धार

--Advertisement--

भोजन कराकर जरूरत की सामग्री बांटी

सेवा हो या दान तभी सार्थक होता है जब वो उसके सही हकदार को मिले। समाज के अक्षम वर्ग की सेवा से बढ़कर न कोई कर्म है न कोई...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:45 AM IST
सेवा हो या दान तभी सार्थक होता है जब वो उसके सही हकदार को मिले। समाज के अक्षम वर्ग की सेवा से बढ़कर न कोई कर्म है न कोई पूजा। समाज के वर्तमान परिदृश्य में इसकी अधिक आवश्यकता है। इन्हीं शब्दों को सार्थक करते हुए दिशा महिला मंडल ने सोमवार को शहर के वृद्धा आश्रम व आनंद नगर (कोड़ीखाने) में जाकर वृद्धों को खाना खिलाकर जरूरत की सामग्री बांटी।

दिशा महिला मंडल कई वर्षों से समाज के अक्षम वर्ग की सेवा व मदद के कार्य करता आ रहा है। इसी कड़ी में मंडल की सदस्यों ने पहले इंदौर नाके स्थित वृद्धा आश्रम में वृद्धजनों को भोजन करवाया। भोजन के बाद सभी को वस्त्र व अन्य आवश्यक वस्तुएं भेंट की।

तत्पश्चात मंडल की सभी सदस्य आनंद नगर (कोड़ीखाना) पहुंची। आनंद नगर में रहने वाले लोगों को मंडल सदस्यों ने पहले भोजन कराया। भोजन के पश्चात उपस्थित जनों को वस्त्र और दैनिक उपयोग की वस्तुएं बांटी। अन्न वस्त्र दान के दोनों कार्यक्रमों को पूरा करने के बाद मंडल की सदस्यों ने आगामी सेवा कार्यों की रूप रेखा पर विचार विमर्श किया। दोनों कार्यक्रम दिशा महिला मंडल की सचिव रोमा बाजपेई के मार्गदर्शन में हुए। मंडल सदस्य सरोज सोनी, सोनल विश्वकर्मा, शीला बारोट, सुचित्रा राजपुरोहित, उमा अग्रवाल, दिव्या मेहतो, निशा शर्मा, दीप्ति दुर्गानी, कुसुम अग्रवाल, वर्षा अग्रवाल मौजूद थी।



X
Click to listen..