• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Dhar News
  • राऊ में डकैती का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, दोस्तों-रिश्तेदारों से मिलकर 20 से ज्यादा जगह कर चुका लूट, चोरी और डकैती
--Advertisement--

राऊ में डकैती का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, दोस्तों-रिश्तेदारों से मिलकर 20 से ज्यादा जगह कर चुका लूट, चोरी और डकैती

राऊ क्षेत्र की श्री कृष्ण पैराडाइज कॉलोनी में करीब एक माह पहले हुई डकैती के मुख्य सरगना को राऊ पुलिस ने गिरफ्तार...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 02:40 AM IST
राऊ क्षेत्र की श्री कृष्ण पैराडाइज कॉलोनी में करीब एक माह पहले हुई डकैती के मुख्य सरगना को राऊ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसने अपने पांच साथियों के साथ मिलकर डकैती डाली थी। आरोपी राऊ के अलावा तेजाजी नगर और जूनी इंदौर व अन्य थाना क्षेत्रों में 20 से ज्यादा डकैती, लूट और चोरी कर चुके हैं। आरोपी मूल रूप से धार जिले का रहने वाला है। यह इंदौर में रहकर पहले चौकीदारों से दोस्ती करता था, फिर सूने मकानों की रैकी करता था। इसके बाद अपने दोस्तों-रिश्तेदारों को बुलाकर वारदात करता था। पुलिस ने आरोपी से करीब 10 लाख का माल भी बरामद किया है। इसके अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।

घटनास्थल के आसपास 5 किमी के सीसीटीवी से निकाला आरोपी का हुलिया

डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने बताया कि राऊ में डकैती के बाद से पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी। टीम ने वहां इलेक्ट्रॉनिक विश्लेषण करवाया और अपराध का तरीका देखा। इसके आधार पर करीब 5 किलोमीटर क्षेत्र के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज देखे और आरोपी का हुलिया निकाला। उसी आधार पर तलाश शुरू की तो पता चला कि फुटेज में दिखे हुलिए का व्यक्ति लालबाग इलाके में रहता है। टीम ने यहां पर घेराबंदी की और उस पर नजर रखना शुरू किया। संदिग्ध व्यक्ति को पकड़कर पूछताछ की तो उसने अपना नाम मोहन उर्फ खांडा पिता धनसिंह निवासी ग्राम छटवानी, जिला धार हाल पता नेहरू केंद्र लालबाग होना बताया। सख्ती से पूछताछ में उसने साथियों के साथ वारदातों को अंजाम देने कबूला।

पार्टी के लिए डालने लगे डाके

पूछताछ में उसने बताया उसने राऊ के अलावा तेजाजी नगर, जूनी इंदौर सहित अन्य थाना क्षेत्र में 20 से ज्यादा वारदातें करना स्वीकार की हैं। उसने बताया कि वह इंदौर में रहकर मजदूरी करता है। 2008 में शादी के बाद ग्राम गुराडिया के रहने वाले एल सिंह व गवरसिंह से उसकी दोस्ती हुई थी। इसके बाद से वे मिलने लगे और शराब-मटन की पार्टी करने लगे। इस शौक को पूरा करने के लिए वे शहर में चोरी की वारदातें करने लगा।

कुछ आरोपी तो निर्माणाधीन मकानों में खुद चौकीदारी करते हैं

सभी आरोपी टांडा जिला धार के आदिवासी क्षेत्र के रहने वाले हैं। गैंग के कुछ आरोपी तो इंदौर आकर निर्माणाधीन मकानों में खुद चौकीदारी करते हैं। आरोपी एल सिंह, गवर सिंह और उनके दो अन्य साथियों की तलाश क्राइम ब्रांच कर रही है। आरोपी मोहन अपने साथियों के साथ मिलकर तेजाजी नगर में पांच, राऊ में आठ व अन्य थाना क्षेत्रों में लूट, चोरी, डकैती और नकबजनी कर चुके हैं।

वारदात के बाद चले जाते थे अपने घर

पूछताछ में पता चला कि आरोपी दिन में सूने मकानों की रैकी करता था। कई स्थानों पर उसने चौकीदारों से दोस्ती कर मकानों के बारे में जानकारी निकाली। फिर उसके साथियों व रिश्तेदारों को वारदात करने के लिए बुलवाता और उक्त घटनाओं को अंजाम देता। वारदात करने के बाद उसके साथी बस से अपने-अपने गांव चले जाते थे। श्रीकृष्ण पैराडाइज कॉलोनी में घटना को अंजाम देने के पहले भी उसने रैकी की थी। डकैती के दौरान परिवार घर में मिला तो आरोपियों ने उनके साथ मारपीट की और सोने के जेवर और नकदी लेकर भाग गए थे।