रिश्वत लेने एवं देने वाले और गैर कानूनी गतिविधि में लिप्त मिलने पर एफआईआर दर्ज की जाएगी : कलेक्टर

Damoh News - लोकसभा निर्वाचन के लिए गठित उड़न दस्ता दल और वीडियो निगरानी दल को कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 03:15 AM IST
Damoh News - mp news fir will be registered on taking and receiving bribe and indulging in illegal activities collector
लोकसभा निर्वाचन के लिए गठित उड़न दस्ता दल और वीडियो निगरानी दल को कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार सिंह ने निर्देशित किया है कि लोकसभा निर्वाचन की घोषणा के बाद आयोग के दिशा निर्देशानुसार वे अपने क्षेत्र में लाई जाने वाली नगदी, अवैध शराब, कोई संदेहास्पद वस्तु या शस्त्रों इत्यादि की आवाजाही पर निगरानी की कार्यवाही करेगें। प्रत्येक उड़नदस्ता टीम कैश या अन्य आयटम की जब्ती की रिपोर्ट निर्धारित प्रपत्र में प्रतिदिन रिटर्निंग आफिसर एवं एसपी को प्रस्तुत करेगें।

उन्होंने उड़न दस्ता दल के लिए सौंपे गए दायित्व में यथा उड़न दस्ता आदर्श आचार-संहिता के उल्लघंनों और संबद्ध शिकायतों के सभी मामलों पर कार्यवाही करेगा, डराने, धमकाने, असामाजिक तत्वों, शराब, हथियार एवं गोला-बारूद तथा निर्वाचकों को रिश्वत देने के प्रयोजनार्थ नकदी को लाने ले जाने आदि की सभी शिकायतों पर कार्यवाही करेगा, और अभ्यार्थियों राजनैतिक दल द्वारा उपगत या अधिकृत निर्वाचन संबंधी सभी शिकायतों पर कार्यवाही करेगा। उन्होंने कहा आयोग द्वारा निर्वाचन की घोषणा किए जाने के बाद राजनैतिक दलों द्वारा की जाने वाली प्रमुख रैलियों, सार्वजनिक बैठकों या अन्य बड़े खर्चों की वीडियो निगरानी दल की सहायता से वीडियोग्राफी करेंगे।

उन्होंने निर्देशित किया है व्यय संवेदनशील निर्वाचन-क्षेत्रों में जरूरत के आधार पर अधिक उड़न दस्ते होगें। इस अवधि के दौरान उड़न दस्ते को और कोई कार्य नहीं दिया जाएगा। उड़न दस्ते के अध्यक्ष के तौर पर मजिस्ट्रेट और उड़न दस्ते के अन्य कर्मचारियों के नाम और मोबाइल नंबर शिकायत अनुवीक्षण नियंत्रण कक्ष एवं काल सेंटर, आरओ, डीइओ, सामान्य प्रेक्षक, पुलिस प्रेक्षक, व्यय प्रेक्षक एवं सहायक व्यय प्रेक्षक को उपलब्ध कराए गए हैं। व्यय संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्रों में केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल या राज्य सशस्त्र पुलिस को परिस्थिति के आधार पर उड़न दस्ते में शामिल किया जा सकता है और डीईओ इस संबंध में जरूरी कदम उठाएंगें। डीईओ उड़न दस्ते में सिद्ध सत्य निष्ठा के अधिकारियों को शामिल करेगें।

जब कभी भी नकदी या शराब या रिश्वत की कोई अन्य वस्तु के वितरण के संबंध में या असामाजिक तत्वों या हथियारों और गोला बारूद के लाने और ले जाने के संबंध में कोई शिकायत प्राप्त होती है, तो उड़न दस्ता मौके पर तत्काल पहुंचेगा। उड़न दस्ता रिश्वत की वस्तुओं या अन्य गैर कानूनी वस्तुओं को जब्त करेगा और साक्ष्य एकत्रित करेगा और गवाहों एवं ऐसे व्यक्तियों के बयान को रिकार्ड करेगा जिनसे वस्तुएं जब्त की गई है। फार्मेट के अनुसार एसपी को दैनिक कार्यकलाप रिपोर्ट भेजेगा और उसकी प्रति आरओ, डीईओ और व्यय प्रेक्षक को भेजेगा।

इसके अलावा पुलिस मुख्यालयों के नोडल अधिकारी जिले की ऐसी सभी रिपोर्टों का संकलन करेंगें और उसी फार्मेट में फैक्स ई-मेल के द्वारा अगले दिन आयोग को एक समेकित रिपोर्ट भेजेंगें और उसकी प्रति राज्य मुख्य निर्वाचन अधिकारी को भी भेजेगें। संपूर्ण कार्यवाही की वीडियो रिकार्डिंग की जाएगी। रिटर्निंग अधिकारी या उनके द्वारा अधिकृत कोई अन्य अधिकारी रिश्वत लेने एवं देने वाले व्यक्तियों, ऐसे अन्य व्यक्ति जिनसे निषिद्ध वस्तुएं जब्त की गई है या ऐसे अन्य व्यक्ति जो गैर कानूनी गतिविधि में लिप्त पाए गए हैं उनके विरूद्ध शिकायतें एफआईआर दर्ज करेगें।

भास्कर संवाददाता | दमोह

लोकसभा निर्वाचन के लिए गठित उड़न दस्ता दल और वीडियो निगरानी दल को कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार सिंह ने निर्देशित किया है कि लोकसभा निर्वाचन की घोषणा के बाद आयोग के दिशा निर्देशानुसार वे अपने क्षेत्र में लाई जाने वाली नगदी, अवैध शराब, कोई संदेहास्पद वस्तु या शस्त्रों इत्यादि की आवाजाही पर निगरानी की कार्यवाही करेगें। प्रत्येक उड़नदस्ता टीम कैश या अन्य आयटम की जब्ती की रिपोर्ट निर्धारित प्रपत्र में प्रतिदिन रिटर्निंग आफिसर एवं एसपी को प्रस्तुत करेगें।

उन्होंने उड़न दस्ता दल के लिए सौंपे गए दायित्व में यथा उड़न दस्ता आदर्श आचार-संहिता के उल्लघंनों और संबद्ध शिकायतों के सभी मामलों पर कार्यवाही करेगा, डराने, धमकाने, असामाजिक तत्वों, शराब, हथियार एवं गोला-बारूद तथा निर्वाचकों को रिश्वत देने के प्रयोजनार्थ नकदी को लाने ले जाने आदि की सभी शिकायतों पर कार्यवाही करेगा, और अभ्यार्थियों राजनैतिक दल द्वारा उपगत या अधिकृत निर्वाचन संबंधी सभी शिकायतों पर कार्यवाही करेगा। उन्होंने कहा आयोग द्वारा निर्वाचन की घोषणा किए जाने के बाद राजनैतिक दलों द्वारा की जाने वाली प्रमुख रैलियों, सार्वजनिक बैठकों या अन्य बड़े खर्चों की वीडियो निगरानी दल की सहायता से वीडियोग्राफी करेंगे।

उन्होंने निर्देशित किया है व्यय संवेदनशील निर्वाचन-क्षेत्रों में जरूरत के आधार पर अधिक उड़न दस्ते होगें। इस अवधि के दौरान उड़न दस्ते को और कोई कार्य नहीं दिया जाएगा। उड़न दस्ते के अध्यक्ष के तौर पर मजिस्ट्रेट और उड़न दस्ते के अन्य कर्मचारियों के नाम और मोबाइल नंबर शिकायत अनुवीक्षण नियंत्रण कक्ष एवं काल सेंटर, आरओ, डीइओ, सामान्य प्रेक्षक, पुलिस प्रेक्षक, व्यय प्रेक्षक एवं सहायक व्यय प्रेक्षक को उपलब्ध कराए गए हैं। व्यय संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्रों में केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल या राज्य सशस्त्र पुलिस को परिस्थिति के आधार पर उड़न दस्ते में शामिल किया जा सकता है और डीईओ इस संबंध में जरूरी कदम उठाएंगें। डीईओ उड़न दस्ते में सिद्ध सत्य निष्ठा के अधिकारियों को शामिल करेगें।

जब कभी भी नकदी या शराब या रिश्वत की कोई अन्य वस्तु के वितरण के संबंध में या असामाजिक तत्वों या हथियारों और गोला बारूद के लाने और ले जाने के संबंध में कोई शिकायत प्राप्त होती है, तो उड़न दस्ता मौके पर तत्काल पहुंचेगा। उड़न दस्ता रिश्वत की वस्तुओं या अन्य गैर कानूनी वस्तुओं को जब्त करेगा और साक्ष्य एकत्रित करेगा और गवाहों एवं ऐसे व्यक्तियों के बयान को रिकार्ड करेगा जिनसे वस्तुएं जब्त की गई है। फार्मेट के अनुसार एसपी को दैनिक कार्यकलाप रिपोर्ट भेजेगा और उसकी प्रति आरओ, डीईओ और व्यय प्रेक्षक को भेजेगा।

इसके अलावा पुलिस मुख्यालयों के नोडल अधिकारी जिले की ऐसी सभी रिपोर्टों का संकलन करेंगें और उसी फार्मेट में फैक्स ई-मेल के द्वारा अगले दिन आयोग को एक समेकित रिपोर्ट भेजेंगें और उसकी प्रति राज्य मुख्य निर्वाचन अधिकारी को भी भेजेगें। संपूर्ण कार्यवाही की वीडियो रिकार्डिंग की जाएगी। रिटर्निंग अधिकारी या उनके द्वारा अधिकृत कोई अन्य अधिकारी रिश्वत लेने एवं देने वाले व्यक्तियों, ऐसे अन्य व्यक्ति जिनसे निषिद्ध वस्तुएं जब्त की गई है या ऐसे अन्य व्यक्ति जो गैर कानूनी गतिविधि में लिप्त पाए गए हैं उनके विरूद्ध शिकायतें एफआईआर दर्ज करेगें।

भास्कर संवाददाता | दमोह

लोकसभा निर्वाचन के लिए गठित उड़न दस्ता दल और वीडियो निगरानी दल को कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार सिंह ने निर्देशित किया है कि लोकसभा निर्वाचन की घोषणा के बाद आयोग के दिशा निर्देशानुसार वे अपने क्षेत्र में लाई जाने वाली नगदी, अवैध शराब, कोई संदेहास्पद वस्तु या शस्त्रों इत्यादि की आवाजाही पर निगरानी की कार्यवाही करेगें। प्रत्येक उड़नदस्ता टीम कैश या अन्य आयटम की जब्ती की रिपोर्ट निर्धारित प्रपत्र में प्रतिदिन रिटर्निंग आफिसर एवं एसपी को प्रस्तुत करेगें।

उन्होंने उड़न दस्ता दल के लिए सौंपे गए दायित्व में यथा उड़न दस्ता आदर्श आचार-संहिता के उल्लघंनों और संबद्ध शिकायतों के सभी मामलों पर कार्यवाही करेगा, डराने, धमकाने, असामाजिक तत्वों, शराब, हथियार एवं गोला-बारूद तथा निर्वाचकों को रिश्वत देने के प्रयोजनार्थ नकदी को लाने ले जाने आदि की सभी शिकायतों पर कार्यवाही करेगा, और अभ्यार्थियों राजनैतिक दल द्वारा उपगत या अधिकृत निर्वाचन संबंधी सभी शिकायतों पर कार्यवाही करेगा। उन्होंने कहा आयोग द्वारा निर्वाचन की घोषणा किए जाने के बाद राजनैतिक दलों द्वारा की जाने वाली प्रमुख रैलियों, सार्वजनिक बैठकों या अन्य बड़े खर्चों की वीडियो निगरानी दल की सहायता से वीडियोग्राफी करेंगे।

उन्होंने निर्देशित किया है व्यय संवेदनशील निर्वाचन-क्षेत्रों में जरूरत के आधार पर अधिक उड़न दस्ते होगें। इस अवधि के दौरान उड़न दस्ते को और कोई कार्य नहीं दिया जाएगा। उड़न दस्ते के अध्यक्ष के तौर पर मजिस्ट्रेट और उड़न दस्ते के अन्य कर्मचारियों के नाम और मोबाइल नंबर शिकायत अनुवीक्षण नियंत्रण कक्ष एवं काल सेंटर, आरओ, डीइओ, सामान्य प्रेक्षक, पुलिस प्रेक्षक, व्यय प्रेक्षक एवं सहायक व्यय प्रेक्षक को उपलब्ध कराए गए हैं। व्यय संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्रों में केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल या राज्य सशस्त्र पुलिस को परिस्थिति के आधार पर उड़न दस्ते में शामिल किया जा सकता है और डीईओ इस संबंध में जरूरी कदम उठाएंगें। डीईओ उड़न दस्ते में सिद्ध सत्य निष्ठा के अधिकारियों को शामिल करेगें।

जब कभी भी नकदी या शराब या रिश्वत की कोई अन्य वस्तु के वितरण के संबंध में या असामाजिक तत्वों या हथियारों और गोला बारूद के लाने और ले जाने के संबंध में कोई शिकायत प्राप्त होती है, तो उड़न दस्ता मौके पर तत्काल पहुंचेगा। उड़न दस्ता रिश्वत की वस्तुओं या अन्य गैर कानूनी वस्तुओं को जब्त करेगा और साक्ष्य एकत्रित करेगा और गवाहों एवं ऐसे व्यक्तियों के बयान को रिकार्ड करेगा जिनसे वस्तुएं जब्त की गई है। फार्मेट के अनुसार एसपी को दैनिक कार्यकलाप रिपोर्ट भेजेगा और उसकी प्रति आरओ, डीईओ और व्यय प्रेक्षक को भेजेगा।

इसके अलावा पुलिस मुख्यालयों के नोडल अधिकारी जिले की ऐसी सभी रिपोर्टों का संकलन करेंगें और उसी फार्मेट में फैक्स ई-मेल के द्वारा अगले दिन आयोग को एक समेकित रिपोर्ट भेजेंगें और उसकी प्रति राज्य मुख्य निर्वाचन अधिकारी को भी भेजेगें। संपूर्ण कार्यवाही की वीडियो रिकार्डिंग की जाएगी। रिटर्निंग अधिकारी या उनके द्वारा अधिकृत कोई अन्य अधिकारी रिश्वत लेने एवं देने वाले व्यक्तियों, ऐसे अन्य व्यक्ति जिनसे निषिद्ध वस्तुएं जब्त की गई है या ऐसे अन्य व्यक्ति जो गैर कानूनी गतिविधि में लिप्त पाए गए हैं उनके विरूद्ध शिकायतें एफआईआर दर्ज करेगें।

भास्कर संवाददाता | दमोह

लोकसभा निर्वाचन के लिए गठित उड़न दस्ता दल और वीडियो निगरानी दल को कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार सिंह ने निर्देशित किया है कि लोकसभा निर्वाचन की घोषणा के बाद आयोग के दिशा निर्देशानुसार वे अपने क्षेत्र में लाई जाने वाली नगदी, अवैध शराब, कोई संदेहास्पद वस्तु या शस्त्रों इत्यादि की आवाजाही पर निगरानी की कार्यवाही करेगें। प्रत्येक उड़नदस्ता टीम कैश या अन्य आयटम की जब्ती की रिपोर्ट निर्धारित प्रपत्र में प्रतिदिन रिटर्निंग आफिसर एवं एसपी को प्रस्तुत करेगें।

उन्होंने उड़न दस्ता दल के लिए सौंपे गए दायित्व में यथा उड़न दस्ता आदर्श आचार-संहिता के उल्लघंनों और संबद्ध शिकायतों के सभी मामलों पर कार्यवाही करेगा, डराने, धमकाने, असामाजिक तत्वों, शराब, हथियार एवं गोला-बारूद तथा निर्वाचकों को रिश्वत देने के प्रयोजनार्थ नकदी को लाने ले जाने आदि की सभी शिकायतों पर कार्यवाही करेगा, और अभ्यार्थियों राजनैतिक दल द्वारा उपगत या अधिकृत निर्वाचन संबंधी सभी शिकायतों पर कार्यवाही करेगा। उन्होंने कहा आयोग द्वारा निर्वाचन की घोषणा किए जाने के बाद राजनैतिक दलों द्वारा की जाने वाली प्रमुख रैलियों, सार्वजनिक बैठकों या अन्य बड़े खर्चों की वीडियो निगरानी दल की सहायता से वीडियोग्राफी करेंगे।

उन्होंने निर्देशित किया है व्यय संवेदनशील निर्वाचन-क्षेत्रों में जरूरत के आधार पर अधिक उड़न दस्ते होगें। इस अवधि के दौरान उड़न दस्ते को और कोई कार्य नहीं दिया जाएगा। उड़न दस्ते के अध्यक्ष के तौर पर मजिस्ट्रेट और उड़न दस्ते के अन्य कर्मचारियों के नाम और मोबाइल नंबर शिकायत अनुवीक्षण नियंत्रण कक्ष एवं काल सेंटर, आरओ, डीइओ, सामान्य प्रेक्षक, पुलिस प्रेक्षक, व्यय प्रेक्षक एवं सहायक व्यय प्रेक्षक को उपलब्ध कराए गए हैं। व्यय संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्रों में केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल या राज्य सशस्त्र पुलिस को परिस्थिति के आधार पर उड़न दस्ते में शामिल किया जा सकता है और डीईओ इस संबंध में जरूरी कदम उठाएंगें। डीईओ उड़न दस्ते में सिद्ध सत्य निष्ठा के अधिकारियों को शामिल करेगें।

जब कभी भी नकदी या शराब या रिश्वत की कोई अन्य वस्तु के वितरण के संबंध में या असामाजिक तत्वों या हथियारों और गोला बारूद के लाने और ले जाने के संबंध में कोई शिकायत प्राप्त होती है, तो उड़न दस्ता मौके पर तत्काल पहुंचेगा। उड़न दस्ता रिश्वत की वस्तुओं या अन्य गैर कानूनी वस्तुओं को जब्त करेगा और साक्ष्य एकत्रित करेगा और गवाहों एवं ऐसे व्यक्तियों के बयान को रिकार्ड करेगा जिनसे वस्तुएं जब्त की गई है। फार्मेट के अनुसार एसपी को दैनिक कार्यकलाप रिपोर्ट भेजेगा और उसकी प्रति आरओ, डीईओ और व्यय प्रेक्षक को भेजेगा।

इसके अलावा पुलिस मुख्यालयों के नोडल अधिकारी जिले की ऐसी सभी रिपोर्टों का संकलन करेंगें और उसी फार्मेट में फैक्स ई-मेल के द्वारा अगले दिन आयोग को एक समेकित रिपोर्ट भेजेंगें और उसकी प्रति राज्य मुख्य निर्वाचन अधिकारी को भी भेजेगें। संपूर्ण कार्यवाही की वीडियो रिकार्डिंग की जाएगी। रिटर्निंग अधिकारी या उनके द्वारा अधिकृत कोई अन्य अधिकारी रिश्वत लेने एवं देने वाले व्यक्तियों, ऐसे अन्य व्यक्ति जिनसे निषिद्ध वस्तुएं जब्त की गई है या ऐसे अन्य व्यक्ति जो गैर कानूनी गतिविधि में लिप्त पाए गए हैं उनके विरूद्ध शिकायतें एफआईआर दर्ज करेगें।

भास्कर संवाददाता | दमोह

लोकसभा निर्वाचन के लिए गठित उड़न दस्ता दल और वीडियो निगरानी दल को कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार सिंह ने निर्देशित किया है कि लोकसभा निर्वाचन की घोषणा के बाद आयोग के दिशा निर्देशानुसार वे अपने क्षेत्र में लाई जाने वाली नगदी, अवैध शराब, कोई संदेहास्पद वस्तु या शस्त्रों इत्यादि की आवाजाही पर निगरानी की कार्यवाही करेगें। प्रत्येक उड़नदस्ता टीम कैश या अन्य आयटम की जब्ती की रिपोर्ट निर्धारित प्रपत्र में प्रतिदिन रिटर्निंग आफिसर एवं एसपी को प्रस्तुत करेगें।

उन्होंने उड़न दस्ता दल के लिए सौंपे गए दायित्व में यथा उड़न दस्ता आदर्श आचार-संहिता के उल्लघंनों और संबद्ध शिकायतों के सभी मामलों पर कार्यवाही करेगा, डराने, धमकाने, असामाजिक तत्वों, शराब, हथियार एवं गोला-बारूद तथा निर्वाचकों को रिश्वत देने के प्रयोजनार्थ नकदी को लाने ले जाने आदि की सभी शिकायतों पर कार्यवाही करेगा, और अभ्यार्थियों राजनैतिक दल द्वारा उपगत या अधिकृत निर्वाचन संबंधी सभी शिकायतों पर कार्यवाही करेगा। उन्होंने कहा आयोग द्वारा निर्वाचन की घोषणा किए जाने के बाद राजनैतिक दलों द्वारा की जाने वाली प्रमुख रैलियों, सार्वजनिक बैठकों या अन्य बड़े खर्चों की वीडियो निगरानी दल की सहायता से वीडियोग्राफी करेंगे।

उन्होंने निर्देशित किया है व्यय संवेदनशील निर्वाचन-क्षेत्रों में जरूरत के आधार पर अधिक उड़न दस्ते होगें। इस अवधि के दौरान उड़न दस्ते को और कोई कार्य नहीं दिया जाएगा। उड़न दस्ते के अध्यक्ष के तौर पर मजिस्ट्रेट और उड़न दस्ते के अन्य कर्मचारियों के नाम और मोबाइल नंबर शिकायत अनुवीक्षण नियंत्रण कक्ष एवं काल सेंटर, आरओ, डीइओ, सामान्य प्रेक्षक, पुलिस प्रेक्षक, व्यय प्रेक्षक एवं सहायक व्यय प्रेक्षक को उपलब्ध कराए गए हैं। व्यय संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्रों में केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल या राज्य सशस्त्र पुलिस को परिस्थिति के आधार पर उड़न दस्ते में शामिल किया जा सकता है और डीईओ इस संबंध में जरूरी कदम उठाएंगें। डीईओ उड़न दस्ते में सिद्ध सत्य निष्ठा के अधिकारियों को शामिल करेगें।

जब कभी भी नकदी या शराब या रिश्वत की कोई अन्य वस्तु के वितरण के संबंध में या असामाजिक तत्वों या हथियारों और गोला बारूद के लाने और ले जाने के संबंध में कोई शिकायत प्राप्त होती है, तो उड़न दस्ता मौके पर तत्काल पहुंचेगा। उड़न दस्ता रिश्वत की वस्तुओं या अन्य गैर कानूनी वस्तुओं को जब्त करेगा और साक्ष्य एकत्रित करेगा और गवाहों एवं ऐसे व्यक्तियों के बयान को रिकार्ड करेगा जिनसे वस्तुएं जब्त की गई है। फार्मेट के अनुसार एसपी को दैनिक कार्यकलाप रिपोर्ट भेजेगा और उसकी प्रति आरओ, डीईओ और व्यय प्रेक्षक को भेजेगा।

इसके अलावा पुलिस मुख्यालयों के नोडल अधिकारी जिले की ऐसी सभी रिपोर्टों का संकलन करेंगें और उसी फार्मेट में फैक्स ई-मेल के द्वारा अगले दिन आयोग को एक समेकित रिपोर्ट भेजेंगें और उसकी प्रति राज्य मुख्य निर्वाचन अधिकारी को भी भेजेगें। संपूर्ण कार्यवाही की वीडियो रिकार्डिंग की जाएगी। रिटर्निंग अधिकारी या उनके द्वारा अधिकृत कोई अन्य अधिकारी रिश्वत लेने एवं देने वाले व्यक्तियों, ऐसे अन्य व्यक्ति जिनसे निषिद्ध वस्तुएं जब्त की गई है या ऐसे अन्य व्यक्ति जो गैर कानूनी गतिविधि में लिप्त पाए गए हैं उनके विरूद्ध शिकायतें एफआईआर दर्ज करेगें।

X
Damoh News - mp news fir will be registered on taking and receiving bribe and indulging in illegal activities collector
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना