--Advertisement--

अब दस दिन मुस्लिम बहुल इलाकों में चलेंगे आयोजन

दमोह | दुनिया के साथ मुस्लिम भाइयों नया साल माहे मोहर्रम का चांद नज़र आते ही शुरू हो गया। इस्लामी कैलेंडर के अनुसार...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 02:40 AM IST
दमोह | दुनिया के साथ मुस्लिम भाइयों नया साल माहे मोहर्रम का चांद नज़र आते ही शुरू हो गया। इस्लामी कैलेंडर के अनुसार हिजरी सन 1440 शुरू होते ही नया साल मोहर्रम से शुरू हो जाता है। सभी मुस्लिम भाइयों ने एक दूसरे को नए साल की मुबारकबाद दी।

रियाजुद्दीन राइन ने बताया कि मोहर्रम त्योहार से ही इस्लामी नया साल शुरू हो जाता है जिसमें 1 मोहर्रम से 10 मोहर्रम तक 10 दिवसीय धार्मिक आयोजन शुरू होते हैं। इस बार भी बाजार मोहल्ला गाड़ी खाने से 10 रोजा मजलिस का आयोजन किया गया है। जिसमे हिंदुस्तान के मशहूर खतीब पीरे तरीकत हजऱत अल्लामा मौलाना सैय्यद असलम मियां बामिकी खानकाहे बामिकिया निशातिया बरेली शरीफ यूपी 1 मोहर्रम से 5 मोहर्रम तक अपना खिताब फरमाएंगे। इसके बाद 6 मोहर्रम से 10 मोहर्रम तक पीरे तरीकत हजऱत अल्लामा मौलाना सूफी अब्दुर्रहमान रज़ा कादरी खलीफा, हुजूर मुफ़्ती, आजम हिंद अलैहिर्रहमा बरेली शरीफ यूपी अपना खिताब फरमाएंगे। इसके अलाबा सुबह बाद नमाज फज्र 10 दिवसीय कुरआन ख्वानी बाजार मोहल्ला उर्दू स्कूल से होगी। जिले के सभी मुस्लिम भाइयों से अपील है कि प्रोग्राम में शामिल होकर प्रोग्राम को कामयाब बनाए।