• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Dhar
  • युवती को भगा ले गए युवक के दोस्त ने पुलिस से पिटने पर खाया जहर, मौत
--Advertisement--

युवती को भगा ले गए युवक के दोस्त ने पुलिस से पिटने पर खाया जहर, मौत

Dhar News - भास्कर संवाददाता | धार/केसूर सादलपुर थाना क्षेत्र के गांव एकलदुना में युवती को भगा ले गए एक युवक के दोस्त शुभम...

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 02:45 AM IST
युवती को भगा ले गए युवक के दोस्त ने पुलिस से पिटने पर खाया जहर, मौत
भास्कर संवाददाता | धार/केसूर

सादलपुर थाना क्षेत्र के गांव एकलदुना में युवती को भगा ले गए एक युवक के दोस्त शुभम पिता पवन पाटीदार (22) से युवती की जानकारी निकालने के लिए उसे पीट दिया। पिटाई के बाद शुभम ने जहर खा लिया। मौत हो गई। आक्रोशित परिजन ने पिटाई करने वाले पुलिस अधिकारी और युवती के परिजन पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की। जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव को सादलपुर में रख कर हंगामा करने जा रहे थे लेकिन पुलिस अधिकारियों द्वारा जांच के बाद निष्पक्ष कार्रवाई का आश्वासन देने पर शव को गांव ले गए और अंतिम संस्कार किया।

शुभम के पिता पवन पाटीदार ने बताया गांव के नारायण पिता आशाराम की भांजी को अजय पाटीदार नाम का युवक सोमवार को भगा ले गया। शुभम अजय का दोस्त है। सादलपुर थाने के एसआई सीताराम उपाध्याय ने मंगलवार को शुभम को फोन कर नारायण के घर बुलाया। बोले कि तू अजय का दोस्त है, तुझे सब मालूम है कि वह कहां गया है। शुभम ने कुछ मालूम नहीं होने की बात कही तो नारायण ने शुभम को पकड़ा और एसआई उपाध्याय ने युवक को पीटा। घटना के बाद शुभम घबरा गया। उसने मुझे फोन किया और बोला कि मुझे पुलिस से मार खिलवाई। मैं बाहर था। घर पहुंचा तो शुभम घर पर नहीं था। बताया कि खेत की तरफ गया है। वहां जाकर देखा तो शुभम की लाश पड़ी थी। शुभम के भाई करण ने बताया पुलिस वाले ने मारपीट की, तब मैं वहीं था। शुभम की बहन सीमा नि. मुलथान ने बताया मेरे पास शुभम का फोन आया। रोते हुए कह रहा था कि मुझे पुलिसवालों ने मारा। मैंने पूछा कि क्यों तो कुछ कहने के पहले ही फोन काट दिया। फिर फोन नहीं लगा।

शुभम पाटीदार

लोगो से चर्चा करते एडिश्नल एसपी सचिन शर्मा।

हत्या की गई है शुभम की : परिजन

सुबह जिला अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम किया गया। इस दौरान शुभम के परिजन ने आरोप लगाया कि शुभम ने आत्महत्या नहीं की, हत्या की गई है। परिजन कहते रहे कि जब तक एसआई उपाध्याय और नारायण पर एफआईआर नहीं होती, तब तक अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। शव को सादलपुर थाने ले जाकर वहीं धरने पर बैठेंगे। सीएसपी एश्वर्य शास्त्री, कोतवाली टीआई सुबोध श्रोत्रिय, सादलपुर टीआई हरिसिंह रावत ने यह कह कर समझाने की कोशिश की कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ जाने दो। उसके बाद जांच में जो भी दोषी पाया गया, उस पर केस दर्ज किया जाएगा लेकिन परिजन नहीं माने।

पोस्टमार्टम में प्रथम दृष्टया मौत जहर से

युवक का पोस्टमार्टम तीन डॉक्टरों की पैनल ने किया। डॉ. मनीष मोदी, देवेंद्र उन्नी, साेमिल भदौरिया ने पोस्टमार्टम किया। प्रथम दृष्टया मौत जहर से ही हाेने की बात पोस्टमार्टम में सामने आई।

एएसपी की समझाइश पर शव को ले गए अंतिम संस्कार के लिए

परिजन जिला अस्पताल से शव लेकर निकले। सादलपुर में प्रदर्शन करने वाले थे लेकिन उसके पहले ही एडीशनल एसपी सचिन शर्मा ने परिवार के लोगों को चौराहे पर समझाइश दी। कहा कि मामले की जांच की जाएगी। पीएम आदि की रिपोर्ट आने दो। यदि कोई दोषी पाया जाता है तो कार्रवाई की जाएगी। एसडीओपी कैलाश मालवीय भी थे। सादलपुर थाने पर आसपास के थाने का पुलिस बल भी बुलवा लिया गया था।

मैंने मारपीट नहीं की, केवल पूछा कि कुछ मालूम है क्या : एसआई

एसआई सीताराम उपाध्याय का कहना है मैंने मारपीट नहीं की। बयान लेने युवती के परिजन के घर गया था। उन्होंने बताया कि शुभम अजय का दोस्त है। उसे फोन लगाकर पूछा, उसने कहा कि नहीं मालूम। मैं निकल आया। चौराहे तक आया कि युवती के परिजन का फोन आया कि शुभम हमारे घर आ गया है और गालीगलौज कर रहा है। मैं वापस गया और शुभम काे समझा कर वापस भेजा।

X
युवती को भगा ले गए युवक के दोस्त ने पुलिस से पिटने पर खाया जहर, मौत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..