• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Damoh
  • Damoh अब रेटिना और फिंगर प्रिंट की तरह चेहरे से भी बनेगा आधार
विज्ञापन

अब रेटिना और फिंगर प्रिंट की तरह चेहरे से भी बनेगा आधार

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 02:42 AM IST

Damoh News - आधार कार्ड चेहरे से भी बनेगा यानी आधार कार्ड बनाने के लिए आप जब केंद्र पहुंचेंगे तो केंद्र संचालक आपकी आंखों का...

Damoh - अब रेटिना और फिंगर प्रिंट की तरह चेहरे से भी बनेगा आधार
  • comment
आधार कार्ड चेहरे से भी बनेगा यानी आधार कार्ड बनाने के लिए आप जब केंद्र पहुंचेंगे तो केंद्र संचालक आपकी आंखों का रेटिना और फिंगर प्रिंट तो लेगा ही, साथ ही चेहरे के फीचर भी लिए जाएंगे। इन तीनों की स्कैनिंग के बाद ही आधार का पंजीयन हो सकेगा।

इसके लिए आधार मशीनों में फेस रिकग्निशन फीचर लोड किए जा रहे हैं। एक दो दिन में यह इंस्टाल हो जाएगा। इसके बाद चेहरे से आधार बनाना शुरू हो जाएंगे। इससे आधार कार्ड में अब व्यक्ति की पहचान तीन तरीके से हो सकेगी। इसमें आंखों का रेटिना, फिंगर प्रिंट और चेहरा रहेगा। इससे लोगों को फायदा होगा और यदि आंखों और फिंगर प्रिंट से व्यक्ति की पहचान नहीं हो पा रही है तो चेहरे से हो सकेगी। आधार बनाने की सारी प्रक्रिया वही रहेगी। बस यूआईडीएआई ने फेस रिकग्निशन फीचर नया लांच कर किया है और अब तीन फीचर हो गए है। आधार मशीनों में फेस रिकग्निशन फीचर सॉफ्टवेयर लोड किया जा रहा है।

नई व्यवस्था

यूआईडीएआई ने लॉच किया फेस रिकग्निशन फीचर

नई व्यवस्था से सबसे ज्यादा फायदा बुजुर्गों-बच्चों को

अभी पांच साल तक के बच्चों का आधार उनके अभिभावक के फिंगर प्रिंट से बनता है। न तो उनके फिंगर प्रिंट लिए जाते हैं और ना ही आंखों का रेटिना। ऐसे में यदि बच्चा कहीं गुम हो जाता है तो पता लगाना मुश्किल होता है। आधार मशीन में बच्चों का अंगूठा लगाने से आधार नहीं खुलता है क्योंकि उसके फिंगर प्रिंट के निशान नहीं हैं। अब इस तरह की समस्या नहीं आएगी क्योंकि अब चेहरे से पहचान हो सकेगी। कई बार भीषण दुर्घटना में बाहर के व्यक्ति की मौत होने पर उसकी पहचान नहीं हो पाती है। नया फीचर लांच होने से अंगूठे के साथ उसके चेहरे से पहचान हो सकेगी। इससे लावारिसों को ढूंढने में सुविधा होगी।

एक-दो दिन नहीं होंगे आधार के पंजीयन

ई गवर्नेस के प्रबंधक महेश अग्रवाल ने बताया फिंगर प्रिंट और आइरिश स्कैनर के बाद अब यूआईडीएआई फेस रिकग्निशन फीचर लेकर आया है। इस नए फीचर से चेहरे से भी आधार बनेगा। इसे इंस्टाल किया जा रहा है। एक दो दिन में शुरुआत हो जाएगी। इस नए फीचर से सभी को फायदा है।

भास्कर संवाददाता | दमोह

आधार कार्ड चेहरे से भी बनेगा यानी आधार कार्ड बनाने के लिए आप जब केंद्र पहुंचेंगे तो केंद्र संचालक आपकी आंखों का रेटिना और फिंगर प्रिंट तो लेगा ही, साथ ही चेहरे के फीचर भी लिए जाएंगे। इन तीनों की स्कैनिंग के बाद ही आधार का पंजीयन हो सकेगा।

इसके लिए आधार मशीनों में फेस रिकग्निशन फीचर लोड किए जा रहे हैं। एक दो दिन में यह इंस्टाल हो जाएगा। इसके बाद चेहरे से आधार बनाना शुरू हो जाएंगे। इससे आधार कार्ड में अब व्यक्ति की पहचान तीन तरीके से हो सकेगी। इसमें आंखों का रेटिना, फिंगर प्रिंट और चेहरा रहेगा। इससे लोगों को फायदा होगा और यदि आंखों और फिंगर प्रिंट से व्यक्ति की पहचान नहीं हो पा रही है तो चेहरे से हो सकेगी। आधार बनाने की सारी प्रक्रिया वही रहेगी। बस यूआईडीएआई ने फेस रिकग्निशन फीचर नया लांच कर किया है और अब तीन फीचर हो गए है। आधार मशीनों में फेस रिकग्निशन फीचर सॉफ्टवेयर लोड किया जा रहा है।

अपडेट किया जा रहा आधार पंजीयन का सॉफ्टवेयर

X
Damoh - अब रेटिना और फिंगर प्रिंट की तरह चेहरे से भी बनेगा आधार
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन