Hindi News »Madhya Pradesh »Dhar» दोबारा पेपर लेने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती; याचिकाकर्ता ने कहा- फैसला असंवैधानिक

दोबारा पेपर लेने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती; याचिकाकर्ता ने कहा- फैसला असंवैधानिक

सीबीएसई के 10वीं और 12वीं के पेपर लीक होने का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। 12वीं का इकोनॉमिक्स का पेपर देशभर में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:25 AM IST

सीबीएसई के 10वीं और 12वीं के पेपर लीक होने का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। 12वीं का इकोनॉमिक्स का पेपर देशभर में और 10वीं का गणित का पेपर कुछ जगहों पर दोबारा करवाने के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है। शनिवार को दायर याचिका में सीबीएसई के फैसले को मनमाना और असंवैधानिक बताते हुए इस पर रोक लगाने की मांग की गई है। पहले ली गई परीक्षा के आधार पर ही रिजल्ट तैयार करवाने और पूरे मामले की जांच सीबीआई को सौंपने की भी मांग की गई है।

याचिकाकर्ता रीपक कंसल ने कहा कि बोर्ड का मनमाना फैसला विद्यार्थियों के मौलिक अधिकारों का उल्लंघन है। शेष | पेज 4 पर





10वीं के 16 लाख 38 हजार 428 और 12वीं के 11 लाख 86 हजार 306 बच्चे इस बार परीक्षा दे रहे हैं। कुछ बदमाशों की करतूत की सजा देशभर के बच्चों को दी जा रही है। अभी तक यह भी पता नहीं चला है कि पेपर कहां-कहां लीक हुआ था। आरोपी और मुख्य षड्यंत्रकारी पकड़े नहीं गए हैं।

ऐसे में क्या गारंटी है कि वह दोबारा पेपर लीक नहीं करेंगे। क्राइम ब्रांच की जांच पूरी होने से पहले दोबारा पेपर लेना असंवैधानिक और मनमानी है। उन्होंने कहा कि सीबीएसई को 23 मार्च को पेपर लीक होने की सूचना मिल गई थी। फिर भी 26 मार्च को परीक्षा ली गई। अधिकारी कहते रहे कि पेपर लीक नहीं हुआ। मीडिया में मुद्दा उछलने और क्राइम ब्रांच की जांच शुरू होने के बाद साख बचाने के लिए बोर्ड को आनन-फानन में 28 मार्च को पेपर रद्द करने पड़े।

व्हिसलब्लोअर पर गूगल ने पुलिस को भेजा जवाब: पेपर लीक के बारे में परीक्षा से पहले ही सीबीएसई चेयरपर्सन को ईमेल भेजने वाले व्हिसलब्लोअर के बारे में क्राइम ब्रांच के सवालों का जवाब गूगल ने भेज दिया है। एक सीनियर अधिकारी ने जवाब मिलने की पुष्टि की है, लेकिन इसका ब्योरा बताने से इनकार कर दिया।

लगातार तीसरे दिन छात्रों का विरोध प्रदर्शन जारी: पेपर लीक के विरोध में शनिवार को लगातार तीसरे दिन छात्रों ने सीबीएसई मुख्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान करीब 25-30 छात्रों ने सीबीएसई दफ्तर के सामने सड़क जाम करने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उन्हें हटा दिया।

2 अप्रैल का हिंदी का पेपर लीक होने का दावा, सीबीएसई ने फर्जी बताया

12वीं का 2 अप्रैल को होने वाला हिंदी (इलेक्टिव) का पेपर लीक होने की भी चर्चा है। सोशल मीडिया पर इसे लेकर पेपर शेयर किए जा रहे हैं। हालांकि, सीबीएसई का दावा है कि हिंदी का पेपर लीक होने की बात गलत है। बोर्ड के अनुसार सोशल मीडिया पर सर्कुलेट हो रहे पेपर या तो फर्जी हैं या पिछले साल के। बोर्ड ने लाेगों को यह फर्जी पेपर सर्कुलेट करने से बचने की सलाह दी है।



झारखंड में एबीवीपी जिला संयोजक सहित 12 लोग गिरफ्तार, दिल्ली में प्रिंसिपल सहित 3 हिरासत में

पेपर लीक कांड में झारखंड के चतरा में 12 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इनमें एक कोचिंग संस्थान के दो संचालक, एक शिक्षक और नौ छात्र हैं। चतरा में यह पेपर पटना से पहुंचा था। एक कोचिंग संचालक एबीवीपी का जिला संयोजक भी है। उधर, दिल्ली में एसआईटी ने सीबीएसई के एक कर्मचारी और एक स्कूल के प्रिंसिपल सहित तीन लाेगों को हिरासत में लिया है। इनसे पूछताछ जारी है। 3 दिन में पुलिस 60 से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर चुकी है। पर अभी तक मास्टरमाइंड तक नहीं पहुंच पाई है।

Get the latest IPL 2018 News, check IPL 2018 Schedule, IPL Live Score & IPL Points Table. Like us on Facebook or follow us on Twitter for more IPL updates.
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Dhar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: दोबारा पेपर लेने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती; याचिकाकर्ता ने कहा- फैसला असंवैधानिक
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Dhar

    Trending

    Live Hindi News

    0
    ×