• Hindi News
  • Mp
  • Dhar
  • Dhar News mp news 2 year ban on football club manchester city out of champions league until 2022 232 crores also fined

फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर सिटी पर 2 साल का बैन, 2022 तक चैंपियंस लीग से बाहर; 232 करोड़ रु. का जुर्माना भी

Dhar News - स्पॉन्सरशिप रेवेन्यू को कम करके दिखाया यूरोपियन यूनियन आॅफ फुटबॉल एसोसिएशन (यूईएफए) ने इंग्लिश क्लब...

Feb 16, 2020, 07:16 AM IST
Dhar News - mp news 2 year ban on football club manchester city out of champions league until 2022 232 crores also fined

स्पॉन्सरशिप रेवेन्यू को कम करके दिखाया

यूरोपियन यूनियन आॅफ फुटबॉल एसोसिएशन (यूईएफए) ने इंग्लिश क्लब मैनचेस्टर सिटी को दो साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया है। मैनचेस्टर सिटी 2022 तक यूरोपियन क्लब कॉम्पिटीशन चैंपियंस लीग में नहीं खेल सकेगा। यूईएफए ने क्लब पर 32.5 मिलियन डॉलर (करीब 232 करोड़ रुपए) का जुर्माना भी लगाया है। मैनचेस्टर सिटी को यूईएफए के क्लब लाइसेंसिंग और फाइनेंशियल फेयरप्ले नियम (एफएफपी) ताेड़ने का दोषी पाया गया है। क्लब के मालिक स्पॉन्सरशिप डील के जरिए असीमित कमाई न कर सकें, इसलिए एफएफपी नियम बनाया गया है। मैनचेस्टर सिटी का कहना है कि वे इस निर्णय से निराश हैं और इसके खिलाफ अपील करेंगे। हालांकि, मैनचेस्टर सिटी इस साल चैंपियंस लीग खेलता रहेगा। उसका प्री क्वार्टर मुकाबला स्पेनिश क्लब रियल मैड्रिड से होना है। पहले लेग का मुकाबला 26 फरवरी को मैड्रिड में होेगा। यूईएफए की फाइनेंशियल कंट्रोल बॉडी (सीएफसीबी) के स्वतंत्र एडजुडिसिटिक चेंबर ने कहा, ‘सिटी ने 2012 से 2016 के बीच यूईएफए को रिपोर्ट दी थी। इसमें उसने अपने खातों में स्पॉन्सरशिप रेवेन्यू को कम करके दिखाया। सिटी ने उस दौरान स्पॉन्सरशिप डील से काफी राशि कमाई थी। क्लब ने जांच में भी सहयोग नहीं किया।’ यह पहली बार नहीं है, जब मैनचेस्टर सिटी को एफएफपी नियमों के उल्लंघन का दोषी पाया गया है। 2014 में भी उस पर नियम तोड़ने के आरोप थे। तब 464 करोड़ रुपए का जुर्माना लगा था और उसकी चैंपियंस लीग की टीम छोटी कर दी गई थी। ये सारे प्रतिबंध और सजाएं मैनचेस्टर सिटी की महिला टीम पर लागू नहीं होंगे।

टीम पर: ईपीएल के पॉइंट भी कम होंगे

ऐसी भी रिपोर्ट आ रहीं हैं कि मैनचेस्टर सिटी के प्रीमियर लीग के पॉइंट भी कम कर दिए जाएंगे क्योंकि प्रीमियर लीग के एफएफपी नियम भी यूईएफए के नियमों से थोड़े मिलते-जुलते हैं। साथ ही टीम लीग-2 में रेलिगेट हो सकती है। चैंपियंस लीग में प्रीमियर लीग की टॉप-4 टीमें क्वालिफाई करती हैं। मैनचेस्टर सिटी मौजूदा सीजन में दूसरे नंबर पर चल रही है। यानी, वह आसानी से चैंपियंस लीग के अगले सीजन के लिए क्वालिफाई कर लेती। लेकिन बैन लगने से उसे मौका नहीं मिलेगा। यानी, प्रीमियर लीग की पांचवें नंबर की टीम अगले सीजन में चैंपियंस लीग खेलेगी। मैनचेस्टर सिटी की आर्थिक स्थिति को ज्यादा नुकसान नहीं होगा। लेकिन उसकी छवि खराब हो जाएगी।

कोच पर: गुआर्डिओला के पास कई क्लब के ऑफर हैं

पिछले कुछ हफ्तों में सिटी के कोच गुआर्डिओला से उनके भविष्य को लेकर लगातार सवाल पूछे जाते रहे हैं। उनका सिटी से 2021 तक का कॉन्ट्रैक्ट है। गुआर्डिओला भी कह चुके थे कि उन्हें सिटी के उच्च अधिकारियों पर पूरा भरोसा है और यूईएफए के जांच पैनल के दावों में कुछ भी आधार नहीं है। लेकिन अब क्लब पर बैन के बाद उन्हें भविष्य को लेकर एक बार फिर सोचना पड़ेगा। अगर सिटी इस बार चैंपियंस लीग जीत जाती है तो गुआर्डिओला कहीं भी जा सकते हैं। उनके पास युवेंटस से लेकर बार्सिलोना तक के ऑफर हैं।

खिलाड़ियों पर: एगुएरो के करार बढ़ाने की उम्मीद कम

इस फैसले के बाद कुछ खिलाड़ी क्लब छोड़कर जा सकते हैं। केविन डि ब्रुएन का नाम सबसे आगे है। वेटरन मिडफील्डर डेविड सिल्वा का कॉन्ट्रैक्ट इस सीजन के बाद खत्म हो जाएगा। कई खिलाड़ी ऐसे हैं, जिनका कॉन्ट्रैक्ट सिटी के चैंपियंस लीग में वापसी के पहले खत्म हाे जाएगा। स्टार स्ट्राइकर सर्जियो एगुएरो और लिरॉय साने का करार 2021 में खत्म हो जाएगा। जॉन स्टोन्स और निकोलस ओटामेंडी का काॅन्ट्रेक्ट भी एक साल बाद खत्म होगा। ऐसे में उम्मीद कम है, जब ये खिलाड़ी अपना करार आगे बढ़ाएं।


फैसले का असर... टॉप-4 में रहकर भी टीम चैंपियंस लीग से बाहर

ब्रुएन सहित कई खिलाड़ी क्लब छोड़ सकते हैं

2018 में जर्मन मैग्जीन ने खुलासा किया था

नवंबर 2018 में जर्मन मैग्जीन डेर स्पेगल ने िटी के एफएफपी नियम तोड़ने का खुलासा किया था। मैग्जीन की खबर के अनुसार, सिटी और उसके प्रायोजकों ने यूईएफए के फाइनेंशियल फेयरप्ले नियमों को नजरअंदाज करते हुए कॉन्ट्रैक्ट में हेरफेर किया। उन्होंने यूईएफए को नहीं बताया कि क्लब के मालिक शेख मंसूर ने पैसे दिए थे, जो स्पाॅन्सर द्वारा दिए गए थे। यह उनकी कमर्शियल कमाई में आता है।

Dhar News - mp news 2 year ban on football club manchester city out of champions league until 2022 232 crores also fined
Dhar News - mp news 2 year ban on football club manchester city out of champions league until 2022 232 crores also fined
X
Dhar News - mp news 2 year ban on football club manchester city out of champions league until 2022 232 crores also fined
Dhar News - mp news 2 year ban on football club manchester city out of champions league until 2022 232 crores also fined
Dhar News - mp news 2 year ban on football club manchester city out of champions league until 2022 232 crores also fined

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना