--Advertisement--

अब महिलाओं को जागरूकता की जरूरत है : जाट

गंधवानी | महिलाओं को लेकर मध्यप्रदेश शासन गम्भीर है। आज के दौर में महिलाएं असुरक्षित नहीं है। शर्त एक ही है कि...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 04:25 AM IST
गंधवानी | महिलाओं को लेकर मध्यप्रदेश शासन गम्भीर है। आज के दौर में महिलाएं असुरक्षित नहीं है। शर्त एक ही है कि महिलाओं को जागरूक होना पड़ेगा। एक्ट तो बहुत हैं। आप तो यह समझें की कानून महिलाओं के लिए बने हैं। क्योंकि पुराने समय से ही महिलाओं को प्रताड़ित किया जाता रहा है। महिलाएं थाने तक जाने से कतराती रही है। इसलिए अब 100 डाॅयल करें पुलिस आप के पास पहुंच जाएगी। इसके अलावा दो और सुविधा शासन ने दे रखी है। 181 व 1090 इस पर भी काल करोगे तो तुरंत सुनवाई होगी।

यह बात गंधवानी थाना प्रभारी शिवराम जाट ने सम्मान, सुरक्षा एवं स्वरक्षा अभियान के तहत ग्राम बिल्दा में महिलाओं व युवतियों के समक्ष एक साधारण समारोह के बीच कही। उन्होंने कहा 18 साल से कम उम्र वाली लड़की के साथ किसी प्रकार का दुराचरण होता है तो उस अपराधी की जमानत हाईकोर्ट ही ले सकता है। महिला बाल विकास परियोजना अधिकारी शकुंतला बामने ने माल्यार्पण कर कार्यक्रम प्रारंभ किया। बामने ने अपने उद्बोधन में कहा कि महिलाएं निर्भिक होकर अपनी बात रखें। आपके सम्मान को कोई ठेस पहुंचाता है तो आप निःसंकोच होकर पुलिस स्टेशन, महिला बाल विकास विभाग में अपनी बात रख सकती है।

अब महिलाओं को भी पैतृक संपति में बराबरी का हक मिलेगा। महिला बाल विकास अधिकारी बाल विवाह के बारे में बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में यह बहुत बुरी कुरीति है कि कम उम्र में लड़के लड़कियों की शादी की जाती है। आप लोगों को रोक लगाना चाहिए ग्रामीण क्षेत्र में यह तो पता चल ही जाता हैं कि उस परिवार में शादी होने वाली हैं आप उन्हें समझाएं। अगर आपकी बात नहीं मानते हैं तो टोल फ्री नंबर पर काल कर सकते हैं। या हमें सूचना दें हम जाकर शादी रुकवाएंगे। महिला बाल विकास सुपरवाइजर गौरा नर्गेश ने भी संबोधित किया। पंच भूरबाई जोगन, बिल्दा हाई स्कूल प्राचार्य संजय महाजन, अध्यापक आशाराम आमले, आंगनवाड़ी सुपरवाइजर, कार्यकर्ता, सहायिका, किशोरी बालिका, आशा कार्यकर्ता व अन्य महिला सदस्य उपस्थित थी।

गंधवानी. ग्राम बिल्दा में शिविर लगा।