Hindi News »Madhya Pradesh »Dhar» आठ परियोजनाओं के लिए मिलेगा फंड, छोटे शहरों से भी जुड़ेगा इंदौर

आठ परियोजनाओं के लिए मिलेगा फंड, छोटे शहरों से भी जुड़ेगा इंदौर

इंदौर-पटना के बीच चल रही साप्ताहिक को नियमित करें

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:25 AM IST

इंदौर-पटना के बीच चल रही साप्ताहिक को नियमित करें

इंदौर-उदयपुर ट्रेन को इंदौर से शाम को चलाया जाए। इंदौर-नागपुर ट्रेन को रायपुर तक बढ़ाया जाए और प्रतिदिन चलाया जाए।

लक्ष्मीबाईनगर रेलवे स्टेशन पर सभी ट्रेनों का स्टॉपेज दिया जाए। इंदौर के बजाय ट्रेनों को महू से चलाया जाए।

19319 और 19321 ट्रेनें जो कि इंदौर से पटना के बीच साप्ताहिक चलाई जा रही हैं, इन्हें प्रतिदिन चलाया जाए। इंदौर से महू के बीच मेमू ट्रेन चलाई जाए।

(यह मांगें रेलवे मंत्रालय से विभिन्न सामाजिक संगठनों, व्यापारिक संगठनों और जनप्रतिनिधियों ने की है।)

छोटे शहरों से भी हो जाएगी रेल कनेक्टिविटी : रेलवे बोर्ड के पैसेंजर एमनिटी कमेटी के सदस्य नागेश नामजोशी ने कहा इंदौर से जुड़े 8 बड़े प्रोजेक्ट के लिए इस रेल बजट में पैसा मिलेगा। इससे अधूरे प्रोजेक्ट जल्दी पूरे होंगे और यात्रियों को सुविधाएं मिलेंगी। इंदौर ऐसे शहरों से भी जुड़ जाएगा, जहां केवल सड़क मार्ग ही है।

इन परियोजनाओं को भी मिलती राशि तो बढ़ती कनेक्टिविटी

इंदौर-जबलपुर नई रेल लाइन वाया कन्नौद

किलोमीटर : 350, लागत : 4500 करोड़ रुपए।

वर्तमान स्थिति : ट्रैक के लिए सर्वे का काम पूरा हो गया है।

फायदा : जबलपुर के लिए नई रेलवे लाइन मिल जाएगी। कन्नौद जैसे छोटे कस्बे भी ट्रेन से जुड़ जाएंगे।

इंदौर-मनमाड़ नई रेल लाइन

किलोमीटर : 337, लागत : 10 हजार करोड़ रुपए।

वर्तमान स्थिति : प्लानिंग स्टेज पर है प्रोजेक्ट। 50 फीसदी फंड नितिन गडकरी मंत्रालय से देने की घोषणा कर चुके हैं।

फायदा : इंदौर से मनमाड़ के लिए वाया खलघाट

नया ट्रैक मिलेगा।

रतलाम मंडल के इंदौर, उज्जैन, फतेहाबाद रतलाम व देवास के सेक्शन की स्पीड बढ़ाना

वर्तमान स्थिति : इस सेक्शन पर वर्तमान में ट्रेनों की अधिकतम स्पीड 110 किलाेमीटर प्रतिघंटा है।

फायदा : ट्रेनों की रफ्तार 130 किमी होने से यात्रा का समय घटेगा।

इंदौर से दिल्ली के बीच दूरंतो ट्रेन चलाई जाए

इंदौर |इस बार भी आम बजट के साथ 1 फरवरी को रेल बजट पेश किया जाएगा। शहरवासियों के लिए निराशा की बात यह है कि बजट में इंदौर को कोई नई ट्रेन नहीं मिल रही है। वहीं राहत की बात यह है कि इंदौर से जुड़ी 11 बड़ी रेल परियोजनाओं में से 8 के लिए फंड मिलेगा। राशि मिलते ही धीमी गति से चल रही परियोजनाओं में तेजी आएगी। अभी कुछ शहर ऐसे हैं, जहां से इंदौर की रेलमार्ग से कोई कनेक्टिविटी नहीं है।

इन आठ परियोजनाओं में मिलेगा फंड

इंदौर-उज्जैन दोहरीकरण

किलोमीटर : 79.8, लागत : 680 करोड़ रुपए।

वर्तमान स्थिति : टेंडर प्रक्रिया चल रही है।

फायदा : क्रॉसिंग के लिए नहीं रोकना पड़ेगा ट्रेनों को।

महू-खंडवा गेज कन्वर्जन

किलोमीटर : 116, लागत : 600 करोड़ रुपए।

वर्तमान स्थिति : खंडवा से सनावद के बीच का ब्लॉक लिया जा चुका है। उसके आगे के ट्रैक के लिए सर्वे चल रहा है।

फायदा : खंडवा तक बड़ी लाइन की ट्रेन जा सकेगी।

इंदौर-दाहोद नई रेल लाइन

किलोमीटर : 205, लागत : 2000 करोड़ रुपए।

वर्तमान स्थिति : इंदौर से टिही तक 22 किलोमीटर तक का ट्रैक तैयार। आगे के लिए जमीन अधिग्रहण चल रहा है।

फायदा : इंदौर से दाहोद के लिए महू होते हुए नया रेलवे ट्रैक मिल जाएगा।

5. धार-छोटा उदयपुर नई रेल लाइन

किलोमीटर : 157, कीमत : 1200 करोड़ रुपए।

वर्तमान स्थिति : छोटा उदयपुर से अालीराजपुर तक पटरी बिछाने का काम चल रहा है।

फायदा : अब इंदौर से धार, छोटा उदयपुर, आलीराजपुर, झाबुआ जैसे शहर भी ट्रेन से जुड़ जाएंगे।

उज्जैन-फतेहाबाद गेज कन्वर्जन

उज्जैन-फतेहाबाद गेज कन्वर्जन

किलोमीटर : 22, लागत : 300 करोड़ (विद्युतीकरण के साथ)। बिना विद्युतीकरण के 280 करोड़ रुपए।

वर्तमान स्थिति : पटरी उखाड़ने का काम फतेहाबाद स्टेशन से 13 दिसंबर 2017 को शुरू हुआ।

फायदा : उज्जैन के लिए एक और नई लाइन मिलेगी। इंदौर-उज्जैन की दूरी कम होगी।

लक्ष्मीबाईनगर-रतलाम वाया फतेहाबाद विद्युतीकरण

किलोमीटर : 115, लागत : 150 करोड़ अनुमानित।

वर्तमान स्थिति : काम शुरू नहीं हुआ है।

फायदा : ट्रेन का इंजिन बदलने की परेशानी खत्म होगी। समय बचेगा।

इंदौर-रतलाम वाया फतेहाबाद दोहरी

किलोमीटर : 120, लागत : 600 करोड़ अनुमानित।

स्थिति : काम शुरू नहीं। प्रपोजल मंत्रालय को भेजा है।

फायदा : क्रॉसिंग के लिए ट्रेनों को नहीं रुकना पड़ेगा।

मांगलिया रेलवे स्टेशन शिफ्टिंग

लागत : 100 करोड़ अनुमानित

वर्तमान स्थिति : रेलवे के निर्माण विभाग से प्रपोजल तैयार कर रेल मंत्रालय को भेजा गया।

फायदा : मांगलिया में ही स्टेशन बनने से लोगों को 2 किमी दूर दूसरे स्टेशन तक नहीं जाना होगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×