जिले का पहला प्रतीक्षालय, जो रात में रैनबसेरा में बदल जाता है

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 09:30 AM IST

Datia News - सेंवढ़ा अनुभाग की ग्राम पंचायत थरेट। इसके बस स्टैंड पर बना यात्री प्रतीक्षालय देख कर यहां से निकलने वाले लोगों के...

Tharet News - mp news the first waiting room in the district which turns into nightbasera at night
सेंवढ़ा अनुभाग की ग्राम पंचायत थरेट। इसके बस स्टैंड पर बना यात्री प्रतीक्षालय देख कर यहां से निकलने वाले लोगों के कुछ देर ठहरकर देखने को मजबूर कर देता है। खासतौर से रात के समय। लाइटों से जगमग प्रतीक्षालय गांव को भी आधुनिक शहर होने का अहसास कराता है। प्रतीक्षालय में यात्रियों की सुविधा के लिए न केवल पंखे लगे है। बल्कि मनोरंजन के लिए टीवी भी है। दिनभर यह यात्रियों को सुविधा देता है तो रात में गांव के लोग मनोरंजन के लिए यहीं जुटते हैं। रात में यह प्रतीक्षालय रैनबसेरा में तब्दील हो जाता है।

ग्राम पंचायत थरेट के सरपंच संजीव गतवार बताते हैं कि गांव में एक प्राचीन रंगमंच था। जिस पर रामलीला सहित अन्य धार्मिक आयोजन होते थे। चूंकि थरेट से होकर ही माता रतनगढ़ के श्रद्धालु निकलते है। गांव में बसों से सफर करने वाले यात्रियों के लिए भी कोई स्थान नहीं था। इसलिए पहले रंगमंच के पास आधुनिक यात्री प्रतीक्षालय बनाया। रंगमंच का भी आधुनिक निर्माण किया। दोनों को टीनशेड से मिला दिया। जिससे एक पंथ दो काज हो गए।

थरेट के यात्री प्रतिक्षालय में रात के समय टीवी देखते ग्रामीण।

सिर्फ 5 लाख में तैयार हो गया आधुनिक प्रतीक्षालय

5 लाख रुपए में यह प्रतीक्षालय तैयार हुआ है। जमीन में टाइल्स लगाई गई हैं। जमीन में ब्लाक लगा कर सुरक्षा के लिए स्टील की रेलिंग लगाई गई है। टीवी को चलाने के लिए एक लड़के की व्यवस्था की गई है। ताकि समय पर टीवी चल सके व बंद हो सकें। श्री गतवार के अनुसार वहां पर लोगों को सुविधा के लिए 8 पंखे लगाए गए। एक बड़ी एलसीडी लगा दी गई। लोगों के बैठने के लिए 80 कुर्सियां भी ग्राम पंचायत की ओर रखी गई है।

शाम को मनोरंजन स्थल रात को रैनबसेरा में तब्दील

सुबह से लेकर देर शाम तक यात्री प्रतीक्षालय नजर आता है। लेकिन शाम ढलते ही यह गांव का मनोरंजन स्थल में परिवर्तित हो जाता है। गांव के लोग यहां बैठकर एलसीडी पर धार्मिक सीरियल के साथ मैच आदि का आनंद उठाते हैं। सरपंच श्री गतवार के अनुसार रात 12 बजे तक लोग यहां बैठे रहते है। पंखे लगे होने के कारण गांव के कुछ बेघर लोगों के अलावा यहां से गुजरने वाले लोग यहां रात भी गुजारते हैं।

X
Tharet News - mp news the first waiting room in the district which turns into nightbasera at night
COMMENT