साइबर ठगों के निशाने पर अब ईपीएफओ खाते

Dhar News - तेजी से बदलते डिजिटल युग में ठगी की घटनाएं भी हाईटेक हो गई है। इन घटनाओं का शिकार अब एम्पलॉय प्रोवीडेंट फंड...

Jan 16, 2020, 07:20 AM IST
Dhar News - mp news epfo accounts now on the target of cyber thugs
तेजी से बदलते डिजिटल युग में ठगी की घटनाएं भी हाईटेक हो गई है। इन घटनाओं का शिकार अब एम्पलॉय प्रोवीडेंट फंड ऑर्गेनाइजेशन (ईपीएफओ) भी होता दिख रहा है। बीते छह महीनों में देशभर से लगभग 44 हजार शिकायतें उसके पास आई हैं। इनमें सदस्यों ने फोन पर खाते संबंधी डिटेल मांगने की जानकारी दी है। ये फोन ईपीएफओ सदस्य के रूप में आए। फोन करने वाले व्यक्ति जमा रकम पर लोन िदलवाने का वायदा करके डिटेल मांग रहे हैं। अच्छी बात तो यह है कि शिकायतकर्ताओं में अधिकतर लोग ऐसे थे जो इस ठगी को पहचानते थे। उन्होंने ईपीएफओ प्रबंधन को फर्जी पोर्टल्स के बारे में जानकारी दी। जिससे प्रबंधन के पैरों तले जमीन खिसक गई। उसने आनन-फानन में देश की सभी ब्रांचों में अलर्ट जारी कर दिया। इस संदर्भ में उसका कहना है कि सदस्यों को गुमराह करने वाली फर्जी वेबसाइट्स ठगों द्वारा चलाई जा रही हैं।

गोपनीय डाटा हैक होने का खतरा

उपभोक्ताओं से लोन दिलाने का झांसा देकर खाते की पर्सनल डिटेल मांगी जा रही है। साथ ही कहा जा रहा है कि अगर ईपीएफओ पोर्टल से मिलती-जुलती कोई लिंक मोबाइल या मेल आपके पास आएं तो उसे क्लिक न करें। इससे गोपनीय डाटा हैक हो सकता है, जिसके जरिए ठग वारदात को अंजाम दे सकते हैं। जागरूक कर्मचारियों की सजगता से ठग अब तक इसमें सेंध नहीं लगा पाए हैं।

ऐसे करते हैं सदस्यों को गुमराह

अधिकारियों का कहना है कि ठग फोन कॉल पर ग्राहकों को बताते हैं कि विभाग ने पैसा बैंक खाते में डाल दिया है। सत्यापन के लिए बैंक खाता, यूएएन, आधार नंबर और पीएफ खाते का नंबर पूछा जा रहा है। जब कि ईपीएफओ की ओर से किसी भी सदस्य को जानकारी मांगने, साझा करने या देने के का कोई नियम नहीं है। न भविष्य में ऐसा कोई नियम बनाया जा रहा है।

नकल करके बनाए फर्जी पोर्टल

अधिकारियों के अनुसार ईपीएफओ की एचटीटीएस// डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.ईपीएफइंडिया.जीओवी. इन अधिकृत बेबपोर्टल है। साइबर ठगों ने इससे मिलती जुलती कई फर्जी वेब पोर्टल बना लिए हैं। जिससे सदस्यों को गुमराह किया जा सके। विभाग का कहना है कि ऐसी कई शिकायतें पूरे देश से आई हैं कि ईपीएफओ का फर्जी प्रतिनिधि बनकर फोन से सदस्यों से व्यक्तिगत डेटा मांगे जा रहे है, जो गलत हैं।

एफआईआर दर्ज कराने का कहा है


X
Dhar News - mp news epfo accounts now on the target of cyber thugs
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना