Hindi News »Madhya Pradesh »Dhar» आबकारी अधिकारी पराक्रम पर सरकार ने छह दिन बाद भी नहीं की कार्रवाई

आबकारी अधिकारी पराक्रम पर सरकार ने छह दिन बाद भी नहीं की कार्रवाई

लोकायुक्त पुलिस ने बैंकों से मांगी खातों की जानकारी लॉकरों से जब्त 80 लाख भी सरकारी खजाने में जमा भास्कर...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 03, 2018, 02:40 AM IST

लोकायुक्त पुलिस ने बैंकों से मांगी खातों की जानकारी

लॉकरों से जब्त 80 लाख भी सरकारी खजाने में जमा

भास्कर संवाददाता| इंदौर

लोकायुक्त पुलिस इंदौर ने धार के जिला आबकारी अधिकारी पराक्रम सिंह चंद्रावत के पेट्रोल पंपों से मिले नकद 80 लाख रुपए भी सरकारी खजाने में जमा करा दिए। लाॅकरों में मिले 80 लाख रुपए के हीरे जड़ित सोने-चांदी के जेवर भी सरकारी कोषालय में जमा कराए जा चुके हैं। इस तरह उसकी 1 करोड़ 60 लाख रुपए की संपत्ति सरकारी खजाने में जमा हो गई है। उधर लोकायुक्त पुलिस ने शहर के सभी बैंकों को पत्र लिखकर खातों की जानकारी मांगी है। पराक्रम सिंह पर छह दिन बाद भी सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की है।

लोकायुक्त एसपी दिलीप सोनी ने छापा मारने के दूसरे ही दिन राज्य शासन व संबंधित विभाग के प्रमुख सचिव को इसकी सूचना देकर तत्काल उसे पद से हटाने को कहा था, लेकिन 6 दिन बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई, जबकि विभागीय मंत्री ने पहले ही दिन कहा था कि लोकायुक्त पुलिस से अधिकृत जानकारी मिलने के बाद आबकारी अफसर पर कार्रवाई की जाएगी।

बैंकों को पराक्रम के परिजन के खाते भी सील करने को लिखा

लोकायुक्त एसपी सोनी ने सभी बैंकों को पत्र लिखकर कहा है कि उनके यहां यदि पराक्रम सिंह या उनके परिजनों के खाते हों तो तत्काल उन्हें सील कर लोकायुक्त पुलिस को जानकारी दें। लोकायुक्त डीएसपी एसएस यादव के मुताबिक, छापे के पहले दिन तलाशी में अफसर के घर से 12 लाख रुपए और दोनों पेट्रोल पंप से लगभग एक करोड़ 12 लाख रुपए नकद मिले थे। यह पूरी राशि जब्त की गई है। इसमें से 80 लाख रुपए सरकारी कोषालय में जमा करा दिए गए। शेष राशि अफसर के आग्रह पर वापस कर दी गई है। आरटीआई कार्यकर्ता राजेंद्र के. गुप्ता की शिकायत की छानबीन के बाद लोकायुक्त पुलिस ने 6 दिन पहले पराक्रम सिंह के स्कीम नंबर 74 स्थित ‘कालूखेड़ा कोठी’ पर छापा मारा था, जिसमें करोड़ों की बेनामी संपत्ति का खुलासा हुआ है। डीएसपी यादव के मुताबिक गुरुवार तक बैंकों से जानकारी आने की संभावना है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×