 2020, 07:36 AM IST
Hata News - mp news examinations close students run away after raising the boundary walls of school

एक तरफ जहां परीक्षाओं का समय आ गया है, वहीं दूसरी तरफ नगर के बड़े स्कूलों में अभी भी लगातार कालखंड न लगने से विद्यार्थी बीच समय से स्कूल से घर जाने के लिए मजबूर हो रहे हैं। एक बार स्कूल पहुंचकर पूरी छुट्टी के पहले वैधानिक तरीके से वापसी का रास्ता न होने पर वे उन रास्तों का इस्तेमाल कर रहे हैं जो गलत भी हैं और उपयोग के दौरान शारीरिक क्षति के हिसाब से खतरनाक भी हैं।

नगर के सबसे बड़े उत्कृष्ट विद्यालय में प्रार्थना के एक दो पीरियड बाद ही विद्यार्थियों की स्कूल से भागने की लाइन लग जाती है। हालांकि यहां प्राचार्य स्वयं मुख्य गेट पर कुर्सी डाल कर बैठ जाते हैं लेकिन बच्चों के स्कूल से भागने की ट्रिक पर लगाम नहीं लगा पाते हैं। यह बच्चे बाहर मैदान में निकलकर स्कूल के साइड वाले गेट पर चढ़कर उसे फांदकर नवोदय वाले रास्ते से निकल जाते हैं। इनके यहां से निकलकर जाने का एक और खतरनाक पहलू यह है कि इनमें से अधिकांश बच्चे पुराने छात्रावास की अत्यंत जर्जर बिल्डिंग में घुसे रहते हैं। जहां वे जहरीले जंतुओं या बिल्डिंग के किसी हिस्से के धसकने का शिकार हो सकते हैं, लेकिन 8 सीसीटीवी कैमरा से लैस परिसर, स्वयं प्राचार्य की मॉनिटरिंग के बाद भी बच्चों का क्रिकेट देखने मैदान में घंटे खड़े रहने के पीछे के कारणों का पता लगाने स्कूल प्रबंधन द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

कुछ छात्रों से पूछने पर बताया कि स्कूल में अभी भी प्रार्थना के समय तक सभी टीचर नहीं आते हैं। अक्सर ही शिक्षकों के छुट्टी पर रहने या अन्य काम मे व्यस्त रहने के कारण ही प्रतिदिन दो तीन पीरियड खाली रहते हैं। जिससे मानसिकता ही बदल जाती है। इतना ही नहीं कुछ शिक्षकों के तो महज 40 मिनट के कालखंड में ही कम से कम चार पांच फोन काल आ जाते हैं वे उन्हें अटैंड भी करते हैं। यही हाल शासकीय कन्या हायर सेकंडरी एमएलबी स्कूल का भी है। यहां भी स्कूल आकर बीच समय में चोरी छिपे रास्ते से घर के लिए भागना अधिकांश छात्राओं की मजबूरी है। यहां भी प्रार्थना के समय तक आधे से ज्यादा शिक्षक अनुपस्थित रहते हैं।

सभी शिक्षकों के आ जाने के बाद यहां मेन गेट को बंद कर दिया जाता है, लेकिन लड़कों को भी पीछे छोड़ती हुईं लड़कियां भी एमएलबी स्कूल के बाजू से स्थित मानस भवन के गेट को पार करते हुए दमोह-पन्ना मेनरोड पर आकर घर चली जाती हैं। यहां भी स्कूल प्रबंधन की मजबूरी यह है कि घर जाने वाली छात्राओं को मुख्य गेट से जाने से रोकने में तो कामयाबी मिल जाती है लेकिन लड़कियां पहले यहां मानस भवन रोड साइड वाले गेट को फांदकर रोड पर पहुंचकर अपने अपने घर की ओर निकल जाती हैं। यहां भी छात्राओं की वही शिकायत वही कि दिन भर के अधिकांश कालखंड खाली रहने के कारण उन्हें मजबूरी में घर जाना पड़ता है। हालांकि नगर के दोनों ही बड़े स्कूलों के विद्यार्थियों के अभिभावकों की गलती भी कम नहीं है जो समय पूर्व अपने बच्चों के घर आने का सही कारण पता नहीं करते। और पढ़ाई न होने पर स्कूल में कभी शिक्षकों से इस बावत कोई शिकायत करते हैं।

मैं स्वयं निगरानी करता हूं


माता-पिता काे बुलाकर देंगे समझाइश


हटा। स्कूल के बाजू में स्थित मानस भवन का गेट फांदकर घर जातीं छात्राएं।

X
Hata News - mp news examinations close students run away after raising the boundary walls of school

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना