• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Dhar News
  • जिला अस्पताल : पोषण पुनर्वास केंद्र पर लगा ताला, वृद्धजन वार्ड पर भी लगने के आसार
--Advertisement--

जिला अस्पताल : पोषण पुनर्वास केंद्र पर लगा ताला, वृद्धजन वार्ड पर भी लगने के आसार

संविदा अधिकारी-कर्मचारियों की हड़ताल का असर भास्कर संवाददाता | धार संविदा अधिकारी-कर्मचारियों की हड़ताल के...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:05 AM IST
संविदा अधिकारी-कर्मचारियों की हड़ताल का असर

भास्कर संवाददाता | धार

संविदा अधिकारी-कर्मचारियों की हड़ताल के कारण जिला अस्पताल के पोषण पुनर्वास केंद्र में ताला लग गया है। वृद्धजन वार्ड में भी ताले लगने के आसार नजर आ रहे हैं। केंद्र में पदस्थ सात संविदा कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने से हाे रही परेशानियां अब बढ़ने लगी है केंद्र में संविदा कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से बच्चों के परिजन अधिकांश परेशान होकर घर चले गए। कर्मचारियों के पुन: कार्य पर लौटने के हाल फिलहाल आसार नजर नहीं आ रहे हैं। ऐसे में आरएमओ ने दो बच्चों को चिल्ड्रन वार्ड में शिफ्ट कर वहां पर ताला लगा दिया है।

जिले में 4700 से अधिक कुपोषित बच्चे हैं। धार विखं में 100 बच्चे कुपोषित हैं। ऐसे में पोषण पुनर्वास पर ताला लगने से कुपोषितों को उपचार में असुविधा होगी। अारएमओ डॉक्टर संजय जोशी का कहना है कि संविदा कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने के कारण हमें कर्मचारियों को एक वार्ड से दूसरे वार्ड में ड्यूटी पर लगाने के लिए स्टाफ नर्स व वार्डबाॅय, सफाईकर्मी की कमी आ रही है। पोषण पुनर्वास पर ताला लगा दिया है। अब वृद्ध जन वार्ड को भी बंद करके वहां के मरीजों को अन्य वार्ड में शिफ्ट करना पड़ेगा। वृद्धजन वार्ड में एक दिन में तीन स्टाफ नर्स व एक वार्ड बाय व स्वीपर की आवश्यकता होती है। मेल नर्स व महिला नर्सों के हड़ताल पर जाने से पूर्ति नहीं हो पा रही है।

सूचना के बाद भी बहता रहा पानी-शनिवार को जिला अस्पताल के चिल्ड्रन वार्ड की छत पर बनी बड़ी पानी की टंकी से दोपहर एक बजे से तीन बजे तक पानी बहता रहा। नालियाें में पानी जाता रहा। सिविल सर्जन डॉ. एसके खरे को जानकारी देने पर उन्होंने कहा-हमने अभी हालही में सभी टंकियों में फुटबॉल वाॅल्व लगवाए हैं। पानी नहीं बहना चाहिए। इस चर्चा के बाद एक घंटे बाद भी पानी बहता रहा।