• Hindi News
  • Mp
  • Dewas
  • satwas News mp news nothing is possible in human life without renunciation yuvraj maharaj

मनुष्य जीवन में बिना त्याग के कुछ भी संभव नहीं : युवराज महाराज

Dewas News - कथा सुनाते युवराज महाराज एवं उपस्थित श्रद्धालु। सतवास | मनुष्य के जीवन में बिना त्याग के कुछ भी संभव नहीं होता...

Feb 15, 2020, 09:15 AM IST
satwas News - mp news nothing is possible in human life without renunciation yuvraj maharaj

कथा सुनाते युवराज महाराज एवं उपस्थित श्रद्धालु।

सतवास | मनुष्य के जीवन में बिना त्याग के कुछ भी संभव नहीं होता है। हमारी संस्कृति एवं हमारा धर्म त्याग का पुजारी रहा है। बड़ा से बड़ा धनवान भी आ जाए तो लोग उसको प्रणाम नहीं करते। लेकिन भभूत लगाकर साधु आ जाए तो नेता से लेकर अभिनेता तक उसके सामने झुक जाते हैं। क्योंकि उसने सांसारिक जीवन का त्याग किया है। उसकी कोई अभिलाषा नहीं है। कोई इच्छा नहीं है। बिना त्याग के भगवत प्राप्ति नहीं हो सकती।

ये बातें धर्मेश्वर महादेव मंदिर में चल रही शिव महापुराण कथा के दूसरे दिन मथुरा के कथावाचक आचार्य युवराज महाराज ने कही। अाचार्य ने बिल्व पत्र की महिमा बताते हुए कहा कि यदि गलती से भी बिल्व पत्र भगवान शिव को स्पर्श हो जाए तो कई कन्यादान का फल प्राप्त होता है। रूद्राक्ष और भस्म धारण करने वाला पापी व्यक्ति भी पूजा योग्य पवित्र माना गया है। रूद्राक्ष ही साक्षात शिव स्वरूप का द्योतक होता है। भगवान रूद्र की आंखों से टपके आंसुओं से ही रूद्राक्ष की उत्पति हुई है। इसलिए ही रूद्राक्ष को साक्षात शिव स्वरूप मानकर पूजा व धारण किया जाता है। एकमुखी रूद्राक्ष को परब्रम्ह माना जाता है तो दोमुखी रूद्राक्ष में दो धारी होती है। यह अर्धनारीश्वर स्वरूप का परिचायक होता है। उन्होंने कहा कि यदि अनायास भी शिव महापुराण का श्रवण हो जाए तो मोक्ष की प्राप्ति होती है। 24 हजार श्लाेकाें का सार जिस ग्रंथ में हो उसके श्रवण मनन से ही व्यक्ति का भय, रोग, बंधन कट जाता है। व्यासपीठ की आरती संत काशीमुनि उदासीन ने उतारी।

X
satwas News - mp news nothing is possible in human life without renunciation yuvraj maharaj
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना