• Hindi News
  • Mp
  • Damoh
  • Damoh News mp news urad due to rain moong crop destroyed germination in the crop of pre harvested crop 80 yield wasted

बारिश से उड़द, मूंग की फसल तबाह: कटने पहले से पकी फसल के दाने में आया अंकुरण, 80% पैदावार हुई बेकार

Damoh News - भास्कर संवाददाता | हटा/बनवार जिले में निरंतर बारिश होने से खेत में कटने के लिए खड़ी उड़द और मूंग की फसलें बर्बाद हो...

Sep 17, 2019, 07:11 AM IST
भास्कर संवाददाता | हटा/बनवार

जिले में निरंतर बारिश होने से खेत में कटने के लिए खड़ी उड़द और मूंग की फसलें बर्बाद हो गईं हैं। खासकर उड़द को लेकर ज्यादा नुकसान हुआ है। लंबे समय तक बारिश में भींगने से उड़द की फल्ली का दाना अंकुरित हो गया है और फसल में 10 प्रतिशत दाना तक नहीं बचा है। ऐसे में किसानों के सामने फसल काटने को लेकर संकट खड़ा हो गया है। फसल काटने की लागत निकलेगी कि नहीं। इसको लेकर किसान कोई निर्णय नहीं ले पा रहे हैं।

भास्कर टीम ने दमोह-पथरिया मार्ग पर जिला मुख्यालय से करीब 8 किमी दूर सेमरा बुजुर्ग ग्राम में किसानों के खेत में खड़ी फसलों का जायजा लिया तो हालात बदतर मिले। बारिश का पानी खेत में भरने से न तो फसल में दाने मिले और न ही फसल सुरक्षित दिखी। सेमरा बुजुर्ग के किसान गनेश पटेल ने अपने 25 एकड़ खेत में लगी उड़द की फसल दिखाई, हर पाैधा की फल्ली में जितने दाना निकले, अंकुरित थे, पाैधा पूरी तरह से बारिश में सड़ा मिला। इतना ही नहीं गनेश के खेत के आसपास जितने भी किसानों के खेत लगे थे, उनका भी यही हाल था। 80 प्रतिशत से ज्यादा फसलें बर्बाद हो गईं हैं। कुछ इसी तरह हाल बांदकपुर रोड पर हलगज में देखने को मिला। आनंद सिंह के चार एकड़ खेत में उड़द की फसल पूरी तरह से खराब मिली। नन्हें सिंह के खेत में उड़द की फसल तो खड़ी थी, लेकिन उनमें दाना नहीं था, निरंतर बारिश से पूरी की पूरी फसल ही बर्बाद हो गई। वहां पर आसपास के करीब 50 किसनों की उड़द की फसल बर्बाद हो गई है। बीच रास्ते में हरदुआ सुम्मेर के किसान जीवन लोधी ने बताया कि उनकी तीन एकड़ खेत में लगी उड़द की फसल खराब हो गई है। खेत में पानी भरा होने से कुछ बचा ही नहीं है। अब फसल की कटाई करें कि न करें। समझ नहीं आता। उनके गांव के 60 किसानों का यही हाल है।

दमोह। सोयाबीन की फसल में पत्तों में तेज बारिश के चलते छेद हो गए हैं।

भास्कर संवाददाता | हटा/बनवार

जिले में निरंतर बारिश होने से खेत में कटने के लिए खड़ी उड़द और मूंग की फसलें बर्बाद हो गईं हैं। खासकर उड़द को लेकर ज्यादा नुकसान हुआ है। लंबे समय तक बारिश में भींगने से उड़द की फल्ली का दाना अंकुरित हो गया है और फसल में 10 प्रतिशत दाना तक नहीं बचा है। ऐसे में किसानों के सामने फसल काटने को लेकर संकट खड़ा हो गया है। फसल काटने की लागत निकलेगी कि नहीं। इसको लेकर किसान कोई निर्णय नहीं ले पा रहे हैं।

भास्कर टीम ने दमोह-पथरिया मार्ग पर जिला मुख्यालय से करीब 8 किमी दूर सेमरा बुजुर्ग ग्राम में किसानों के खेत में खड़ी फसलों का जायजा लिया तो हालात बदतर मिले। बारिश का पानी खेत में भरने से न तो फसल में दाने मिले और न ही फसल सुरक्षित दिखी। सेमरा बुजुर्ग के किसान गनेश पटेल ने अपने 25 एकड़ खेत में लगी उड़द की फसल दिखाई, हर पाैधा की फल्ली में जितने दाना निकले, अंकुरित थे, पाैधा पूरी तरह से बारिश में सड़ा मिला। इतना ही नहीं गनेश के खेत के आसपास जितने भी किसानों के खेत लगे थे, उनका भी यही हाल था। 80 प्रतिशत से ज्यादा फसलें बर्बाद हो गईं हैं। कुछ इसी तरह हाल बांदकपुर रोड पर हलगज में देखने को मिला। आनंद सिंह के चार एकड़ खेत में उड़द की फसल पूरी तरह से खराब मिली। नन्हें सिंह के खेत में उड़द की फसल तो खड़ी थी, लेकिन उनमें दाना नहीं था, निरंतर बारिश से पूरी की पूरी फसल ही बर्बाद हो गई। वहां पर आसपास के करीब 50 किसनों की उड़द की फसल बर्बाद हो गई है। बीच रास्ते में हरदुआ सुम्मेर के किसान जीवन लोधी ने बताया कि उनकी तीन एकड़ खेत में लगी उड़द की फसल खराब हो गई है। खेत में पानी भरा होने से कुछ बचा ही नहीं है। अब फसल की कटाई करें कि न करें। समझ नहीं आता। उनके गांव के 60 किसानों का यही हाल है।

फैक्ट फाइल






सर्वे में कुछ नहीं मिला

Ãअभी शासन से ऐसा कोई आदेश नहीं आया है। मैंने एसएडीओ और तहसीलदार से नजरी सर्वे कराया है। जिसमें कुछ खास नहीं मिला है। देखते हैं आगे क्या हो सकता है। -तरुण राठी, कलेक्टर, दमोह

जिले भर के किसानों का यही हाल, दलहन फसलों को हुआ भारी नुकसान


जिले भर के किसानों का यही हाल, दलहन फसलों को हुआ भारी नुकसान


उड़द की पकी फसल की फल्ली में अंकुरित दाना

बनवार-बम्हाेरी अंचल की उड़द की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है।


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना