• Hindi News
  • Mp
  • Dhar
  • Rajgarh News mp news after panchmushi keshlochan acharya rishabh chandrasurishwarji gave nahar a new name to be called muni jinbhadravijay

पंचमुष्ठी केशलोचन के बाद आचार्य ऋषभचंद्रसूरिश्वरजी ने नाहर को दिया नया नाम, कहलाएंगे मुनि जिनभद्रविजयजी

Dhar News - मोहनखेड़ा तीर्थ पर बुधवार को दसई के अजय अशोककुमार नाहर की दीक्षा एवं साध्वी हर्षितगुणाश्रीजी, साध्वी हितर|ाश्रीजी...

Jan 16, 2020, 09:00 AM IST
Rajgarh News - mp news after panchmushi keshlochan acharya rishabh chandrasurishwarji gave nahar a new name to be called muni jinbhadravijay
मोहनखेड़ा तीर्थ पर बुधवार को दसई के अजय अशोककुमार नाहर की दीक्षा एवं साध्वी हर्षितगुणाश्रीजी, साध्वी हितर|ाश्रीजी की बड़ी दीक्षा हुई। नूतन मुनि अजय नाहर को पंचमुष्ठी केशलोचन के बाद आचार्य ऋषभचंद्रसूरिश्वरजी ने मुनि जिनभद्रविजयजी का नाम दिया। मुनि व साध्वी मंडल के सान्निध्य में आदिनाथ राजेंद्र जैन श्वे. पेढ़ी ट्रस्ट के तत्वावधान में आयोजन हुआ। प्रातःकाल की वेला में नवकारसी के बाद गाजे बाजे के साथ दीक्षार्थी नाहर को निवास से दीक्षा छाब के साथ तीर्थ स्थित दीक्षा वाटिका में लाया गया। आचार्य के समक्ष दीक्षार्थी व समाजजन ने सामूहिक गुरु वंदन किया। चौमुखी में विराजित प्रभु के समक्ष साध्वी हर्षितगुणाश्रीजी, साध्वी हितर|ाश्रीजी ने बड़ी दीक्षा की विधि पूर्ण की।

इसके बाद दीक्षार्थी अजय नाहर की दीक्षा विधि हुई। दीक्षा से पूर्व नाहर को मंदसौर धुंधड़का के दिनेश जैन परिवार ने विजय तिलक कर दीक्षा मार्ग में विजय प्राप्त करने के लिए मार्ग प्रशस्त किया। दीक्षार्थी के मामा परिवार राजेंद्रकुमार अशोककुमार दुलीचंद चंडालिया ने नूतन मुनि को वोहराए जाने वाला रजोहरण आचार्य को वोहराया। संगीतमय प्रस्तुतियों के बीच दीक्षा की विधि चलती रही। इसी बीच आचार्य ने दीक्षार्थी को रजोहरण प्रदान किया।

दीक्षा
राजगढ़. मोहनखेड़ा में नाहर की दीक्षा व साध्वियों की बड़ी दीक्षा हुई। इस मौके पर बड़ी संख्या में समाजजन उपस्थित थे।

रजोहरण मिलते ही नृत्य कर खुशी का किया इजहार

रजोहरण प्राप्त करते ही अजय नाहर खुशी के मारे झूम उठा। चौमुखी के सामने नृत्य कर अपनी खुशी का इजहार किया। यहां से नाहर को वेश परिवर्तन के लिए ले जाया गया। कुछ ही समय पश्चात वेश परिवर्तन कर नूतन मुनि के रूप में नाहर दीक्षा पांडाल में लाए गए। आचार्य की निश्रा में वेश परिवर्तन के बाद नूतन मुनि बनने की विधि ज्ञानप्रेमी मुनि पुष्पेंद्रविजयजी के मंत्रोच्चार के साथ पूर्ण कराई। मुनि ने सुधर्मास्वामी की पाट परम्परा में हुए सभी आचार्य भगवंत व दादा गुरुदेव राजेंद्रसूरिश्वरजी की पाट परम्परा के समस्त आचार्य भगवंतों के नामों की नामावली श्रवण कराने के बाद नाहर का पंचमुष्ठी केशलोचन कर मुनि जिनभद्रविजयजी का नाम दिया।

मुनि बनने पर आचार्य से आशीर्वाद लिया।

दीक्षा में इन्होंने लिया लाभ

रजोहरण का लाभ राजेंद्रकुमार अशोककुमार दुलीचंद चंडालिया परिवार राजगढ़, चादर पारसमल सागरमल गादिया उज्जैन, चोलपट्टा विकास मेहता मुंबई, गौतमपात्र धनराज कंकुचोपड़ा बालोतरा, धर्मदंड राजमल अशोककुमार नाहर दसई, केशलोचन के पश्चात केश प्राप्त करने का लाभ बसंतीबाई शांतिलाल वेदमुथा मुंबई, भूति नवकार माला अर्पित करने का लाभ रेखा देवी कांतिलाल शाह मुंबई, नामकरण के समय थाली डंका बजाने का लाभ अजय नाहर की मौसी व भुआ परिवार, दोनों बड़ी दीक्षा की साध्वीजी को संयुक्त रूप से कामली ओढ़ाने का लाभ सोहनराज मिश्रीमल वर्धन परिवार को प्राप्त हुआ।

श्रीसंघ ने कार्यक्रमों में निश्रा प्रदान करने की विनती की

दीक्षा के अवसर पर पूना जैन श्रीसंघ ने आचार्य ऋषभचंद्रसूरिश्वरजी से पूना जैन संघ में चैत्र मास की ओलीजी आराधना में निश्रा प्रदान करने की विनती की। राजगढ़ जैन श्रीसंघ ने 18 जनवरी को शांतिनाथ जिन मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए उत्थापन विधि में निश्रा प्रदान करने की विनती की। दसई श्रीसंघ ने आचार्य से नूतन मुनि के साथ नगर प्रवेश की विनती की। आचार्य ने कहा मेरा बदनावर नगर के शंखेश्वरपुरम् तीर्थ की प्रतिष्ठा के लिए 25 जनवरी को प्रवेश होगा। वहां 31 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा होगी। वहां से मैं महाराष्ट्र की ओर विहार करूंगा। पूना जैन संघ की चैत्र मास की शाश्वत नवपद ओलीजी आराधना में निश्रा प्रदान करूंगा। 18 जनवरी को राजगढ़ शांतिनाथ जिन मंदिर की उत्थापन विधि में भी निश्रा प्रदान करुंगा। दसई श्रीसंघ की विनती हुई है इसके लिए जैसा आगे हमारा प्रोग्राम बनेगा वैसे संघ को सूचना की जाएगी। तीर्थ के मैनेजिंग ट्रस्टी सुजानमल सेठ, ट्रस्टी मांगीलाल पावेचा, मेघराज जैन, संजय सराफ, आनंदीलाल अम्बोर सहित राजगढ़ श्रीसंघ, दसई, टांडा, झाबुआ, बदनावर, मंदसौर, लीमड़ी आदि श्रीसंघों की विशेष उपस्थिति रही।

Rajgarh News - mp news after panchmushi keshlochan acharya rishabh chandrasurishwarji gave nahar a new name to be called muni jinbhadravijay
X
Rajgarh News - mp news after panchmushi keshlochan acharya rishabh chandrasurishwarji gave nahar a new name to be called muni jinbhadravijay
Rajgarh News - mp news after panchmushi keshlochan acharya rishabh chandrasurishwarji gave nahar a new name to be called muni jinbhadravijay
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना