--Advertisement--

लूटपाट के दौरान हत्या करने वाले तीन आरोपियों को सजा

टांडा के ग्राम जामला में पूर्व सरपंच चतुरसिंह के घर लूटपाट के दौरान युवक की हत्या के तीन आरोपियों के खिलाफ अपर...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:25 AM IST
टांडा के ग्राम जामला में पूर्व सरपंच चतुरसिंह के घर लूटपाट के दौरान युवक की हत्या के तीन आरोपियों के खिलाफ अपर सत्र न्यायाधीश प्रवीणा व्यास ने फैसला सुनाया है। आरोपी अलाप सिंह, नवलसिंह और आकरिया पिता गुलू नि. जामला के खिलाफ दोष सिद्ध होने पर अलाप सिंह को आजीवन कारावास तथा नवलसिंह और आकरिया को सात-सात वर्ष का सश्रम कारावास एवं 4000-4000 के अर्थदंड की सजा सुनाई है। प्रकरण जिले की सनसनीखेज मामलों में चिह्नित था।

लोक अभियोजन आर के गुप्ता ने बताया घटना 1 अप्रैल 2016 की रात 12.30 बजे टांडा के गांव जामला की है। घटना के समय 10 से 15 बदमाशों ने पूर्व सरपंच चतुरसिंह के घर में लूटपाट के लिए घुसे थे। घर के सभी लोगों को बदमाशों ने घेर लिया और चतुरसिंह की गर्दन पर फालिया रखकर पास सो रही प|ी जानूबाई से चांदी का मंगलसूत्र, चूड़ियां निकलवाई और पास में ही उसके भाई ठाकुरसिंह के घर की तरफ सभी बदमाश गए। वहां पर भी बकरे और बैलों को लूट कर ले जाने लगे। परिवार के रोकने पर बदमाशों ने गोलियां चलाई। जिससे ठाकुरसिंह की लड़की सुनीता को पैरों में, सज्जन सिंह को छाती में तथा ठाकुर सिंह को जांघ में गोली लगी थी। जिससे ठाकुर सिंह की मौत हो गई। गोलियों की आवाज सुनकर ठाकुरसिंह का बेटा खेत से आ रहा था। इस बीच उसने बदमाशों के साथ भागते अलापसिंह पिता बुधिया तथा नवलसिंह पिता रतन नि. दोबनी को पहचान लिया।

रोकने पर अलापसिंह ने जगदीश पर गोली चला दी। जो जगदीश को पैरों में लगी और मौके से सभी बदमाश फरार हो गए। सभी घायलों को रात में ही इलाज के लिए धार भिजवाया। घटना की रिपोर्ट थाना टांडा में दर्ज हुई। विवेचना तत्कालीन थाना प्रभारी मंजू मालवीय ने करते हुए 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर लूट का माल भी बरामद किया था। जगदीश ने आरोपियों की शिनाख्त बड़वानी जेल में जाकर भी की थी। न्यायालय में कुल 24 महत्वपूर्ण साक्षियों के कथन हुए। तीन आरोपियों पर दोष सिद्ध होने पर छह आरोपियों को बरी किया गया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..