बुजुर्ग के लापता होने की पुलिस ने नहीं लिखी शिकायत, शव मिला, परिजनों ने लगाया जाम

Bhaskar News Network

Jun 15, 2019, 06:25 AM IST

Damoh News - भास्कर संवाददाता | बम्होरी बराना तीन दिन पहले भैंस चराने गए 72 वर्षीय मठु अहिरवार अचानक लापता हो गए। शाम को घर...

Banwar,Tikamgarh News - mp news police have not written the complaint of the elderly missing found dead bodies
भास्कर संवाददाता | बम्होरी बराना

तीन दिन पहले भैंस चराने गए 72 वर्षीय मठु अहिरवार अचानक लापता हो गए। शाम को घर नहीं लौटने पर दूसरे दिन परिजनों ने थाने में शिकायत दर्ज कराई। तीन दिन बाद मठु अहिरवार का शव मरगुवां हार के घटाई नाले के पास पड़ा मिला। संदिग्ध परिस्थिति में शव मिलने से परिजनों ने हत्या की आशंका जताकर झांसी-टीकमगढ़ पर दो घंटे जाम लगाकर हंगामा किया।

ग्राम के रविदास मोहल्ला के निवासी मठु अहिरवार पिता चतरे अहिरवार उम्र 75 वर्ष 11 जून मंगलवार को भैंस चराने के लिए गया था, लेकिन शाम को घर नहीं आया तो परिवार वालों ने तलाश की। नहीं मिलने पर 12 जून बुधवार से प्रीतम अहिरवार ने थाना दिगौड़ा में रिपोर्ट के लिए गया, लेकिन उसकी रिपोर्ट नहीं ली गई। फिर 13 जून गुरुवार को थाने जाकर लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई। शुक्रवार सुबह मरगुवां हार में घटाई नाले के पास मठू अहिरवार मृत अवस्था में मिला। परिजनों ने हत्या की आशंका जताकर रविदास मंदिर के पास झांसी-टीकमगढ़ हाईवे 11 पर पत्थर रखकर जाम लगा दिया। दो घंटे लगे जाम से हाइवे से निकलने वाले भारी वाहनों का दोनों तरफ जमावड़ा लग गया। दोपहर 1 बजे तक सड़क पर महिलाएं जाम लगाकर कार्रवाई की मांग कर रही थीं। मौके पर थाना दिगौड़ा उप निरीक्षक आनंद सिंह परिहार ने पहुंचकर परिजनों से चर्चा की और जाम खुलवाकर पंचनामा कार्रवाई के बाद शव को पीएम के लिए जिला अस्पताल टीकमगढ़ पहुंचाया।

टीकमगढ़। झांसी मार्ग पर पत्थर रखकर लगाया जाम।

पैर में चोट, सिर से बाल गायब

हार में भैंस चराने गए मठु अहिरवार को परिजन सुबह से ही ढूंढने निकल गए थे। जिसे सुबह लगभग 10 बजे लगभग नाले के पास लोगों ने देखा। जिसकी सूचना गांव में आग की तरह फैल गई। परिजनों को जानकारी मिलते ही घर में चीख पुकार मचने लगी। गुस्साए परिजनों ने झांसी-टीकमगढ़ मार्ग पर जाम लगा दिया। परिजनों का कहना है कि पैर में चाेटों के निशान और सिर से बाल गायब हैं। अज्ञात आरोपियों द्वारा घटना को अंजाम दिया गया है।

भास्कर संवाददाता | बम्होरी बराना

तीन दिन पहले भैंस चराने गए 72 वर्षीय मठु अहिरवार अचानक लापता हो गए। शाम को घर नहीं लौटने पर दूसरे दिन परिजनों ने थाने में शिकायत दर्ज कराई। तीन दिन बाद मठु अहिरवार का शव मरगुवां हार के घटाई नाले के पास पड़ा मिला। संदिग्ध परिस्थिति में शव मिलने से परिजनों ने हत्या की आशंका जताकर झांसी-टीकमगढ़ पर दो घंटे जाम लगाकर हंगामा किया।

ग्राम के रविदास मोहल्ला के निवासी मठु अहिरवार पिता चतरे अहिरवार उम्र 75 वर्ष 11 जून मंगलवार को भैंस चराने के लिए गया था, लेकिन शाम को घर नहीं आया तो परिवार वालों ने तलाश की। नहीं मिलने पर 12 जून बुधवार से प्रीतम अहिरवार ने थाना दिगौड़ा में रिपोर्ट के लिए गया, लेकिन उसकी रिपोर्ट नहीं ली गई। फिर 13 जून गुरुवार को थाने जाकर लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई। शुक्रवार सुबह मरगुवां हार में घटाई नाले के पास मठू अहिरवार मृत अवस्था में मिला। परिजनों ने हत्या की आशंका जताकर रविदास मंदिर के पास झांसी-टीकमगढ़ हाईवे 11 पर पत्थर रखकर जाम लगा दिया। दो घंटे लगे जाम से हाइवे से निकलने वाले भारी वाहनों का दोनों तरफ जमावड़ा लग गया। दोपहर 1 बजे तक सड़क पर महिलाएं जाम लगाकर कार्रवाई की मांग कर रही थीं। मौके पर थाना दिगौड़ा उप निरीक्षक आनंद सिंह परिहार ने पहुंचकर परिजनों से चर्चा की और जाम खुलवाकर पंचनामा कार्रवाई के बाद शव को पीएम के लिए जिला अस्पताल टीकमगढ़ पहुंचाया।

ऑपरेशन: महिला के पेट में छोड़ी पट्‌टी, हंगामे के बाद डॉक्टर ने कान पकड़कर मांगी माफी

टीकमगढ़ | शहर के लक्ष्मी टॉकीज रोड स्थित नुना हास्पिटल में शुक्रवार को एक अनोखा मामला सामने आया है। यहां दो महीने पहले डिलेवरी के दौरान एक महिला का ऑपरेशन किया गया था। पेट दर्द होने के बाद प्राइवेट पार्ट से पट्टी निकली तो महिला और परिजन घबरा गए। गुस्साए परिजन शुक्रवार को डॉक्टर से शिकायत करने हॉस्पिटल पहुंचे और हंगामा करने लगे। हंगामा देख डॉक्टर कान पकड़कर सॉरी बोलने लगे।

मातृत्व मेटरनिटी होम एवं सोनोग्राफी सेंटर नुना हास्पिटल में लार खुर्द निवासी शैलेंद्र कुमार खरे ने 2 अप्रैल को अपनी प|ी का डिलेवरी का ऑपरेशन कराया था। पेट में दर्द होने से 25 अप्रैल को डॉ. नुना से चेकअप करवाया, जिस पर डॉक्टर ने दवाई देकर वापस भेज दिया। 8 जून को प्राइवेट पार्ट से पट्टी निकली तो डाॅ. नुना से बात की गई तो डॉक्टर ने चेकअप किया। इसके बाद 13 जून गुरुवार को दोबारा पट्टी फिर निकली। शुक्रवार को घबराए परिजन पट्टियों को हाथ में लेकर महिला के साथ नुना हॉस्पिटल पहुंचे और हंगामा करने लगे। हंगामे को देख डाॅ. एके नुना ने गलती स्वीकार की। थोड़ी देर बाद फिर अपनी गलती को नकारने लगे। इस पूरे मामले की शिकायत परिजनों ने कोतवाली पहुंचकर पुलिस से की।

टीकमगढ़। डाॅ. एके नुना ने कान पकड़कर परिजनाें से मांगी माफी। दूसरे चित्र में हॉस्पिटल में मौजूद महिला से चर्चा करते लोग।

टीकमगढ़ | शहर के लक्ष्मी टॉकीज रोड स्थित नुना हास्पिटल में शुक्रवार को एक अनोखा मामला सामने आया है। यहां दो महीने पहले डिलेवरी के दौरान एक महिला का ऑपरेशन किया गया था। पेट दर्द होने के बाद प्राइवेट पार्ट से पट्टी निकली तो महिला और परिजन घबरा गए। गुस्साए परिजन शुक्रवार को डॉक्टर से शिकायत करने हॉस्पिटल पहुंचे और हंगामा करने लगे। हंगामा देख डॉक्टर कान पकड़कर सॉरी बोलने लगे।

मातृत्व मेटरनिटी होम एवं सोनोग्राफी सेंटर नुना हास्पिटल में लार खुर्द निवासी शैलेंद्र कुमार खरे ने 2 अप्रैल को अपनी प|ी का डिलेवरी का ऑपरेशन कराया था। पेट में दर्द होने से 25 अप्रैल को डॉ. नुना से चेकअप करवाया, जिस पर डॉक्टर ने दवाई देकर वापस भेज दिया। 8 जून को प्राइवेट पार्ट से पट्टी निकली तो डाॅ. नुना से बात की गई तो डॉक्टर ने चेकअप किया। इसके बाद 13 जून गुरुवार को दोबारा पट्टी फिर निकली। शुक्रवार को घबराए परिजन पट्टियों को हाथ में लेकर महिला के साथ नुना हॉस्पिटल पहुंचे और हंगामा करने लगे। हंगामे को देख डाॅ. एके नुना ने गलती स्वीकार की। थोड़ी देर बाद फिर अपनी गलती को नकारने लगे। इस पूरे मामले की शिकायत परिजनों ने कोतवाली पहुंचकर पुलिस से की।

Banwar,Tikamgarh News - mp news police have not written the complaint of the elderly missing found dead bodies
Banwar,Tikamgarh News - mp news police have not written the complaint of the elderly missing found dead bodies
X
Banwar,Tikamgarh News - mp news police have not written the complaint of the elderly missing found dead bodies
Banwar,Tikamgarh News - mp news police have not written the complaint of the elderly missing found dead bodies
Banwar,Tikamgarh News - mp news police have not written the complaint of the elderly missing found dead bodies
COMMENT