केंद्रीय मंत्री और पीए के नाम से फर्जी कॉल के मामले में दूसरे दिन भी दर्ज नहीं हो पाई एफआईआर

Damoh News - 16 नवंबर 2019 को प्रकाशित खबर पुलिस बोली: कोर्ट फोटाे काॅपी नहीं मानती है बताया जाता है कि पुलिस इस मामले में स्वयं...

Nov 17, 2019, 07:32 AM IST
Damoh News - mp news fir not registered in second day in case of fake call in the name of union minister and pa
16 नवंबर 2019 को प्रकाशित खबर

पुलिस बोली: कोर्ट फोटाे काॅपी नहीं मानती है

बताया जाता है कि पुलिस इस मामले में स्वयं पार्टी बनना नहीं चाहती है। जिसने शिकायत दर्ज कराई है, उसे ही एफआईआर करना होगी। लेकिन तहसीलदार इसके लिए तैयार नहीं हैं। उनका कहना है कि उन्होंने शिकायत दे दी है, एफआईआर पुलिस स्वयं करें। पथरिया एसडीओपी उपाध्याय ने बताया कि कोर्ट में कोई भी मामला पेश करने के लिए ओरिजनल आवेदन लगाना पड़ता है। मैंने पूरी जांच कर ली है, अब एफआईआर होनी है, लेकिन दस्तावेज पर्याप्त नहीं है। मैंने एसपी कार्यालय से संपर्क करके तहसीलदार की ओर से की गई शिकायत के ओरिजनल दस्तावेज मांगे हैं, उनके आधार पर ही एफआईआर होगी। तहसीलदार जानकी उईके ने बताया कि उन्होंने शिकायत कर दी है, अब आवेदन नहीं दे सकते हैं। यह पुलिस का काम है, वह एफआईआर करे। अलग से आवेदन की कोई जरुरत नहीं होनी चाहिए।

आरोपी बेलखेड़ी निवासी मालिक और नौकर हैं

दरअसल तहसील कार्यालय बटियागढ़ में अटैच कार का भुगतान न होने पर मालिक और नौकर ने तहसीलदार जानकी उईके को केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल और उनका पीए बनकर बात की थी। जिसमें नौकर ने स्वयं को मंत्री का पीए बताया और मालिक स्वयं के लिए केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल बता रहा था। मामला संदिग्ध लगने पर तहसीलदार ने पूरे मामले की शिकायत केंद्रीय मंत्री कार्यालय और एसपी कार्यालय में दी थी। जिसपर एसपी ने जांच के आदेश दिए थे। जांच में आरोपी की पहचान बेलखेड़ी निवासी मालिक और नौकर के रूप में हुई है। लेकिन अभी तक मामले में कई तरह के पेंच होने के कारण एफआईआर नहीं हो पाई है।

X
Damoh News - mp news fir not registered in second day in case of fake call in the name of union minister and pa
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना