• Hindi News
  • Mp
  • Datia
  • Datia News mp news bodies claim to seize polythene and act on vendors in meeting of minister in charge nothing happened

निकायों ने प्रभारी मंत्री की बैठक में पॉलिथीन जब्त करने व विक्रेताओं पर कार्रवाई का किया दावा, हुआ कुछ नहीं

Datia News - तत्कालीन कलेक्टर बीएस जामोद के समय सफाई अभियान के दौरान की गई थी कार्रवाई जनवरी में हुई जियोस की बैठक में...

Feb 22, 2020, 07:01 AM IST

तत्कालीन कलेक्टर बीएस जामोद के समय सफाई अभियान के दौरान की गई थी कार्रवाई

जनवरी में हुई जियोस की बैठक में प्रभारी मंत्री के सामने निकायों के अधिकारियों ने दावा किया था कि उन्होंने सिंगल यूज प्लास्टिक की रोकथाम के लिए न केवल प्रचार प्रसार किया था। बल्कि पॉलीथिन बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए पॉलीथिन जब्त की गई। दुकानदारों पर जुर्माना लगाया गया।

हैरानी इस बात की है कि बैठक से 1 माह पहले से अब तक निकायों ने न तो सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग पर रोक लगे, इसके लिए कोई प्रचार प्रसार किया और न ही किसी प्रकार की कार्रवाई। ऐसे में शहर में जम कर सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग किया जा रहा है। जो शहर की गंदगी का बहुत बढ़ा कारण बन रहा है।

देश के साथ प्रदेश में भी सिंगल यूज प्लास्टिक प्रतिबंधित है। शासन ने इसका प्रचार प्रसार करने के साथ इनका विक्रय व उपयोग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दे रखे है। चूंकि दतिया पवित्र नगरी घोषित है। इसलिए पॉलिथीन को लेकर शहर में धारा 144 भी लागू है। बावजूद इसके निकायों के साथ प्रशासन की अनदेखी के कारण शहर में जम कर सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग किया जा रहा है। लोग इसका व्यापार भी जम कर रहे है। लेकिन प्रशासन या निकाय इसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रहे है।

कलेक्टर जामोद के जाते ही थमी गई कार्रवाई


तत्कालीन कलेक्टर बीएस जामोद ने पहले दतिया शहर में सफाई अभियान छेड़ा इसके साथ ही पॉलिथीन के खिलाफ भी कार्रवाई शुरू दी थी। इससे पॉलिथीन पर शहर में रोक जैसा माहौल बन गया था। माहौल यह बन गया था कि दूध व सब्जी वालों ने ग्राहकों से बर्तन व थैला लाने के लिए कहना शुरू कर दिया था। लेकिन जामोद का स्थानांतरण होते ही सफाई अभियान के साथ पॉलिथीन के खिलाफ भी कार्रवाई थम गई। परिणाम फिर से शहर में जबरदस्त तरीके से इसका उपयोग शुरू हो गया।

प्रभारी मंत्री की जियोस की बैठक में जुर्माना लगाने का भी किया गया था दावा...

13 जनवरी को प्रभारी मंत्री डॉ. गोविंद सिंह की अध्यक्षता में आयोजित जियोस की बैठक में नपा दतिया ने लगभग 30 किलो पॉलिथीन जब्त करने के आंकड़े प्रस्तुत किए थे। नप सेंवढ़ा ने 50 किलो पॉलिथीन जब्त करने के साथ 1250 रुपए का जुर्माना वसूलने, इंदरगढ़ ने 49.500 किलो ग्राम पॉलिथीन जब्त करने 1450 रुपए का जुर्माना, भांडेर ने 16 किलो पॉलिथीन जब्त करने के साथ 2 हजार रुपए जुर्माना वसूलने तथा बड़ौनी ने 8 किलो पॉलिथीन जब्त कर 7 सौ रुपए जुर्माना वसूलने का दावा किया था।

है। शासन ने इसका प्रचार प्रसार करने के साथ इनका विक्रय व उपयोग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दे रखे है। चूंकि दतिया पवित्र नगरी घोषित है। इसलिए पॉलिथीन को लेकर शहर में धारा 144 भी लागू है। बावजूद इसके निकायों के साथ प्रशासन की अनदेखी के कारण शहर में जम कर सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग किया जा रहा है। लोग इसका व्यापार भी जम कर रहे है। लेकिन प्रशासन या निकाय इसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रहे है।


मुनादी तो करा दी, लेकिन दस दिन बाद कार्रवाई नहीं

हाल ही में नपा दतिया ने 10 दिन पहले शहर में मुनादी कराई थी। जिसमें पॉलिथीन बेचने पर उपयोग करने पर कार्रवाई की चेतावनी दी गई थी। लोगों को इसके लिए 7 दिन का समय दिया था। लेकिन सात दिन से अधिक समय हो जाने के बाद भी निकाय ने किसी प्रकार की कार्रवाई शुरू नहीं की। कार्रवाई न होने से लोग इसे सिर्फ प्रशासन व नियाक की भभकी समझ कर धड़ल्ले से पॉलीथिन का उपयोग कर रहे है।

शहर में गंदगी का कारण

बन रही पॉलिथीन

शहर में गंदगी का प्रमुख कारण पॉलिथीन ही बन रही है। नालियां व नाले चौक हो जाने से गंदा पानी सड़कों पर बहता है तो कचरे के ढेरों में सबसे अधिक पॉलीथिन की नजर आती है। हल्की हवा चलने पर यह पूरे मार्ग में फैल कर शहर में गंदगी फैलाती है।

नगर पालिका कॉम्पलेक्स में दुकान के अंदर लटकी पॉलिथीन।

टीम बना कर करेंगे कार्रवाई

बाबू लाल कुशवाह, सीएमओ, नपा

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना