हटा में रोज 25 क्विंटल दूध की खपत पर शुद्धता की गारंटी नहीं

Damoh News - दुग्ध उत्पाद दही, पनीर, घी, खोवा आदि को सरकार द्वारा आवश्यक वस्तुओं की सूची में शामिल किया जा चुका है। इसके बावजूद...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:40 AM IST
Hata News - mp news no guarantee of purity on consumption of 25 quintals of milk daily in removable
दुग्ध उत्पाद दही, पनीर, घी, खोवा आदि को सरकार द्वारा आवश्यक वस्तुओं की सूची में शामिल किया जा चुका है। इसके बावजूद भी नगर और आसपास के क्षेत्रों में अच्छे दूध के दाम 50 से 60 रुपए लीटर तक हैं। शहर में अधिकांश जगह 40 रुपए लीटर दूध का दाम चलन में है लेकिन उसकी गुणवत्ता पर विक्रेता के सामने सवाल नहीं उठाया जा सकता है।

गौरतलब है कि दूध में पानी मिलाना हर किसी के जेहन में होता है। चाहे छोटे डेयरी संचालक हो या बड़े कारोबारी हर कोई दूध में पानी की परंपरा से अछूता नहीं है। एक तरह से यह स्वभाव में शामिल है। इसके बावजूद लगातार दामों में इजाफा और ज्यादा मुनाफाखोरी पर लगाम नहीं कही जा रही है। दूध विक्रेता पानी की मिलावट कर तगड़ा मुनाफा कमा रहे हैं इस पर प्रशासन की अनभिज्ञता का खामियाजा आम जन को भुगतना पड़ रहा है। गर्मी के मौसम में दूध और उसे बने पदार्थों की मांग बढ़ जाती है। जिससे जानवरों में भी गर्मी की वजह से दूध देने की क्षमता कम हो जाती है। जिससे दूध का कारोबार करने वाले लोग मिलावटी दूध बेचते हैं। आम दिनों की अपेक्षा गर्मी में मांग के कारण लोग आवश्यकता के चलते दुकानदारों और दूध डेयरी संचालकों से ज्यादा सवाल नहीं कर पाते हैं। सूत्रों के अनुसार दूध में पानी मिलाकर भी गाढ़ा बनाया जाता हैं। इसके लिए सिंघाड़े का आटा और अरारोट आदि का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा दूध में ये पदार्थ डालने से गाढ़ापन आ जाता है। ग्राहक इस धोखे में रहता है कि उसे शुद्ध दूध मिल रहा है।

दमोह। दुकानों का निरीक्षण कर सेंपल लेते अधिकारी राकेश कुमार अहिरवार।

खाद्य दुकानों का निरीक्षण कर सेवाइयां के नमूने लिए

दमोह। खाद्य सुरक्षा अधिकारी राकेश कुमार अहिरवाल ने निरीक्षण कर कंपनी पैक्ड सेवाइयां के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे। कार्यवाही में मेसर्स आशीर्वाद ट्रेडर्स की थोक खाद्य दुकान का निरीक्षण किया गया एवं कंपनी पैक्ड सेवाइयां का नमूना लिया गया। जांच रिपोर्ट प्राप्त होने पर अगर खाद्य पदार्थों के नमूने मानक स्तर के नहीं पाए जाते हैं तो इस संबंध में खाद्य विक्रेता एवं निर्माता कंपनी पर कार्रवाई की जाएगी। खाद्य प्रतिष्ठान का फोस्कोरिस एप्प की सहायता से ऑनलाइन निरीक्षण भी किया गया।

ऐसे करें दुध की पहचान

थाली को उल्टा कर दूध की दो बूंद तली पर रखें, धीमें से थाली को झुकाए, यदि दुध लाइन छोड़ते हुए नीचे आता है तो सही है, यदि पीलापन है तो सिंथेटिक है और एक साथ नीचे की ओर आ जाता है तो दूध से क्रीम निकाली गई है। इस संबंध में जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी राकेश अहिरवार का कहना है कि विभाग द्वारा समय-समय पर दूध की जांच की जाती है। दूध के अनेक सेंपल लेकर भोपाल भेजे गए हैं, रिपोर्ट में गड़बड़ी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।

Hata News - mp news no guarantee of purity on consumption of 25 quintals of milk daily in removable
X
Hata News - mp news no guarantee of purity on consumption of 25 quintals of milk daily in removable
Hata News - mp news no guarantee of purity on consumption of 25 quintals of milk daily in removable
COMMENT