--Advertisement--

देवरी में आंधी-तूफान और बारिश में कई जगह पेड़ गिरे

शनिवार की शाम को तेज आंधी तूफान ने देवरी क्षेत्र में जमकर कहर बरपाया, जिससे बड़ी तादाद में सैकड़ों साल पुराने पेड़...

Dainik Bhaskar

Jun 03, 2018, 04:15 AM IST
शनिवार की शाम को तेज आंधी तूफान ने देवरी क्षेत्र में जमकर कहर बरपाया, जिससे बड़ी तादाद में सैकड़ों साल पुराने पेड़ उखड़ गए। तेज आंधी तूफान के कारण कच्चे मकानों की खप्पर और टीन शेड तेज हवाओं में उड़ गए। तेज आंधी तूफान के साथ भारी बारिश के कारण घरों में पानी भर गया। देवरी नगर के जून को वार्ड में हंस देव बब्बा के चबूतरे पर लगा 200 साल पुराना इमली का पेड़ तेज आंधी में उखाड़ कर कोमल विश्वकर्मा के मकान पर गिर गया। गनीमत यह रही कि उस समय कोई भी आस- पास नहीं था। आंधी तूफान के बाद अनेकों जगह बिजली के खंभे टूट जाने और तार टूट जाने के कारण बिजली आपूर्ति ठप हो गई, जो देर रात्रि तक बहाल नहीं हो सकी।

जनपद पंचायत देवरी के सीईओ राहुल पांडे के सरकारी आवास पर शुगबबूल का वृक्ष टूटकर खपरैल छत पर गिर गया। एसडीएम कार्यालय के पीछे लगा करीब 300 साल पुराना इमली के वृक्ष की बड़ी डगाल टूटकर गिर गई। इसी तरह पृथ्वी वार्ड में आजुदी जाट के मकान पर कैथा का वृक्ष टूट कर गिर गया। बाजार वार्ड में बड़ी तादाद में कच्चे मकानों पर छाए चद्दर उड़ गए, जिससे बिजली के तार टूट गए हैं।

बारिश रुकने के बाद एसडीएम राकेश मोहन त्रिपाठी, तहसीलदार सीएल वर्मा, नायाब तहसीलदार नीरज क्लासिया एवं फूड इंस्पेक्टर तुलेश्वर कुर्रे ने मंडी में बारिश में हुए नुकसान का जायजा लिया। उन्होंने समिति प्रबंधकों को निर्देश दिए कि जिन किसानों की अनाज तुलाई हो चुकी है उनका पहले परिवहन कराया जाए इसके बाद सुरक्षित स्थानों पर तुलाई कराई जाए। एसडीएम ने बताया कि बारिश से निपटने के लिए समितियों को दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं कि वह तिरपालों की व्यवस्था बनाकर रखें। तेज आंधी तूफान बारिश के कारण कई जगह बड़े वृक्ष उखड़ गए हैं जिससे बिजली के पोल टूट जाने के कारण बिजली आपूर्ति बाधित हुई है। चीमाढाना और नीम घाटी में फाल्ट बना हुआ है जिसे सुधारने का काम किया जा रहा है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..