• Hindi News
  • Mp
  • Dhar
  • Dhar News mp news depression in prices improvement in moong due to new maize in uttar pradesh

उत्तरप्रदेश में नई मक्का आने से भावों में मंदी, मूंग में सुधार

Dhar News - नई दिल्ली| गत पांच-छ: दिनों के अंतराल यूपी में नई मक्का की आवक बढ़ जाने से फरूखाबाद, डिबाई, कन्नौज लाइन में मक्का 50...

Sep 13, 2019, 07:10 AM IST
नई दिल्ली| गत पांच-छ: दिनों के अंतराल यूपी में नई मक्का की आवक बढ़ जाने से फरूखाबाद, डिबाई, कन्नौज लाइन में मक्का 50 रुपए घट गई। गुलाबबाग, खगडिय़ा, बेगुसराय लाइन में भी 50 से 75 रुपए नीचे आ गई। वहीं राजस्थान में बरसात से 200 से 300 रुपए मूंग बढ़ गई। मोठ भी मंदे के दलदल के बाद सुधर गई है। निवाई, टोंक लाइन में सरसों नीचे के भाव से 30 से 40 रुपए तेज हो गई। जबकि सोया डीओसी, निर्यात मांग सुस्त पड़ने से 400 रुपए प्रति टन घट गई। कोच्चि, अर्नाकुलम लाइन में जायफल 10 से 15 तथा जावित्री 50 से 75 रुपए प्रति किलो टूट गए। वहीं मखाना, नवरात्रि की चालानी मांग निकलने से 20 से 30 रुपए किलो बढ़ गया।

अनाज-दाल: नई मक्का खरीफ सीजन वाली यूपी-बिहार दोनों ही राज्यों में आ गई है तथा अगले महीने एमपी में भी आ जाएगी। मक्का के ऊंचे भाव होने से किसानों ने चौतरफा बिजाई अधिक की है तथा बरसात कम होने से मक्का की फसल भी बम्पर आई है, जिसके चलते 50 रुपए घटकर खगड़िया, बेगुसराय एवं गुलाबबाग मंडी में मक्का के भाव नमी के हिसाब से 2000 से 2050 रुपए प्रति क्विंटल रह गए। राजपुरा पहुंच में बिहार की मक्का 2175 से 2180 रुपए रह गई। वहीं यूपी के सम्भल, डिबाई एवं कन्नौज लाइन की मक्का 2140 से 2150 रुपए प्रति क्विंटल पंजाब पहुंच में बेचू आने लगे हैं। स्टॉर्च मिलों की मांग पूरी तरह ठंडी पड़ गई है जिससे पितृपक्ष के अंतराल 50 से 75 रुपए का और मंदा लगने लगा है। वहीं राजस्थान में मूंग की फसल तैयार खड़ी है, लेकिन वहां पिछले तीन दिनों के अंतराल बरसात होने से 200 से 300 रुपए उछलकर मेड़ता, शेखावटी लाइन में मूंग के भाव 5300 से 5400 रुपए प्रति क्विंटल हो गए। जयपुर में बढ़िया मूंग 5850 से 5950 रुपए बिक गई। मूंग की फसल राजस्थान में इस बार बहुत बढ़िया है, लेकिन बरसात के चलते दाल मिलों की पुराने माल में लिवाली आ जाने से जयपुर मंडी में भी 200 रुपए की तेजी आ गई है।

तेल-तिलहन: कोटा, निवाई, टोंक लाइन में नीचे वाले भाव पर तेल मिलों की लिवाली आते ही 40 से 45 रुपए प्रति क्विंटल सरसों के भाव बढ़ गए। एवरेज क्वालिटी की सरसों 3725 से 3750 रुपए बिक गई थी, उसके भाव 3800 रुपए बोलने लगे। जयपुर पहुंच में 42 प्रतिशत कंडीशन वाली सरसों 4150 से बढ़कर 4190 से 4195 रुपए हो गई। कोटा लाइन में तेल सरसों 7870 से 7880 से बढ़कर 7960 से 7970 रुपए प्रति क्विंटल हो गया। जयपुर पहुंच में कोटा लाइन का सरसों तेल 8000 से बढ़कर 8060 रुपए बिक गया। हालांकि सरसों की आवक उक्त अवधि के अंतराल राजस्थान की मंडियों में लगभग दोगुनी हो गयी क्योंकि जैसे-जैसे बाजार बढ़े, स्टॉकिस्टों का माल तेजी से निकला है, लेकिन मलेशिया में सीपीओ एवं शिकागो सोया तेल वायदा मजबूत होने से सरसों में स्टॉकिस्ट व तेल मिल वाले लिवाल आ गये और आगे की तेजी एमपी में लगातार आई बरसात व बाढ़ से सोयाबीन की फसल कितनी प्रभावित हुई है, उस पर निर्भर करेगी। सोया डीओसी निर्यातकों की मांग कमजोर होने से 400 रुपए घटकर कोटा लाइन में 31800 रुपए एवं दतिया-सुजालपुर लाइन में 31000 से 31200 रुपए प्रति टन रह गई।

किराना-मेवे: अर्नाकुलम-कोच्चि लाइन में जावित्री में बिकवाली का दबाव बढ़ने से 50 से 75 रुपए गिरकर वहां लाल फ्लॉवर 1700 से 1710 रुपए प्रति किलो रह गई। हालांकि अंतरराष्ट्रीय बाजारों में पीली जावित्री के भाव 26 हजार डॉलर प्रति टन के आसपास पहुंचने से आयात पड़ता महंगा हो गया है तथापि रुपए की बाजारों में भारी तंगी होने से बाजार नीचे आ गए। इसी तरह जायफल भी उत्पादक मंडियों में 20 से 25 रुपए घटकर 490 से 500 रुपए प्रति किलो रह गया। कोलम्बो में इसके भाव 7000 से 7200 डॉलर प्रति टन क्वालिटीनुसार माल के भाव चल रहे हैं, जिससे इसमें भी और मंदा नहीं लग रहा है। हल्दी भी ग्राहकी कमजोर होने एवं पुराने मालों की बिकवाली से एक/डेढ़ रुपया किलो इरोड लाइन में और घट गई। वहीं मखाना गुलाबबाग, दरभंगा आदि उत्पादक मंडियों में नवरात्रि की चालानी मांग निकलने से 20 से 30 रुपए और बढ़कर एवरेज माल 390 से 395 रुपए एवं हरीशचन्द्रपुर मंडी में 410 से 415 रुपए का व्यापार हो गया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना