--Advertisement--

15 साल में कर राजस्व 8 गुना बढ़ा

Dhar News - विधानसभा में बजट पेश करने के बाद वित्त मंत्री जयंत मलैया ने प्रदेश की आर्थिक सेहत को तंदुरुस्त बताया। कहा कि- 15 साल...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 04:25 AM IST
15 साल में कर राजस्व 8 गुना बढ़ा
विधानसभा में बजट पेश करने के बाद वित्त मंत्री जयंत मलैया ने प्रदेश की आर्थिक सेहत को तंदुरुस्त बताया। कहा कि- 15 साल में राज्य का सकल घरेलू उत्पाद एक लाख करोड़ से आठ लाख करोड़ के पार हो गया है। राज्य की खासी तरक्की हुई है। लेकिन दूसरी तरफ बजट में कुछ ऐसे विषय भी देखे गए जिन पर गंभीरता नजर नहीं आती। 77 लाख लोगों की स्वास्थ्य योजना के लिए 75 करोड़ का ही प्रावधान किया गया। बीमार उद्योगों का बजट शून्य कर दिया।



विशेष संवाददाता | भोपाल

वित्त मंत्री जयंत मलैया ने कहा है कि 15 सालों में प्रदेश का कर राजस्व 8 गुना बढ़ा है। इस दौरान राज्य के सकल घरेलू उत्पाद (जीएसडीपी) की तुलना में राजकोषीय घाटा 7.12 फीसदी से घटकर 3.24 फीसदी रह गया। मलैया बजट पेश करने के बाद भाजपा सरकार के कार्यकाल में विभिन्न आर्थिक मानकों में हुई तरक्की की तस्वीर पेश कर रहे थे। मलैया ने कहा कि मप्र औद्योगिक क्षेत्र से एक पिछड़ा राज्य है। यहां पेट्रोल-डीजल से मिलने वाला राजस्व आय एक प्रमुख स्रोत है। अन्य स्रोतों से ज्यादा अाय नहीं होती। फिर भी राज्य सरकार ने पिछले दिनों पेट्रोल-डीजल दोनों पर वैल्यू एडेड टैक्स (वैट) घटाया था। इससे राज्य सरकार को कर राजस्व में करीब 2,000 करोड़ रुपए की हानि हुई। इसके बाद भी अधिकांश आर्थिक संकेतक सकारात्मक है। कुल राजस्व प्राप्तियों से ब्याज भुगतान का प्रतिशत महज 8.2 है। इसके मायने यह हैं कि राज्य सरकार अपनी उधारी का दायरा बढ़ा सकती है। 2003-04 में यह 22.44 फीसदी था। इसके साथ ही कुल जीएसडीपी की तुलना में कर्ज 22.71 फीसदी ही। यह 2003-04 में 33.71 फीसदी ही रहा था। मलैया ने कहा कि राज्य का जीएसडीपी 15 सालों में आठ गुना हो गया है। यह कांग्रेस के शासन के दौरान 1,02,839 करोड़ था, अब यह बढ़कर 8,26,106 करोड़ हो गया है।

X
15 साल में कर राजस्व 8 गुना बढ़ा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..