अध्ययन की गहराई से बढ़ती है विज्ञान में रुचि: दिग्गल

Datia News - विज्ञान जटिल अथवा उबाऊ नहीं बल्कि सबसे अधिक रोचक प्रयोगकारी विषय है। विज्ञान के प्रति रुचि पैदा करने में...

Feb 29, 2020, 09:05 AM IST

विज्ञान जटिल अथवा उबाऊ नहीं बल्कि सबसे अधिक रोचक प्रयोगकारी विषय है। विज्ञान के प्रति रुचि पैदा करने में शिक्षकों की भूमिका सबसे अहम होती है। विषय को समझाने का ढंग, प्रयोग के संसाधन छात्र छात्राओं को विषय के करीब लाते हैं। वर्तमान युग में विज्ञान की प्रासंगिकता लगातार बढ़ रही है, और इसलिए स्कूल और शिक्षकों का दायित्व है कि विज्ञान से जुड़ी नवीन जानकारियों को विश्लेषण के साथ छात्र छात्राओं के समक्ष प्रस्तुत करें। भविष्य में यही छात्र वैज्ञानिक बन कर सेंवढ़ा का नाम रोशन करेंगे।

गुरुकुल एकेडमी पब्लिक स्कूल के प्राचार्य वीरेंद्र दिग्गल ने यह विचार नेशनल साइंस डे पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान व्यक्त किए।

कार्यक्रम के दौरान विज्ञान शिक्षक प्रकाश सिंह, ब्रुशाली मुले ने विज्ञान से जुड़े कुछ उदाहरण प्रस्तुत किए। इस अवसर पर कक्षा दसवीं के छात्र दीपक राजपूत, बेन शुभाशीष दिग्गल, दुष्यंत दीक्षित, रूचि राजपूत, प्राची तिवारी, पारूल कुशवाह, अनिकेत यादव ने स्पीच, कविता एवं प्रश्नोत्तरी के माध्यम से प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का संचालन तनवी घनघोरिया एवं स्नेहा अग्रवाल ने किया। एक अन्य कार्यक्रम संकेश्वर पब्लिक हाई स्कूल में आयोजित हुआ। मुख्य अतिथि के रूप में मुसर्रत खान एवं मुख्य वक्ता के रूप में रेखा दोहरे मौजूद रहीं। कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था प्रमुख महावीर सिंह चौहान द्वारा की गई। शुभ शर्मा एवं शिवम यादव के द्वारा विज्ञान के विषय में वक्तव्य दिया। श्रीमती दोहरे ने बताया कि विज्ञान के द्वारा सुई से लेकर हवाई जहाज तक का निर्माण किया गया। विज्ञान आपके लिए वरदान भी हैं और अभिशाप भी। आज ही के दिन सीवी रमन ने प्रकाश के प्रकीर्णन की उत्कृष्ट खोज की इसलिए प्रत्येक वर्ष 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के रूप में मनाया जाता हैं।

कार्यक्रम के दौरान विभिन्न प्रतियोगिताओं के प्रमाण पत्र वितरित किए गए। संचालन अनिल कुमार द्वारा एवं आभार रामलखन द्वारा किया गया।

कार्यक्रम में मंच से प्रस्तुति देतीं छात्राएं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना