• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Datia News
  • शहर में दो दिन उड़ा अबीर-गुलाल, बड़े गोविंद के नगाड़े के साथ हुआ समापन
--Advertisement--

शहर में दो दिन उड़ा अबीर-गुलाल, बड़े गोविंद के नगाड़े के साथ हुआ समापन

शनिवार को पारंपरिक तरीके से भाईदूज का पर्व मनाया भास्कर संवाददाता | दतिया/सेंवढ़ा/भांडेर/इंदरगढ़ रंग बरसे भीगे...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 07:35 AM IST
शनिवार को पारंपरिक तरीके से भाईदूज का पर्व मनाया

भास्कर संवाददाता | दतिया/सेंवढ़ा/भांडेर/इंदरगढ़

रंग बरसे भीगे चुनर वाली रंग बरसे …. होली है। दो दिवसीय रंगों के उत्सव होली पर फिल्म सिलसिला का यह पुराना गाना हुरियारों की मस्ती का कारण बना। शहर सहित अंचल में लगे डीजे पर बजता यह गाना और मस्ती में गुलाल उड़ाते हुए युवा होली पर उत्साह, उमंग व मस्ती का माहौल निर्मित करते नजर आए। दूसरी ओर ग्रामीण क्षेत्रों में बुंदेली फागों का गायन भी जम कर हुआ । फगुआरों की टोलियां नगड़िया, ढोलक और हरमोनियम के साथ जगह-जगह पहुंची। शनिवार को पारंपरिक तरीके से भाईदूज का पर्व मनाया गया। बहनों ने भाई को तिलक लगाकर लंबी उम्र की कामना की।

बता दें कि अंचल में दो दिन होली खेलने की परंपरा हैं। गुरुवार को होलिका दहन के बाद शुक्रवार को हुरियारों की टोलियां बाइकों पर सवार होकर गली मोहल्लों में घूमती रहीं। कॉलोनियों में दोपहर तक युवाओं ने जमकर गुलाल बिखेरा तो शाम होते ही महिलाओं ने मोर्चा संभाला। टोली के रूप में एक दूसरे के घरों पर पहुंच कर रंग गुलाल से सराबोर कर होली मनाई ।

गोविंद जी के नगाड़े के साथ हुआ समापन: शनिवार को बड़े गोविंद मंदिर गोविंद गंज से गोविंद जी का नगाड़ा निकाला गया। बता दें कि धुलेंडी को भगवान गोविंद जी की होली मंदिर में होती है। दौज को भक्त भगवान को प्रसाद रूपी रंग भक्तों पर बरसाने के लिए नगाड़े के साथ शहर परिक्रमा पर निकलते हैं। सुबह लगभग 11 बजे बडे़ गोविंद मंदिर से नगाड़ा निकला। टाउनहाल, किला चौक, बिहारी जी मार्ग होते ही वापस मंदिर परिसर पहुंचा। इसी के साथ दो दिवसीय होली उत्सव का समापन हो गया।