• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Dhar
  • लाबरिया में वरघोड़े के साथ पंचाह्निका प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव की हुई शुरुआत
--Advertisement--

लाबरिया में वरघोड़े के साथ पंचाह्निका प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव की हुई शुरुआत

Dhar News - भास्कर संवाददाता | लाबरिया/राजोद जीवन में धर्म का समावेश होना आवश्यक है। जैन समाज लाबरिया के लोगों की पूरे...

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 02:40 AM IST
लाबरिया में वरघोड़े के साथ पंचाह्निका प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव की हुई शुरुआत
भास्कर संवाददाता | लाबरिया/राजोद

जीवन में धर्म का समावेश होना आवश्यक है। जैन समाज लाबरिया के लोगों की पूरे श्रद्धा भाव के साथ की जा रही भक्ति देखकर मन प्रफुल्लित हो गया। तन, मन, धन व पुण्य से प्रतिष्ठा के निमित्त लगा दें। देव धर्म गुरू की स्थापना होना जरूरी है।

यह बात लाबरिया स्थित राजेंद्रसूरी ज्ञान मंदिर परिसर में प्रभु धर्मनाथ भगवान, गणधर गौतमस्वामी और दादा गुरुदेव राजेंद्रसूरी की प्रतिमाओं के पंचाह्निका महामंगलकारी प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के दौरान आचार्य जयर|सूरी ने अपने उद्बोधन में कही। उन्होंने कहा कि मंदिर जाने से मन बेकाबू नहीं होता है। हम प्रतिष्ठा के माध्यम मात्र है। वर्तमान सप्तम पट्टधर और महोत्सव के निश्रा प्रदाता आचार्य नित्यसेनसूरी ने महामांगलिक सुनाई। मुख्य अतिथि नवयुवक परिषद प्रदेशाध्यक्ष रमेश धाड़ीवाल, जैन श्रीसंघ प्रदेशाध्यक्ष सुरेश तातेड़, परिषद के राष्ट्रीय मंत्री दिनेश मामा थे। मंगल गीत नेहा कटारिया, प्रियंका कटारिया, कल्पना बाफना ने गाया। स्वागत गीत सौरभ कांकरिया ने गाया। इसके पूर्व नगर में वरघोड़े का आगमन बरमंडल मार्ग से हुआ।



लाबरिया. राजेंद्रसूरी ज्ञान मंदिर परिसर में हुए महोत्सव के आयोजन में उपस्थित समाजजन व मांगलिक सुनाते आचार्य व मुनि।

वरघोड़ा : बालक धर्म पताका व महिलाएं सिर पर कलश लिए हुई शामिल

आचार्य, मुनि, साध्वीमंडल का नगर में मंगल प्रवेश पर वरघोड़ा निकाला गया, जो नगर के मुख्य मार्ग से होते निकला। जगह जगह गहुली की गई। अन्य समाज ने भी स्वागत किया। बालक घोड़े पर धर्म पताका लिए हुए बैठे थे। पीछे-पीछे महिलाएं सिर पर कलश धारण किए हुई थीं। आकर्षक रथ में दादा गुरुदेव राजेंद्रसूरीजी का चित्र रखा हुआ था। पीछे मुनिमंडल के साथ समाजजन धार्मिक धुनों पर थिरक रहे थे। समाज के युवा ड्रेस कोड पहने हुए थे। महिलाएं भी ड्रेस कोड में थी। नगर को स्वागत तोरण द्वार से सजाया गया। मंदिर पर आकर्षक विद्युत साज सज्जा की गई। नवकारसी के लाभार्थी तेजी बाई नाथूलाल चौधरी परिवार और स्वामी वात्सल्य के लाभार्थी धापूबाई हरकंच काकंरिया परिवार था।

4 मार्च को नगर चौरासी

तरुण परिषद अध्यक्ष रिषभ बाफना ने बताया कि 4 मार्च को प्रतिष्ठा के साथ नगर चौरासी का आयोजन होगा। आभार अनिल काकरिया ने माना। संचालन नवयुवक परिषद के प्रदेश प्रवक्ता विशाल जैन ने किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में समाजजन मौजूद थे।

X
लाबरिया में वरघोड़े के साथ पंचाह्निका प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव की हुई शुरुआत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..