• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Datia
  • ढाई साल की बेटी की परवरिश नहीं कर पा रहा था पिता रोशनी शिशु गृह को सौंपी
--Advertisement--

ढाई साल की बेटी की परवरिश नहीं कर पा रहा था पिता रोशनी शिशु गृह को सौंपी

प|ी के जाने के बाद एक पिता अपनी ढाई साल का पालन पोषण ठीक से नहीं कर पा रहा था। आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण उसने...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 03:55 AM IST
ढाई साल की बेटी की परवरिश नहीं कर पा रहा था पिता रोशनी शिशु गृह को सौंपी
प|ी के जाने के बाद एक पिता अपनी ढाई साल का पालन पोषण ठीक से नहीं कर पा रहा था। आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण उसने बच्ची के संबंध में आवेदन बाल कल्याण समिति के समक्ष दिया। समिति ने मौके पर जांच कराई तो आवेदक की स्थिति बहुत ज्यादा कमजोर पाई गई। जिस पर समिति ने बच्ची को पालन पोषण के लिए अस्थाई तौर पर रोशनी शिशु गृह के सुपुर्द कर दी।

जानकारी के अनुसार गत दिवस बाल कल्याण समिति के समक्ष एक युवक ने अपनी ढाई वर्ष की बच्ची का पालन पोषण करने में असमर्थ होने के संबंध में आवेदन प्रस्तुत किया था। बाल कल्याण समिति द्वारा बाल संरक्षण इकाई के कर्मचारियों को मामले की जांच के लिए आवेदक पिता के घर भेजा गया। जांच में सामने आया कि आवेदक की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ नहीं है। बच्ची की मां भी कहीं चली गई है जिससे वह बालिका का पालन पोषण बेहतर ढंग से नहीं कर पा रहा है। उक्त स्थिति को देखते हुए बाल कल्याण समिति द्वारा बालिका के सर्वोत्तम हित को देखते हुए व उचित संरक्षण एवं देखभाल के लिए बालिका को रोशनी शिशु गृह के सुपुर्द किया गया है। सुपुर्दगी कार्रवाई के दौरान बाल कल्याण समिति अध्यक्ष श्रीमती उषा निरंजन, सदस्य सीपी तिवारी, कृष्णा कुशवाहा, तन्मय मिश्रा, प्रशांत भट्ट, जिला बाल संरक्षण अधिकारी अरविन्द उपाध्याय, जिला बाल संरक्षण धीर सिंह कुशवाहा, बृजेन्द्र कौरव, राजीव चौबे आदि मौजूद रहे।

X
ढाई साल की बेटी की परवरिश नहीं कर पा रहा था पिता रोशनी शिशु गृह को सौंपी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..