• Hindi News
  • Mp
  • Damoh
  • Damoh News mp news no seriousness in nss camp three students stay someday five someday matter reached to commissioner

एनएसएस शिविर में नहीं दिखाई गंभीरता, किसी दिन तीन छात्र ठहरे तो किसी दिन पांच, आयुक्त तक पहुंचा मामला

Damoh News - पथरिया कॉलेज की ओर से ग्राम बांसा में लगाया गया राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) शिविर अब रस्मअदायगी में सिमट कर रह...

Feb 16, 2020, 07:10 AM IST

पथरिया कॉलेज की ओर से ग्राम बांसा में लगाया गया राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) शिविर अब रस्मअदायगी में सिमट कर रह गया है। शिविर में किसी दिन चार बच्चे तो किसी दिन बच्चे रात में रूक रहे हैं। न प्रभारी का पता है और न ही व्यवस्थापक का। ऐसे में न शिविर का लक्ष्य पूरा हो पाया और न ही छात्रों को इससे कुछ सीखने को मिला।

दरअसल इस योजना के तहत छात्रों को जोड़कर उन्हें राष्ट्रीय सेवा का संदेश दिया जाता है। जिसमें छात्र शामिल होेकर ग्रामीण अंचलों में विभिन्न योजनाओं का प्रचार-प्रसार करते हैं और विकास कार्यों में सहभागिता निभाते हैं। कॉलेज की प्रबंधन की बांसा में 10 फरवरी को शिविर का आयोजन किया गया था। इसकी जिम्मेदारी सहायक प्रध्यापक अवधेश प्रताप सिंह को सौंपी गई थी, लेकिन शिविर में गंभीरता न दिखाई जाने की वजह से प्रभारी प्राचार्य बीएल अहिरवार ने नोटिस भी जारी किया था। उन्होंने नोटिस की प्रति उच्च शिक्षा विभाग के आयुक्त के पास तक भेजी है, ताकि व्यवस्थाओं में सुधार हो, लेकिन इसके बाद भी कोई सुधार नहीं हुआ। पूरा शिविर खानापूर्ति में चल रहा है। शिविर की पड़ताल की गई तो शुक्रवार को रात को तीन छात्र ठहरे थे, जबकि शनिवार को शिविर में पांच छात्र देखे गए। इसके अलावा कोई भी मौजूद नहीं था। जबकि इसकी जिम्मेदारी व्यवस्थापक की थी, यदि रात में छात्रों को कुछ हो जाता है तो इसकी जिम्मेदारी लेने वाला कोई नहीं है।

सभी को ठहरने की जिम्मेदारी : छात्रों का कहना था कि सभी को रात में ठहरने की जिम्मेदारी दी गई थी, लेकिन बाकी साथी आसपास के होने की वजह से अपने-अपने घर चले गए हैं। इसलिए हम पांचों ही बचे रह गए हैं। बताया जाता है कि शिविर 10 फरवरी से 16 फरवरी तक संचालित किया जाना था, लेकिन बड़े स्तर पर एक भी काम नहीं किया गया। इस संबंध में वरिष्ठ प्राध्यापक बीएल अहिरवार का मानना है कि इस संबंध में नोटिस जारी किया गया था, व्यवस्थाओं में सुधार के लिए कहा गया था। हालांकि मुझे अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है। मैंने नोटिस की प्रति आयुक्त को भेजी है।

दमोह। शिविर में रात को मौजूद बच्चे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना