• Hindi News
  • Mp
  • Datia
  • Datia News mp news supreme court39s guide line neutralizes djs and fireworks threaten city awake all night

सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन बेअसर, डीजे और आतिशबाजी की धमक से पूरी रात जागा शहर

Datia News - 2017 तीन साल में जिला प्रशासन ने एक बार भी नहीं दिखाई सख्ती भास्कर संवाददाता| दतिया शादी समारोह में इन दिनों...

Jan 19, 2020, 07:05 AM IST
Datia News - mp news supreme court39s guide line neutralizes djs and fireworks threaten city awake all night
2017 तीन साल में जिला प्रशासन ने एक बार भी नहीं दिखाई सख्ती

भास्कर संवाददाता| दतिया

शादी समारोह में इन दिनों रात-रात भर डीजे के साउंड और आतिशबाजी की आवाज से शहर दहल रहा है। पूरी रात विवाह वाटिका, मैरिज गार्डन, होटलों में तो डीजे बजते ही हैं, साथ ही सड़कों पर भी बारात में बड़े-बड़े लाउडस्पीकर से डीजे बजते हैं।

शुक्रवार की रात कई जगह तेज आवाज में डीजी बजते रहे। कान फोड़ू आतिशबाजी और डीजे साउंड से लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। सबसे ज्यादा परेशानी कमजोर दिल वाले लोगों को होती है। रात में लोग घरों के अंदर चेन की नींद तक नहीं ले पाते हैं। लेकिन तीन साल में एक बार भी जिला प्रशासन और पुलिस विभाग ने इन पर सख्ती नहीं दिखाई। खास बात यह है कि सुप्रीम कोर्ट ने रात 10 बजे के बाद डीजे साउंड पर स्थाई प्रतिबंध लगाया है। लेकिन अमल जिला प्रशासन को कराना है और यहां किसी को कोई फिक्र ही नहीं है।

शुक्रवार की रात शहर में कई स्थानों पर देर रात तक बजते रहे डीजे

डीजे साउंड और आतिशबाजी पर वर्ष 2015 से 2017 के बीच अच्छी सख्ती देखने को मिली थी। तत्कालीन एसपी इरशाद वली ने आतिशबाजी और डीजे साउंड पर खासी पावंदी लगाई थी। उनके द्वारा हर महीने डीजे साउंड और आतिशबाजी चलाने वालों की बैठक लेकर सख्त हिदायत दी थी कि अगर कहीं भी डीजे साउंड बजता है तो सीधे रासुका लगाने की कार्रवाई होगी।

इसका फायदा यह हुआ था कि पूरे जिले में डीजे बजना बंद हो गए थे और आतिशबाजी पर भी प्रतिबंध लग गया था। लेकिन उनके जाने के बाद अफसरों ने इस तरफ ध्यान नहीं दिया। जिससे आतिशबाजी हर गली मोहल्ले में बिकने लगी। साथ ही डीजे साउंड भी हर जगह बजते नजर आने लगे। दिन में निकलने वाले जुलूस हों या रात में निकलने वालीं बारातें, हर जगह डीजे बजते दिखते हैं। हैरानि इस बात की है कि जिला प्रशासन में बैठे अफसर भी डीजे के बगल से चुपचाप निकल जाते हैं।

नियम का उल्लंघन
शुक्रवार रात सिविल लाइन रोड पर बारात के लिए खड़ा डीजे सिस्टम।

सुरक्षा के नहीं साधन

तत्कालीन एसपी ने विवाह वाटिकाओं के बाहर पार्किंग, वाटिकाओं में सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से अग्निशमन यंत्र को लेकर वाटिका संचालकाओं की बैठक ली थी। वाटिकाओं में हथियार ले जाने पर भी पाबंदी लगी थी। लेकिन इन विवाह वाटिकाओं में न तो अग्निशमन यंत्र हैं, न पार्किंग स्थल हैं। अगर आगजनी की घटना होती है तो आग बुझना असंभव है। विवाह कार्यक्रम के दौरान सड़क पर ही वाहन पार्क कर दिए जाते हैं जिससे वाटिकाओं के सामने जाम लगा देखा जा सकता है।

इनके पास वाहन पार्किंग स्थल नहीं

सिविल लाइन रोड पर होटल ब्लू स्टार, झांसी विवाह वाटिका, लक्ष्मी वाटिका, कृष्णा पैलेस, हैरिटेज होटल, वीर सिंह गार्डन, लाड़कुंअर धर्मशाला, वृंदावन धाम, रतन वाटिका आदि वाटिकाओं के सामने पार्किंग स्थल नहीं है। इन वाटिकाओं और होटलों में जब कार्यक्रम होते हैं तो सड़क किनारे ही वाहन पार्क मिलते हैं। विवाह वाटिकाओं के सामने साफ सफाई के लिए डस्टबिन तक नहीं रखे जाते हैं।

बोर्ड परीक्षाएं निकट, छात्रों को भी परेशानी

फरवरी और मार्च महीने में बोर्ड परीक्षाएं होना है। अगर यही हाल रहा तो जिले का परीक्षा परिणाम भी बिगड़ सकता है। क्योंकि रात में तेज आवाज और शोरगुल की वजह से बच्चों की पढ़ाई में व्यवधान उत्पन्न होता है। खासकर विवाह घरों के आसपास रहने वाले लोगों को शोरगुल से पढ़ाई में दिक्कत होती है। विधानसभा चुनाव के दौरान ही डीजे साउंड पर कार्रवाई देखने को मिली थी। तब से एक साल हो गया फिर कभी किसी भी अफसर ने गंभीरता नहीं दिखाई।

हम कार्रवाई करेंगे


X
Datia News - mp news supreme court39s guide line neutralizes djs and fireworks threaten city awake all night
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना