• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Datia
  • बच्चों ने चित्रों से दिखाई बुंदेली लोक कला की झलक
--Advertisement--

बच्चों ने चित्रों से दिखाई बुंदेली लोक कला की झलक

Datia News - प्रदेश के बुंदेलखण्ड क्षेत्र में सदियों से चली आ रही लोक चित्रकला को सहेजने के लिए स्थानीय ज्ञान स्थली पब्लिक...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 03:25 AM IST
बच्चों ने चित्रों से दिखाई बुंदेली लोक कला की झलक
प्रदेश के बुंदेलखण्ड क्षेत्र में सदियों से चली आ रही लोक चित्रकला को सहेजने के लिए स्थानीय ज्ञान स्थली पब्लिक स्कूल में पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। भारतीय सांस्कृतिक संगठन नई दिल्ली के तत्वावधान में आयोजित हुई प्रतियोगिता में 45 छात्र छात्राओं ने उत्साहपूर्वक हिस्सा लिया। इस अवसर पर इंटेक इकाई दतिया के प्रभारी विनोद मिश्र सुरमणि ज्ञान स्थली पब्लिक स्कूल के प्राचार्य अरविंद यादव पोस्टर प्रतियोगिता के संयोजक अभिराम शर्मा के अलावा बड़ी संख्या में शिक्षक शिक्षिकाएं व छात्रगण उपस्थित रहे।

बुंदेलखण्ड में बिखरी पड़ी पारम्परिक चित्रकला को सहेजने के लिए कस्बा उनाव के बच्चों ने एक से बढ़कर एक पोस्टर तैयार कर अपने चित्रकला के हुनर का प्रदर्शन किया। अंचल में मनाए जाने वाले पर्व त्यौहार पर बुंदेलखण्ड क्षेत्र की महिलाएं चित्र रेखांकित कर पूजा कथा करती हैं। वर्ष भर कोई न कोई चौक चित्र बनाने की परिपाटी समूचे बुंदेलखण्ड में मिलती है। छात्रा मोनिका विश्वकर्मा एवं स्नेहा तिवारी ने बुंदेलखण्ड की पारंपरिक सिरौती के भित्ति चित्रण का रेखांकन किया। दीपावली के अवसर पर सुरौती बनाने का रिवाज आज भी गांवों में जीवंत है। एक अन्य छात्र उत्कर्ष शर्मा ने नवरात्रि पर कुंवारी कन्याओं द्वारा पूजे जाने वाले सुआटा व नौरता का प्रदर्शन चित्र के माध्यम से किया। दीपावली के दूसरे दिन होने वाली गोवर्धन पूजा का चित्र एक छात्रा ने बनाया। बुंदेलखण्ड में सबसे अधिक प्रचलित चौक बनाने की प्रथा का प्रदर्शन छात्रा शिवानी गौतम, मेघा तिवारी, मोहिनी यादव, काजल विश्वकर्मा, आस्था समाधिया ने किया। चौक बनाने की परंपरा जन्म जनेऊ मुंडन विवाह आदि सोलह संस्कारों में है। यह चौक चावल गेहूं के आटे, हल्दी, कुमकुम से बनाए जाते है। लोक उत्सव मामूलिया के चित्र आरती अहिरवार, साक्षी वर्मा, काजल ठाकुर ने बनाए तो महक यादव, खुशी यादव, ठिरिया के चित्र भी बढ़े ही रोचक ढंग से बनाए। इंटेक संस्था के प्रभारी विनोद मिश्र ने प्रतियोगिता के उद्देश्य एवं उपयोगिता की जानकारी देते हुए बताया कि यह पोस्टर एवं वृतांत नई दिल्ली भेजे जाएंगे। जहां राष्ट्रीय स्तर पर इनका प्रदर्शन किया जाएगा। इस अवसर पर जेपी वर्मा, प्रदीप साध्या, शिशुपाल सिंह, चन्द्रशेखर, सिद्धांत दांगी, अनुज दांगी, आदर्श यादव, शिवम राय उपस्थित रहे।

भारतीय सांस्कृतिक संगठन दतिया की इकाई ने किया ज्ञान स्थली स्कूल में किया चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन

बुंदेली लोक कला पर चित्र बनाते बच्चे।

X
बच्चों ने चित्रों से दिखाई बुंदेली लोक कला की झलक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..