• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Datia News
  • हाईवे पर निकलें तो गड्ढों से संभलकर ध्यान भटका तो हादसे का खतरा ज्यादा
--Advertisement--

हाईवे पर निकलें तो गड्ढों से संभलकर ध्यान भटका तो हादसे का खतरा ज्यादा

यह तिराहे भी बने जानलेवा भिंड बिछौंदना हाईवे पर गांव के पास बने तिराहे भी वाहन चालकों के लिए खतरनाक साबित...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 07:40 AM IST
यह तिराहे भी बने जानलेवा

भिंड बिछौंदना हाईवे पर गांव के पास बने तिराहे भी वाहन चालकों के लिए खतरनाक साबित होते हैं। समथर तिराहा, पंडोखर तिराहा, सालोन बी तिराहा, सोहन, तालगांव आदि तिराहे सबसे ज्यादा खतरनाक साबित होते हैं। इन तिराहों पर गांव की तरफ से आने वाले लोग हाईवे सड़क पर चढ़ते हैं और हादसों का शिकार हो जाते हैं। इन तिराहों के पास न सूचना बोर्ड लगे हैं और न ही बचाव के अन्य उपाय किए गए हैं।

यहां होती हैं घटनाएं

भिंड-भांडेर हाइवे रोड पर सोहन के पास सड़क धंसक गई है। जिससे पिछले डेढ़ साल से बहुत बड़ा गड्‌ढा हाइवे पर बना हुआ है। इस गड्ढे का न तो भराव किया गया है और न ही मैंटेनेंस किया गया है। जिस कारण पिछले छह महीने में बाइक सवार दो महिलाओं व एक युवक की मौत गड्ढे की वजह से हो चुकी है। 19 अगस्त 2016 को अज्ञात जीप चालक काे बाइक में टक्कर मार दी थी जिससे बाइक पर सवार पूरन (30) पुत्र श्याम लाल प्रजापति निवासी ग्राम कर्रा की मौके पर ही मौत हो गई थी। जबकि बाइक चला रहा मृतक का दोस्त अरविंद (30) पुत्र बाबू लाल लोधी घायल हो गया था। 25 अगस्त 2016 को जन्माष्टमी के दिन ग्राम कुतौली निवासी रिंकी (26) प|ी रामजी यादव अपने भतीजे शैलेंद्र और अंशुल के साथ बाइक क्रमांक एमपी 32 बी 5353 से अपने मायके गोंदन जा रही थी। बाइक चालक शैलेंद्र ने गड्ढे पर ध्यान नहीं दिया और गड्ढे पर बाइक के जंप खाते ही रिंकी नीचे गिर पड़ी और उसकी मौत हो गई । 18 फरवरी 2017 को भी दबाेह निवासी बाइक सवार दंपति इस गड्ढे की वजह से घायल हो गए थे। जिसे ग्वालियर रैफर कर दिया गया था। एक मार्च 2017 को समथर निवासी हुकुम पाल (25) अपनी प|ी आशा व बच्ची खुशी के साथ बाइक से सैंथरी जा रहा था। उसकी बाइक भी गड्ढे में जंप खाकर गिरी जिससे उसकी प|ी आशा की मौत हो गई।